एक डील के चलते अडानी इंटरप्राइजेज लिमिटेड के निवेशकों को हुआ काफी फायदा
एक डील के चलते अडानी इंटरप्राइजेज लिमिटेड के निवेशकों को हुआ काफी फायदाSyed Dabeer Hussain - RE

एक डील के चलते अडानी इंटरप्राइजेज लिमिटेड के निवेशकों को हुआ काफी फायदा

अडानी इंटरप्राइजेज लिमिटेड (AEL) से जुड़ी एक ऐसी खबर सामने आई है। जिससे कंपनी के निवेशकों को काफी फायदा हुआ है। इस बारे में अडानी इंटरप्राइजेज ने खुद जानकारी दी है।

राज एक्सप्रेस। गौतम अडानी पिछले साल से ही काफी चर्चा में रहे है। क्योंकि, उन्होंने पिछले साल के दौरान कई अधिग्रहण किए थे। हालांकि, बीच के कुछ दिन उनके मुश्किल के भी रहे उस दौरान नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड (NSDL) द्वारा उनके 43,500 करोड़ के खातों को फ्रीज कर दिया था। वहीं, अब अडानी इंटरप्राइजेज लिमिटेड (AEL) से जुड़ी एक ऐसी खबर सामने आई है। जिससे कंपनी के निवेशकों को काफी फायदा हुआ है। इस बारे में अडानी इंटरप्राइजेज ने खुद जानकारी दी है।

अडानी इंटरप्राइजेज ने दी जानकारी :

दरअसल, अडानी इंटरप्राइजेज लिमिटेड (AEL) ग्रुप की एक कंपनी के साथ डील हुई है। इस डील के चलते ही कंपनी के निवेशकों को काफी फायदा हुआ है। इस बारे में जानकारी देते हुए सोमवार को अडानी इंटरप्राइजेज ने बताया है कि, 'कंपनी की पूर्ण स्वामित्व वाली अडानी रोड ट्रांसपोर्ट लिमिटेड (ARTL) जल्द महाराष्ट्र बॉर्डर चेक पोस्ट नेटवर्क लिमिटेड में 49% हिस्सेदारी का अधिग्रहण करेगी।' इस खबर के सामने आते ही मंगलवार को कंपनी के शेयर भाव में उछाल देखा गया। जबकि, कंपनी के मार्केट कैपिटल की बात करें तो, कंपनी के मार्केट कैपिटल का स्तर एक लाख 60 हजार करोड़ रुपए पर था। कारोबार के अंत में स्टॉक का भाव 1441.35 रुपए पर था। मार्केट कैपिटल भी एक लाख 57 हजार करोड़ रुपए पर रह गया। कारोबार के दौरान अडानी इंटरप्राइजेज के शेयर भाव 1450 रुपए के स्तर को पार कर चुका था।

कितने में होगी डील :

जानकारी के लिए बता दें कि, महाराष्ट्र बॉर्डर चेक पोस्ट नेटवर्क लिमिटेड (MBCPNL) सद्भाव इंफ्रास्ट्रक्चर प्रोजेक्ट लिमिटेड (SIPL) की सहायक कंपनी है। कंपनी द्वारा जारी किए गए बयान में कहा गया है कि, 'दोनों कंपनियों की यह डील (अधिग्रहण) 1,680 करोड़ रुपये के उद्यम मूल्य पर होगी। उद्यम मूल्य (EV) कंपनी के कुल मूल्य का एक माप है जिसका अक्सर इक्विटी मार्केट पूंजीकरण के अधिक व्यापक विकल्प के रूप में उपयोग किया जाता है। EV अपनी गणना में ना केवल कंपनी के बाजार पूंजीकरण को शामिल करता है, बल्कि कंपनी के बही खाते में दर्ज अल्पकालिक और दीर्घकालिक ऋण के साथ-साथ हर तरह की नकदी को भी शामिल करता है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co