दुनिया की इन महामारियों ने ली सबसे ज्यादा लोगों की जान

Deeksha Nandini

साल 1918-1920 के बीच आया था इसमें मृतकों की संख्या 17-100 मिलियन थी।

स्पैनिश फ़्लू (इन्फ्लुएंजा ए/एच1एन1) | Naval Patel -RE

साल 541-549 के बीच आया था, इसमें मृतकों की संख्या 15 -100 मिलियन थी।

जस्टिनियन प्लेग (टाऊन प्लेग) | Naval Patel -RE

साल 1981 से अब तक चली आ रही है इसमें मृतकों की संख्या 43 मिलियन (2024 तक ) हो चुकी है।

एचआईवी/एड्स महामारी | Naval Patel -RE

साल 1346-1353 के बीच आया था इसमें मृतकों की संख्या 25-50 मिलियन थी।

काली मौत (टाऊन प्लेग) | Naval Patel -RE

साल 2019 से अब तक चली आ रही है इसमें मरने वालो की संख्या 7-21 मिलियन (जनवरी 2024 तक ) हो चुकी है।

कोविड-19 महामारी | Naval Patel -RE

साल 1855-1960 के बीच आया था इसमें मृतकों की संख्या 12-15 मिलियन रही।

तीसरी प्लेग महामारी (टाऊन प्लेग) | Naval Patel -RE

वर्ष 1545-1548 में आया था इसमें मरने वालो की संख्या 5-15 मिलियन थी।

कोकोलिज़्टली महामारी | Naval Patel -RE

साल 165-180 के बीच आया था इसमें मृतकों की संख्या 5-10 मिलियन थी।

एंटोनिन प्लेग (चेचक या खसरा) | Naval Patel -RE

साल 1918-1922 में आयी थी इसमें मृतकों की संख्या 2-3 मिलियन रही।

टाइफस महामारी (टाइफ़स) | Naval Patel -RE

इस प्रोटीन की कमी से आता है बुढ़ापा

बुढ़ापा दूर करने का राज | Naval Patel -RE