पेंटागन ने बयान जारी कर बताया।

राज एक्सप्रेस & Kavita Singh Rathore

अमेरिका ने शुक्रवार को भारत के साथ रक्षा सौदे में भागीदारी बढ़ाने की इच्छा जताई है। उसने कहा की वह भारत के साथ पहले से और ज्यादा मजबूत सैन्य सम्बन्ध बनाना चाहता है।

सैन्य क्षेत्र में सहयोग चाहता है अमेरिका | Mohmmad Asim - RE

पेंटागन के प्रेस सेक्रेटरी पेट राइडर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में ये बात कही कि अमेरिका भारत के साथ रक्षा सौदे बढ़ाना चाहता है।

पेंटागन ने बयान जारी कर दी जानकारी | Mohmmad Asim - RE

अमेरिका एशिया तथा हिन्द महासागर में चीन की बढ़ती ताकत से चिंतित है। ऐसे में उसे चीन को रोकने के लिए भारत की जरुरत है, इसलिए वह भारत से रक्षा सहयोग बढ़ाना चाहता है।

एशिया में चीन की बढ़ती ताकत है वजह | Mohmmad Asim - RE

भारत के भी चीन से आये दिन विवाद होते रहते हैं। ऐसे में अमेरिका की इस पहल से चीन पर कुछ हद तक अंकुश लगाने में मदद मिलेगी।

भारत भी चीन से परेशान है | Mohmmad Asim - RE

अमेरिका द्वारा भारत से सहयोग माँगना भारत के लिए अच्छी खबर है, क्योँकि भारत अमेरिका से हथियार खरीदता है। ऐसे में सैन्य सहयोग बढ़ने से ये डील आसानी से हो जाया करेगी।

अमेरिका से हथियार खरीदता है भारत | Mohmmad Asim - RE

साल 1950 से 2020 तक भारत अमेरिका से 12.8  अरब अमेरिकी डॉलर के हथियार खरीद चुका है। ऐसे में आगे और डील होने की सम्भावना है, जिससे भारत की सैन्य शक्ति में इजाफा होगा और भारत पहले से ज्यादा मजबूत बनेगा।

करोड़ों डॉलर की होती है डील | Mohmmad Asim - RE

भारत द्वारा रूस से हथियार खरीदने से अमेरिका नाराज़ चल रहा था। उसने भारत पर कई प्रतिबन्ध लगा दिए थे। ऐसे में अब इन प्रतिबंधों के हटने की सम्भावना है।

रूस से हथियार खरीदने से नाराज़ था अमेरिका | Mohmmad Asim - RE

अमेरिका द्वारा भारत से रक्षा सहयोग बढ़ाने से पाकिस्तान की चिंता जरूर बढ़ेगी क्योंकि वह हमेशा से यह सम्बन्ध बनाने की कोशिश में लगा रहता है।

पाकिस्तान की चिंता बढ़ेगी | Mohmmad Asim - RE

मालदीव के चुनावी नतीजों से भारत को क्या नुकसान?

भारतीय सेना को मालदीव छोड़ने का आदेश | Mohammad Asim - RE