क्या होते हैं एचआईवी और एड्स रैशेज?

Shreya N

वैसे तो सूखी त्वचा के कई कारण हो सकते हैं। ठंड में हाइड्रेशन की कमी के कारण भी त्वचा सूख सकती है। इन सब के अलावा, सूखी त्वचा की एक और वजह रोसेसिया एचआईवी हो सकती है। इसलिए अगर आपकी त्वचा मॉइस्चराइजर लगाने के बाद भी सूखी होती है, तो इसे इग्नोर ना करें। तुरंत किसी स्किन स्पेशलिस्ट से संपर्क करें। 

सूखी त्वचा | Syed Dabeer Hussain - RE

घाव या मस्से एचआईवी के आम लक्षण है। इस बीमारी के मरीजों के मुंह, नाखून और जेनिटल्स में मंसे हो सकते हैं। इसके अलावा शरीर पर घाव भी बन जाते हैं। अगर आपको भी इस तरह के कोई लक्षण दिख रहे हो, तो ये एचआईवी की ओर इशारा कर सकते हैं। इसलिए, ऐसा होने पर डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करें।

घाव और मस्से | Syed Dabeer Hussain - RE

यह बीमारी किसी संक्रमित व्यक्ति से असुरक्षित यौन संबंध बनाने पर फैलती है। जब तक सिफलिस आपके शरीर के भीतर रहता है, बीमारी का अंदाजा नहीं लगता। जब यह बिगड़ जाता है, तो पूरे शरीर पर दाने निकल आते हैं। इन दानों से खुजली नहीं होती, पर यह बीमारी आपके मस्तिष्क, हृदय और नर्वस सिस्टम को डैमेज कर सकती है।

सिफलिस रैशेज | Syed Dabeer Hussain - RE

सिफलिस के दानों के अलावा, एचआईवी के मरीजों को खुजलीदार दानें भी हो सकते हैं। मैडिकल की भाषा में इन्हें मोलस्कम कॉन्टैगिओसम कहते हैं। यह चेहरे, निचले पेट, जांघों और जेनिटल्स के पास हो सकते हैं। अगर आपको यह समस्या महसूस हो रही है, तो डॉक्टर से कंसल्ट जरूर करें।

खुजलीदार दाने | Syed Dabeer Hussain - RE

एचआईवी से शरीर की रोग प्रतिरोधक क्षमता बहुत कम हो जाती है, जिसके कारण कई तरह की बीमारियां हो सकती है। इससे कपोसी सारकोमा हो सकता है, जो एक तरह का स्किन कैंसर है। इसके चलते शरीर में लाल या बैंगनी रंग के धब्बे बनते हैं। यह धब्बे इस बात का संकेत भी हो सकते हैं, कि एचआईवी एड्स चुका है।

स्किन कैंसर | Syed Dabeer Hussain - RE

एचआईवी से होने वाली ज्यादातर समस्याओं की वजह कमजोर हुई इम्युनिटी होती है। कैंडिडा नाम का फंगस आमतौर पर इंसानों के मुंह में मौजूद होता है। हेल्दी व्यक्ति को इससे कोई समस्या नहीं होती, पर एचआईवी या एड्स से पीड़ित व्यक्ति को इसके चलते जीभ और मुंह में छाले हो जाते हैं। छाले ज्यादा बढ़ने पर, भोजन गीलने में भी समस्या आती है।

मुंह के छाले | Syed Dabeer Hussain - RE

जब घुन इंसानी शरीर में जाकर अंडे देने लगती है, तो इसे स्केबीज कहते हैं। इससे त्वचा पर खुजलीदार रैशेज होते हैं। एचआईवी से संक्रमित लोगों में इस बीमारी के होने का खतरा ज्यादा होता है। हालांकि यह बीमारी किसी संक्रमित व्यक्ति के संबंध में आने से भी हो सकती है। 

स्केबीज | Syed Dabeer Hussain - RE

बच्चों को रिस्पोंसिबल बनाने की टिप्स

बच्चों को ऐसे बनाए जिम्मेदार | Syed Dabeer Hussain - RE