Raj Express
www.rajexpress.co
Swiss Bank Accounts Information
Swiss Bank Accounts Information|Social Media
व्यापार

विदेशों में जमा भारतीयों के कालेधन पर अब होगी कार्यवाही

स्विट्जरलैंड की सरकार ने भारत सरकार को कई खातों से जुड़ी जानकारी उपलब्ध कराई हैं, जिसकी मदद से भारत सरकार को विदेश में जमा काले धन को सामने लाने में काफी सहायता मिलेगी।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

स्विट्जरलैंड सरकार ने भारत को दी 31 लाख खातों की जानकारी

कुछ खातों में हो सकता है भारतियों का काला धन

स्विस बैंक में पैसा रखने वाले देशों में भारत 74वें नंबर पर

जल्द होगी जांच पड़ताल

राज एक्सप्रेस। स्विट्जरलैंड की सरकार द्वारा मिली जानकारी (Swiss Bank Accounts Information) से मोदी सरकार ने बड़ी कामयाबी हासिल कर ली है, यह कामयाबी है, विदेशों में जमा भारतियों के कालेधन से जुड़ी हुई है। जी हां, भारत सरकार ने स्विट्जरलैंड सरकार से स्विस बैंक मे कुल भारतियों के खातों की जानकारी मांगी थी, जब स्विट्जरलैंड सरकार ने स्विस बैंक में भारतियों के जमा धन की जानकारी भारत सरकार को सौंपी तब खातों से जुड़ी बातें सामने आई हैं।

31 लाख खातों की जानकारी आई सामने :

प्राप्त जानकारी के अनुसार, स्विस बैंक ने भारत को कुल 75 देशों के 3.1 मिलियन (31 लाख) खातों की जानकारी उपलब्ध कराई है, जिससे पता चला कि, स्विस बैंक में खुले सभी खाते गैरकानूनी नहीं हैं, परन्तु कई खाते गैरकानूनी होने की आशंका जताई है, अब सरकार इन सभी खातों की जांच करेगी, जिससे खाता धारकों का नाम सहित पूरी जानकारी सामने आएगी, इसके बाद इन खातों पर कार्यवाही की जाएगी। स्विस बैंक सितंबर 2020 तक भारत को कई अन्य खातों की भी जानकारी उपलब्ध कराएगा।

होगा मील का पत्थर साबित :

स्विस बैंक से प्राप्त हुई जानकारी की जांच पड़ताल होने के बाद यदि काला धन सामने आता है तो, यह भारत के लिए विदेशों में जमा काले धन के खिलाफ लड़ाई में एक महत्वपूर्ण मील का पत्थर साबित होगा। इतना ही नहीं यह पहली बार है कि, जब भारत को स्विट्जरलैंड के Automatic Exchange of Information (AEOI) सिस्टम से वर्तमान में सक्रिय खातों की जानकारी तो मिली ही है साथ ही उन खातों की भी जानकारी प्राप्त हुई है जो, 2018 के दौरान बंद कर दिए गए थे।

नहीं मिल सकी जानकारी :

हालांकि, FTA के अधिकारियों ने स्विस बैंकों के भारतीय ग्राहकों के खातों से जुड़ी वित्तीय संपत्तियों की मात्रा के बारे में विशेष जानकारी देने से इनकार कर दिया है, क्योंकि यह उनकी गोपनीयता खंडित करता है। FTA द्वारा भागीदार राज्यों के 3.1 मिलियन वित्तीय खातों की जानकारी भेजी गई है और उनसे लगभग 2.4 मिलियन की जानकारी प्राप्त की हैं। इन खातों में प्राप्त जानकारी में पहचान, खाता और वित्तीय जानकारी और नाम, पता, निवास की स्थिति और कर पहचान संख्या, साथ ही वित्तीय संस्थान, खाता शेष और पूंजी आय से संबंधित जानकारी शामिल हैं।

73वें स्थान पर है भारत :

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, स्विस बैंक में धन जमा करने वाले देशों की लिस्ट में भारत दुनियाभर में 74वें स्थान पर है, जो पिछले साल 73वें स्थान पर था और भारत 73वें स्थान पर सीधे 15वें स्थान से पंहुचा था।