इस तारीख से देशभर में पूरी क्षमता के साथ शुरू होगी हवाई यात्रा
DGCA : जुलाई में बढ़ी हवाई यात्रा करने वाले घरेलू यात्रियों की संख्याSocial Media

इस तारीख से देशभर में पूरी क्षमता के साथ शुरू होगी हवाई यात्रा

देश में कोरोना की एंट्री के बाद से अब तक पूरी क्षमता के साथ हवाई यात्रा शुरू नहीं की गईं। हालांकि, अब जल्द पूरी क्षमता के साथ हवाई यात्रा शुरू की जाएगी। जिसको लेकर नागर विमानन मंत्रालय ने जानकारी दी।

राज एक्सप्रेस। पिछले साल कोरोना वायरस के कारण भारत सहित कई देशों में लॉकडाउन लागू किया था जिसके चलते सभी हवाई यात्राएं रद्द कर दी गई थीं। इस दौरान सभी एयरलाइन्स को काफी नुकसान उठाना पड़ा। इसके अलावा कई बार उड़ानें रद्द भी की गईं, कभी प्लेन में कोरोना पेसेंट के मिलने के चलते तो कभी देश में बढ़े कोरोना के आंकड़ों के कारण। इन सब के बावजूद देश में अब तक पूरी क्षमता के साथ हवाई यात्रा शुरू नहीं की गई हैं। हालांकि, अब जल्द पूरी क्षमता के साथ हवाई यात्रा शुरू कर दी जाएंगी। जिसको लेकर नागर विमानन मंत्रालय ने जानकारी दी है।

विमानन मंत्रालय का फैसला :

दरअसल, देश में भले ही कोरोना का आंकड़ा बहुत कम हो गया हो, लेकिन खतरा अभी टाला नहीं है। इसलिए कई ऐसी चीजों को अब भी रोक कर रखा गया है। जिससे कोरोना का खतरा न बढ़े, लेकिन अब देश में लगभग सभी गतिविधियां शुरू हो चुकी हैं। हर कोई बेखौफ होकर घूम रहा है। इतना ही नहीं अब तो सभी सेक्टर्स में एक बार फिर से काम होना भी शुरू हो चुका है। इसी कड़ी में अब नागर विमानन मंत्रालय ने बड़ा फैसला लेते हुए 18 अक्टूबर से अनुसूचित घरेलू हवाई संचालन को पूरी क्षमता के साथ बहाल करने की अनुमति दे दी है। यानि अब देश के अंदर उड़ान भरने वाली सभी घरेलू उड़ानें बिना किसी क्षमता प्रतिबंध के उड़ानें भरेंगी।

सरकार ने क्यों लिया ये फैसला :

बताते चलें, अब तक देशभर में यह उड़ानें 50% क्षमता के साथ चलाई जा रही थीं, लेकिन अब देश में कोरोना के मामलों में काफी गिरावट देखने को मिली है। इसको मद्देनजर रखते हुए सरकार ने ये फैसला लिया है। इसके अलावा नागर विमानन मंत्रालय ने उड़ानों पर कैपेसिटी कैप्स हटाने का ऐलान करते हुए बताया है कि, 'अब पूरी क्षमता के साथ विमान उड़ेंगे, जो 18 अक्टूबर से प्रभावी हो जाएगा।'

गौरतलब है कि, पिछले साल देशभर में कोरोना की एंट्री के बाद से 23 मार्च, 2020 को प्रधानमंत्री द्वारा लागू किए गए लॉकडाउन से शेड्यूल्ड इंटरनेशनल फ्लाइट्स पर रोक लगा दी गई थी, लेकिन जरूरतों को देखते हुए मई 2020 से कुछ विशेष इंटरनेशनल फ्लाइट्स वंदे भारत मिशन के तहत शुरू कर दी गईं। इन फ्लाइट्स के माध्यम से विदेशों में फंसे यात्रियों को भारत वापस लाया गया। इनके अलावा 27 देशों के साथ एयर बबल समझौता किया गया। हालांकि, इस दौरान इंटरनेशनल फ्लाइट्स बंद रहने के चलते भारतीय विमानन उद्योग को काफी नुकसान उठाना पड़ा। जिससे उबरने की कोशिश DGCA लगातार कर रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.