गुजरात के बाद 40 हजार करोड़ रुपए के निवेश से असम में सेमीकंडक्टर प्लांट लगाएगा टाटा समूह

टाटा ने असम में एक सेमीकंडक्टर प्रोसेसिंग प्लांट लगाने के लिए असम सरकार से आवेदन किया है। इस प्लांट पर टाटा समूह की 40 हजार करोड़ रुपये निवेश करने की योजना है।
Himant Biswa Sarama
Himant Biswa SaramaRaj Express

हाइलाइट्स

  • असम में सेमीकंडक्टर प्लांट लगाने के लिए टाटा समूह ने किया आवेदन।

  • इस प्रोजेक्स पर 40 हजार करोड़ रुपये का निवेश करने की है योजना।

  • गुजरात के साणंद में भी सेमीकंडक्टर प्लांट स्थापित कर रहा है समूह।

राज एक्सप्रेस। टाटा समूह ने असम में एक सेमीकंडक्टर प्रोसेसिंग प्लांट लगाने के लिए असम सरकार से आवेदन किया है। इस प्लांट पर टाटा समूह की 40 हजार करोड़ रुपये निवेश करने की योजना है। टाटा समूह ने अपना प्लांट लगाने के लिए असम सरकार के समक्ष आवेदन कर दिया है। असम के मुख्यमंत्री हिमंत बिस्वा सरमा ने एक्स पर की गई एक पोस्ट में यह जानकारी दी है। उन्होंने कहा कि राज्य में स्थापित होने वाला टाटा समूह का यह सेमीकंडक्टर प्लांट प्रदेश के लिए गेम-चेंजर साबित होगा।

हिमंत बिस्व सरमा ने एक्स पोस्ट में दी यह जानकारी

असम के मुख्यमंत्री ने हिमंत बिस्वा सरमा ने एक्स पर लिखा टाटा समूह ने असम में 40 हजार करोड़ रुपये के निवेश के साथ एक सेमीकंडक्टर प्रोसेसिंग प्लांट लगाने के लिए राज्य सरकार के समक्ष आवेदन किया है। यह गेम-चेंजर साबित होगा। हमारे राज्य के आर्थिक परिदृश्य को बदलने में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के निरंतर मार्गदर्शन के लिए मैं उनका आभार प्रकट करता हूं।

माइक्रोन ने साणंद इकाई के लिए टाटा से किया अनुबंध

अमेरिकी कंपनी माइक्रोन टेक्नोलॉजी ने कुछ माह पहले ही साणंद में नई असेंबली और टेस्टिंग सुविधा के निर्माण के लिए टाटा प्रोजेक्ट्स को अनुबंध दिया है। माइक्रोन टेक्नोलॉजी ने करीब 22,500 करोड़ रुपये की लागत से बनने वाले चिप एसेंबली और परीक्षण निर्माण प्लांट की आधारशिला रखी है। माइक्रोन दो चरणों में प्लांट बनाने में 82.5 करोड़ डॉलर तक का निवेश करेगी। बाकी निवेश केंद्र और राज्य सरकार मिलकर करेंगी।

देश में सेमीकंडक्टर उत्पादन बढ़ाना चाहती है सरकार

केंद्र सरकार देश को सेमीकंडक्टर हब के रूप में विकसित करने का प्रयास कर रही है। हाल ही में केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा था भारत ने सेमीकंडक्टर हब बनने की यात्रा शुरू कर दी है। उन्होंने कहा कि भारत में सेमीकंडक्टर की मांग लगातार बढ़ रही है। इस मांग को पूरा करने के लिए जरूरी है कि इसका घरेलू स्तर पर उत्पादन किया जाए। यही वजह है सरकार सेमीकंडक्टर निर्माता कंपनियों को बड़े पैमाने पर आकर्षित करने का प्रयास कर रहे हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co