Paytm lays off employees to reduce costs
Paytm lays off employees to reduce costs Raj Express

कास्ट कटिंग के नाम पर पेटीएम से निकाले गए 1000 लोग, इस छंटनी से 10 % कर्मचारी प्रभावित

पेटीएम की पैरेंट कंपनी वन 97 कम्यूनीकेशन्स ने 1000 से ज्यादा कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। यह छंटनी कंपनी की विभिन्न इकाइयों में की गई है।

हाईलाइट्स

  • यह किसी टेक फर्म की ओर से की गई सबसे बड़ी छंटनियों में से एक।

  • कंपनी ने 1000 कर्मचारियों की छंटनी अपनी विभिन्न यूनिट्स में की है।

  • इस साल स्टार्टअप्स सेगमेंट में गईं हैं सबसे ज्यादा नौकरियां।

राज एक्सप्रेस। पेटीएम की पैरेंट कंपनी वन 97 कम्यूनीकेशन्स ने 1000 से ज्यादा कर्मचारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। एक मीडिया रिपोर्ट के अनुसार यह छंटनी कंपनी की विभिन्न इकाइयों में की गई है। कंपनी ने अपने कारोबार को एक बार फिर से रिअलाइन करना शुरू कर दिया है। इसकी वजह से कपनी अपना खर्च घटने के क्रम में कॉस्ट कटिंग कर रही है। कास्ट कटिंग के चलते ही पिछले कुछ माह में अपनी विभिन्न इकाइयों से 1000 लोगों को नौकरी से निकाला है।

RBI की सख्ती के बाद पेटीएम लिया यह निर्णय

इस छंटनी के कंपनी के 10 फीसदी कर्मचारी प्रभावित हुए है। भारतीय रिजर्व बैंक (आरबीआई) की ओर से असुरक्षित ऋणों पर नियामकीय सख्ती के बाद, पेटीएम द्वारा छोटे-आकार के कंज्यूमर लोन्स में कमी लाने और 'बाय नाउ पे लेटर' सेगमेंट से हटने के बाद ही यह कदम उठाया गया है। बताया जाता है कि पेटीएम में की गई छंटनी, इस साल किसी भारतीय टेक फर्म द्वारा की गई सबसे बड़ी छंटनियों में से एक है। इस साल सबसे ज्यादा नौकरियां स्टार्टअप्स में गई हैं।

स्टार्टअप्स ने शुरू की कारोबार की रिस्ट्रक्चरिंग

बताया जाता है कि वित्तीय संकट से जूझ रहे स्टार्टअप्स ने अपने कारोबार की रिस्ट्रक्चरिंग शुरू की है। इस रिस्ट्रक्चरिंग की वजह से ही बड़े पैमाने पर नौकरी से हटाना पड़ा है। सर्च फर्म लॉन्गहाउस कंसल्टिंग के आंकड़ों के अनुसार न्यू एज कंपनियों ने 2023 की पहली तीन तिमाहियों में 28,000 से अधिक कर्मचारियों को बर्खास्त किया है। उन्होंने 2022 में 20,000 से अधिक कर्मचारियों और 2021 में 4,080 से अधिक कर्मचारियों को नौकरी से निकाला था।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co