Raj Express
www.rajexpress.co
Aditya Birla Group Losses
Aditya Birla Group Losses|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

आदित्य बिड़ला ग्रुप को उठाना पड़ा मोटी रकम का नुकसान

हाल ही में आदित्य बिड़ला ग्रुप ने ग्रुप की हिस्सेदारी वाली कंपनियों को हुए घाटे की लिस्ट जारी की, जिससे पता चला, बिड़ला ग्रुप को एक मोटी रकम का नुकसान झेलना पड़ा है। यहां जाने कंपनी को कितना घाटा हुआ।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • आदित्य बिड़ला ग्रुप को उठाना पड़ा नुकसान

  • पिछले 2 साल में नेटवर्थ में 21,528 करोड़ रुपए

  • गिरावट का सीधा असर वोडाफोन-आइडिया पर

  • वर्तमान में नेटवर्थ 43000 करोड़ रूपये

  • भारती एयरटेल को भी हुआ नुकसान

राज एक्सप्रेस। आदित्य बिड़ला ग्रुप द्वारा हाल ही में पेमेंट बैंक बन्द करने की खबर आई थी और अब आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन कुमार मंगलम बिड़ला को हुए बड़े घाटे की खबर सामने आई है। खबरों के अनुसार, पिछले 2 साल में उनकी नेटवर्थ में लगभग 21,528 करोड़ रुपए (3 अरब डॉलर) की गिरावट दर्ज की गई है।

ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स :

अगर ब्लूमबर्ग बिलेनियर इंडेक्स के आंकड़ों पर नजर डाली जाये तो, पिछले 2 साल में आदित्य बिड़ला ग्रुप के चेयरमैन 52 वर्षीय कुमार मंगलम बिड़ला की नेटवर्थ लगभग 64,584 करोड़ रुपए (9.1 अरब डॉलर) थी, जो अब मात्र 43,056 करोड़ रुपए (6 अरब डॉलर) रह गई है। आदित्य बिड़ला ग्रुप की नेटवर्थ में आई कमी कंपनियों के शेयरों में आई गिरावट के वजह से हुई है। वहीं इस गिरावट का सीधा असर ग्रुप की कंपनी वोडाफोन-आइडिया पर भी पड़ा है।

आदित्य बिड़ला ग्रुप के शेयर :

वोडाफोन-आइडिया के शेयर दिसंबर 2017 से अब तक 90% गिरे और कंपनी को सितंबर तिमाही में 50921 करोड़ रूपये का घाटा उठाना पड़ा था। वहीं इसी समय अवधि में आदित्य बिड़ला ग्रुप की दूसरी कंपनियों के शेयर में 33% तक की गिरावट आई है। वर्तमान में कुमार मंगलम बिड़ला की मौजूदा नेटवर्थ 43000 करोड़ रूपये है जबकि यही नेटवर्थ 2 साल पहले करीब 64500 करोड़ रूपये थी। जानकारी दें कि, नुकसान के चलते ही वोडाफोन और आइडिया सेल्युलर कंपनियों ने मर्ज होने का फैसला लिया था।

कंपनी ने बताया :

वोडाफोन और आइडिया कंपनियों ने आंकड़ों पर ध्यान केंद्रित करते हुए बतया कि, जुलाई-सितंबर में कंपनी को 50921 करोड़ रुपए का घाटा झेलना पड़ा था। जबकि देखा जाये तो, यह किसी भी भारतीय कंपनी के लिए एक बहुत बड़ा नुकसान है। खबरों के अनुसार, आदित्य बिड़ला ग्रुप को मात्र टेलिकॉम सेक्टर से ही घाटा नहीं हुआ है बल्कि देश की GDP ग्रोथ का घटना और अमेरिका-चीन के बीच ट्रेड वॉर भी इस नुकसान के जिम्मेदार हैं।

हिस्सेदारी वाली कंपनियों का नुकसान :

  • आदित्य बिड़ला ग्रुप की हिस्सेदारी वाली एल्युमिनियम कंपनी हिंडाल्को इंडस्ट्रीज जुलाई-सितंबर तिमाही में 33% का घाटा हुआ, साथ ही कंपनी के शेयर दिसंबर 2017 में प्राइस के मुकाबले अब 31% घटे हैं।

  • इसी ग्रुप की हिस्सेदारी वाली कंपनी ग्रासिम इंडस्ट्रीज के शेयर में 33% गिरावट दर्ज की गई।

  • ग्रुप की हिस्सेदारी वाली सबसे बड़ी कंपनी अल्ट्राटेक सीमेंट को भी घाटा हुआ।

  • टेलिकॉम कंपनियों को यह घाटा एडजस्टेड ग्रॉस रेवेन्यू के मामले पर कोर्ट के फैसले के कारण हुआ है।

  • ऐसे समय में ही वोडाफोन ने जो बयान दिया है, वो चौंका देने वाला है, कंपनी ने कहा,

"अब कारोबार करना बहुत मुश्किल लग रहा है।"

वोडाफोन

घाटे का रिकॉर्ड :

आदित्य बिड़ला ग्रुप के साथ ही अन्य वोडाफोन-आइडिया और भारती एयरटेल जैसी टेलिकॉम कंपनियों को भी नुकसान हुआ है उन्होंने अपने हुए घाटे का रिकॉर्ड पेश किया। इसलिए अब सरकार ने टेलीकॉम कंपनियों को राहत देने के मकसद से स्पेक्ट्रम की किश्त के भुगतान के लिए 2 साल का समय को बढ़ाने का फैसला किया है। आदित्य बिड़ला ग्रुप ने हाल ही में अपने आइडिया पेमेंट्स बैंक से जुड़ा बड़ा फैसला लिया था जानने के लिए - क्लिक करे

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।