देशवासियों को इसी साल इस महीने तक मिल जाएंगी 5G सेवाएं

मंगलवार से शुरू हुई 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी के बाद 5G स्पेक्ट्रम को उसकी खरीददार कंपनी मिल चुकी है। वहीँ, अब यह खबर सामने आई है कि, भारत में 5G सेवाएं अक्टूबर से मिलना शुरू हो जाएंगी।
देशवासियों को इसी साल इस महीने तक मिल जाएंगी 5G सेवाएं
देशवासियों को इसी साल इस महीने तक मिल जाएंगी 5G सेवाएंSyed Dabeer Hussain - RE

5G Spectrum Services : पिछले कुछ समय से टेलीकॉम कंपनियां अपने 5G को लांच करने की तैयारियों में जुटी हैं। इस खबर के सामने आते ही भारतवासीयों का 5G सेवाओं को लेकर इंतज़ार और भी बेसब्री से बढ़ गया था। अब आखिरकार उस समय का खुलासा हो गया है जब भारतवासी 5G सेवाओंका लुफ्त उठा सकेंगे। क्योंकि, मंगलवार से शुरू हुई 5G स्पेक्ट्रम की नीलामी के बाद 5G स्पेक्ट्रम को उसकी खरीददार कंपनी मिल चुकी हैं। वहीँ, अब यह खबर सामने आई है कि, भारत में 5G सेवाएं अक्टूबर से मिलना शुरू हो जाएंगी।

5G सेवाएं अक्टूबर से मिलना होंगी शुरू :

दरअसल, एक समय हुआ करता था, जब किसी ने देश में 3G सेवायों की भी कल्पना नहीं की थी और अब वो समय आने वाला है। जब जल्द देश में 5G सेवाएं भी शुरू होने वाली है। जी हां, देश में इसी साल यानी अक्टूबर 2022 से 5G सेवाओं कि शुरुआत हो जाएंगी। सोमवार को स्पेक्ट्रम नीलामी का रिजल्ट आने के बाद मुकेश अंबानी कि टेलिकॉम कंपनी Jio ने 5G स्पेक्ट्रम खरीद लिया। इसी के साथ सरकार को यह उम्मीद जाग उठी है कि, अब आगे कि प्रोसेस तेजी से पूरी होगी। जिससे भारत को अक्टूबर से सुपरफास्ट 5G सेवाएं उपलब्ध कराइ जा सकेंगी। नीलामी के बाद 5G स्पेक्ट्रम को अपने नाम करते ही Jio कंपनी कि तरफ से साफ़ कर दिया गया था कि, 'कंपनी जल्द से जल्द 5G सेवाएं शुरू करने के लिए तैयार है।'

केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव का बयान :

नीलामी कि प्रक्रिया खत्म होने के बाद केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि, 'ऑक्शन प्रक्रिया अगले कुछ दिनों में पूरी कर ली जाएगी। 10 अगस्त तक मंजूरी से जुड़ी सभी औपचारिकताओं और स्पेक्ट्रम का आवंटन पूरा कर लिया जाएगा। ऐसे में संभव है कि, देश में अक्टूबर तक 5 जी सेवाएं लॉन्च हो जाएं। भारत में सस्ती सेवाओं का रुझान आगे भी जारी रहेगा। भारत के दूरसंचार उद्योग में अगले दो वर्षों में दो-तीन लाख करोड़ रुपये का निवेश किए जाने की संभावना है और सरकार की तरफ से उठाए गए कदमों ने सेक्टर की अनिश्चितता और जोखिम को दूर किया है।

4G और 5G में अंतर :

यदि आप काफी सालों से इंटरनेट का इस्तेमाल कर रहे होंगे तो अपने 3G और 4G नेटवर्क में अंतर साफ देखा होगा। चाहे वो स्पीड का हो या कॉल नेटवर्क का हो। ठीक उसी तरह 4G और 5G में भी काफी अंतर है। क्योंकि, 5G नेटवर्क में इंटरनेट की स्पीड 4G की तुलना में कई गुना ज्यादा तेज होने वाली है। यहीं आपको सबसे बड़ा अंतर नजर आने वाला है, क्योंकि, 4G में 100 मेगाबिट्स प्रति सेकंड (एमबीपीएस/Mbps) की स्पीड मिलती है,जबकि, 5G में यह 10 मेगाबिट्स प्रति सेकंड (जीपीएस/GPS) की मिलेगी। अधिक सरल भाषा में समझे तो, 5G की स्पीड 4G टेक्नोलॉजी की तुलना में सौ गुना तेज होगी और यह अंतर आपको डाउनलोडिंग स्पीड से साफ समझ आएगा ।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co