PM-Mitra Scheme : देश में तैयार होंगे 7 टेक्सटाइल पार्क, लाखों को मिलेगा रोजगार
देश में तैयार होंगे 7 टेक्सटाइल पार्कSocial Media

PM-Mitra Scheme : देश में तैयार होंगे 7 टेक्सटाइल पार्क, लाखों को मिलेगा रोजगार

बुधवार को प्रधानमंत्री मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक के दौरान कई बड़े फैसले लिए गए। इन फैसलों के तहत देश में 7 टेक्सटाइल पार्क तैयार किए जाने की बात सामने आई है।

राज एक्सप्रेस। देशभर में कोरोना के मामले लगातार बढ़ रहे हैं, इसके बावजूद भी देश में कोई काम नहीं रुक रहा है सरकार अपने कामों में जुटी है। हर दिन कोई न कोई नई योजना लेकर आरही है। इसी कड़ी में बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में कैबिनेट की बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक के दौरान कई बड़े फैसले लिए गए। इस कैबिनेट की बैठक में हुई चर्चा और फैसलों की जानकारी केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने दी।

केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने दी जानकारी :

दरअसल, बुधवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में हुई कैबिनेट की बैठक कई मामलों पर चर्चा की गई। इसी दौरान टेक्सटाइल सेक्टर से जुड़े मुद्दे पर भी बात की गई और एक बड़ा फैसला लिया गया। इस फैसले की जानकारी देते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने बताया कि, 'बैठक में PM-मित्र योजना को मंजूरी दे दी गई है। इस योजना पर करीब 4,445 करोड़ रुपये खर्च होंगे।' जानकारी के लिए बता दें, PM-मित्र योजना (Mega Integrated Textile Region and Apparel) के तहत देश में 7 टेक्सटाइल पार्क (MITRA parks) तैयार किए जाएँगे।

देश में तैयार होंगे टेक्सटाइल पार्क :

बताते चलें, देशभर में कुल देश में 7 टेक्सटाइल पार्क निर्मित किए जाएँगे। इन टेक्सटाइल पार्कों के माध्यम से प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से लगभग 21 लाख लोगों को रोजगार मिलेगा। खबरों की मानें तो, जिन राज्यों की सरकार ने मित्र-पार्क विकसित करने में रूचि दिखाई है। उन राज्य के नामों में तमिलनाडु, पंजाब, ओडिशा, आंध्र प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, असम, कर्नाटक, मध्य प्रदेश और तेलंगाना का नाम शामिल है। इस मामले में जानकारी देते हुए पीयूष गोयल ने बताया है कि,

'अर्थव्यस्था के क्षेत्र में मजबूत पकड़ के लिए 5-एफ को कैप्चर करने की बात कही जा रही थी। 5-एफ यानी फार्म से फाइबर, फाइबर से फैक्ट्री, फैक्ट्री से फैशन और फैशन से फॉरेन। ये सभी कड़ियां मिलकर वैल्यू चेन को मजबूत करती हैं, लेकिन अभी ये सब अलग-अलग हैं। कपास गुजरात और महाराष्ट्र में पैदा होता है, वहां से तमिलनाडु जाता है, जहां स्पिनिंग होती है। प्रोसेसिंग के लिए राजस्थान और गुजरात जाता है। वस्त्र दिल्ली-एनसीआर, बेंगलुरु, कोलकाता में बनते हैं और निर्यात के लिए मुंबई और कांडला जाना पड़ता है. ये सारा कुछ अब इंटीग्रेटेड तरीके से हो सकेगा।'

पीयूष गोयल, केंद्रीय मंत्री

टीग्रेटेड टेक्सटाइल वैल्यू चेन बनाने का फैसला :

मंत्री पीयूष गोयल ने वैल्यू चेन बनाने को लेकर जानकारी देते हुए बताया है कि, 'PM मित्र योजना के तहत एक इंटीग्रेटेड टेक्सटाइल वैल्यू चेन बनाने का फैसला किया है। इसके लिए अगले 5 वर्षों में 4445 करोड़ रुपये खर्च किए जाएंगे, इसके तहत देशभर में 7 टेक्सटाइल पार्क बनाए जाएंगे। सरकार के इस कदम से 7 लाख लोगों को प्रत्यक्ष और 14 लाख लोगों को अप्रत्यक्ष रूप रोजगार मिलेगा। टेक्सटाइल पार्कों के लिए राज्यों से इसके लिए बात हो रही है। जो राज्य सस्ती जमीन, पानी देगा और आसानी से श्रम मिलेगा वहां पर ये पार्क लगाए जाएंगे। साथ ही यह भी देखा जाएगा कि वहां टेक्सटाइल की मांग होनी चाहिए।'

FCFS के आधार पर मिलेगी मदद :

बताते चलें, 7 पार्क तैयार करने में लगने वाला अनुमानित खर्च 1700 करोड़ रुपये होगा। जो यूनिट शुरुआत में आकर बड़ा निवेश करेंगी, उन्हें पहले आओ पहले पाओ (FCFS) के आधार पर मदद भी मुहैया कराई जाएगी। इसके अलावा और भी जानकारी देते हुए पीयूष गोयल ने कहा, 'एक यूनिट को 3 साल में 30 करोड़ रुपये तक की मदद सरकार की तरफ से दी जा सकती है। टेक्सटाइल पार्क को अलग-अलग राज्यों में स्थित ग्रीनफील्ड या ब्राउनफील्ड जगहों पर बनाया जाएगा। सभी ग्रीन फील्ड पार्क को विकसित करने के लिए 500 करोड़ रुपये की मदद की जाएगी। जबकि ब्राउनफील्ड पार्क के विकास के लिए 200 करोड़ रुपये की राशि आवंटित की जाएगी।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.