क्यों Airtel ने मिलाया Qualcomm से हाथ ?
Airtel ने मिलाया Qualcomm से हाथSyed Dabeer Hussain - RE

क्यों Airtel ने मिलाया Qualcomm से हाथ ?

भारत के यूजर्स अब तेजी से 5G नेटवर्क का इंतज़ार कर रहे हैं। इसी बीच हल ही में खबर सामने आई थी कि, Airtel कंपनी ने स्मार्टफोन चिप मेकर कंपनी क्वालकॉम (Qualcomm) से हाथ मिला लिया है।

राज एक्सप्रेस। भारत के यूजर्स अब तेजी से 5G नेटवर्क का इंतज़ार कर रहे हैं। इसी बीच हल ही में खबर सामने आई थी कि, Airtel कंपनी ने भारत में अपने 5G Ready नेटवर्क की घोषणा की थी। इतना ही नहीं कंपनी ने हैदराबाद राज्य में कमर्शियली Airtel 5G Ready नेटवर्क का ट्रायल भी किया था। वहीं, अब यह खबर है कि, देश में 5G टेक्नोलॉजी लागू करने के लिए Airtel कंपनी ने स्मार्टफोन चिप मेकर कंपनी क्वालकॉम (Qualcomm) से हाथ मिला लिया है।

Qualcomm से की साझेदारी :

दरअसल, देश की दूसरी सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी Airtel ने अपनी 5G सर्विस लांच करने के लिए स्मार्टफोन चिप मेकर कंपनी Qualcomm से साझेदारी कर ली है। दोनों कंपनियों के बीच साझेदारी होने के बाद Airtel कंपनी Qualcomm के 5G RAN प्लेटफॉर्म्स का इस्तेमाल करके वर्चुअलाइज्ड और ओपेन RAN-बेस्ड 5G नेटवर्क्स यूजर्स तक पहुंचाने का काम करेगी। बता दें, Airtel ने हाल ही में भारत में 5G नेटवर्क की टेस्टिंग की थी और यह भारत की पहली टेलिकॉम ऑपरेटर कंपनी थी जिसने यह टेस्टिंग की हो। कंपनी ने यह 5G टेस्टिंग हैदराबाद में की थी।

Airtel ने बताया :

Airtel ने बताया है कि, Qualcomm के साथ साझेदारी करने के बाद दोनों कंपनियां 5G के मल्टिपल यूज केसेज पर काम करेंगी। इस काम के तहत घरों और बिजनेसेज को बेहतर ब्रॉडबैंक कनेक्टिविटी देने के लिए 5G फिक्स्ड वायरलेस ऐक्सेस (FWA) तैयार करना भी शामिल है। Qualcomm और Airtel दोनों कंपनियां एक साथ ऐसी 'कॉस्ट-इफेक्टिव' ब्रॉडबैंड सेवाओं पर काम करेंगी, जिनकी मदद से भारत के दूरदराज के इलाकों में भी इंटरनेट की सुविधा पहुंचाई जा सके। ऐसा होने के बाद Airtel कंपनी IoT प्रोडक्ट्स के लिए 5G कनेक्टिविटी लाने पर काम करेगी।

यूजर्स को मिलेगा वायरलेस इंटरनेट :

कंपनी ने यह भी बताया है कि, कंपनी के 5G सॉल्यूशंस के द्वारा मल्टी-गीगाबाइट इंटरनेट स्पीड्स यूजर्स को वायरलेस तरीके से दी जा सकेगी। एंड-यूजर्स के लिए इसका मतलब अल्ट्रा-फास्ट और लो-लेटेंट नेटवर्क्स के साथ बड़ी फाइल्स के लिए फास्ट डाउनलोड स्पीड और 4K कंटेंट स्ट्रीमिंग है। यूजर्स को 5G के साथ 4G के मुकाबले 10 गुना तक तेज इंटरनेट स्पीड दी जाएगी। कंपनी को 5G के साथ वर्चुअल रिएलिटी और स्मार्ट होम्स जैसी कैटेगरी में नेटवर्क्स बढ़ाने की उम्मीद है।

5G बैंड्स का सपोर्ट :

बताते चलें, Qualcomm के 5G FWA प्लेटफॉर्म के साथ ढेरों 5G स्पेक्ट्रम बैंड्स और मोड्स का सपोर्ट मिल जाएगा, जिनमें एक्सटेंडेड-रेंज हाई पावर सब-6 से एक्सटेंडेड-रेंज मिमीवेव तक शामिल हैं। इस मामले में Airtel कंपनी ने जानकारी दी कि, "क्वालकॉम 5G RAN प्लेटफॉर्म्स का पोर्टफोलियो बेहतरीन टेक्नोलॉजी का फायदा वर्चुअलाइज्ड और फ्लेक्सिबल 5G ढांचा तैयार करने में मिलेगा। एयरटेल के नेटवर्क वेंडर्स और डिवाइस पार्टनर साथ मिलकर 5G ऐप्लिकेशंस का बेहतर डिवेलपमेंट कर पाएंगे और अपनी सेवाओं का पूरा इस्तेमाल करेंगे।"

भारत में कब तक आएगी 5G टेक्नोलॉजी ?

Airtel के अलावा हाल ही में खबर आई थी कि, Jio ने अब अपने 5G के लांच की पूरी तैयारी कर ली है और अब अंतरराष्ट्रीय बाजार में स्वदेशी '5G तकनीक' उतारने जा रही है। खबरों की मानें तो, सरकार की ओर से जल्द 5G ट्रायल शुरू करने की अनुमति मिल सकती है।

गौरतलब है कि, Airtel ने 1800MHz बैंड स्पेक्ट्रम और NSA (नॉन-स्टैंड अलोन) नेटवर्क टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल किया। कंपनी ने बताया है कि, एक ही स्पेक्ट्रम ब्लॉक पर हाई-स्पीड इंटरनेट देने के लिए 5G और 4G नेटवर्क्स के डायनमिक स्पेक्ट्रम का इस्तेमाल किया गया।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co