Stephanie Trautman
Stephanie Trautman Raj Express

डेलापोर्टे से अनबन के बाद अमेरिका स्थित विप्रो की मुख्य विकास अधिकारी ट्रौटमैन ने दिया इस्तीफा

विप्रो की सीईओ थिएरी डेलापोर्टे द्वारा किए जाने वाले पुनर्गठन की वजह से विप्रो की अमेरिका स्थित मुख्य विकास अधिकारी स्टेफ़नी ट्रौटमैन ने इस्तीफा दे दिया है।

हाईलाइट्स

  • सीईओ डेलापोर्टे से असहमत होकर इस साल 10 वरिष्ठ अधिकारी दे चुके हैं इस्तीफा

  • उन्होंने 3 साल पहले ज्वाइन की थी नौकरी, 31 जनवरी, 2024 तक काम जारी रखेंगी।

  • विप्रो के मुख्य विकास कार्यालय में चल रहे बदलाव का हिस्सा है ट्रॉटमैन का इस्तीफा।

राज एक्सप्रेस । विप्रो की मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) थिएरी डेलापोर्टे द्वारा किए जाने वाले पुनर्गठन की वजह से विप्रो की अमेरिका स्थित मुख्य विकास अधिकारी स्टेफ़नी ट्रौटमैन ने इस्तीफा दे दिया है। वह इस साल विप्रो छोड़ने वाली दसवीं वरिष्ठ अधिकारी हैं। शुक्रवार को एक्सचेंज फाइलिंग में पेश किए गए त्यागपत्र में बताया गया है कि विप्रो की अमेरिका स्थित मुख्य विकास अधिकारी स्टेफ़नी ट्रौटमैन ने कंपनी के बाहर व्यक्तिगत और व्यावसायिक लक्ष्यों को हासिल करने के लिए कंपनी से जुड़कर तीन साल नौकरी करने के बाद इस्तीफा दे दिया है। वह कंपनी में 31 जनवरी, 2024 तक काम करेंगी।
स्टेफ़नी ट्रौटमैन ने इस्तीफा देने के बाद कहा कि मैं पिछले तीन सालों में विप्रो द्वारा दिए गए अवसरों की सराहना करती हूं और कंपनी को आगे बढ़ाने के लिए हमने मिलकर जो काम किया है, उस पर मुझे गर्व है। ट्रॉटमैन का बाहर निकलना विप्रो के मुख्य विकास कार्यालय में चल रहे बदलाव का हिस्सा है। कंपनी ने बदलाव की प्रक्रिया तब शुरू की जब डेलापोर्ट ने बेंगलुरु स्थित आईटी सेवा प्रदाता फर्म में पुनर्गठन के पहले दौर की पहल की थी।
 डेलापोर्टे ने अपने एक बयान में कहा  कि हमने बड़े सौदों, खाता विकास, साझेदारी और बिक्री प्रक्रियाओं के प्रति अपने दृष्टिकोण की फिर से कल्पना करने के साथ-साथ ग्राहकों के लिए रणनीतिक समाधान बनाने का खाका विकसित करने के लिए तीन साल पहले विकास कार्यालय की स्थापना की थी। उन्होंने कहा विकास कार्यालय ने हमें बड़े सौदे की बुकिंग में स्थिरता का एक नया स्तर हासिल करने में मदद की।
अब, विप्रो ने तथाकथित स्ट्रैटेजिक परस्यूट्स टीम को, जो पहले ट्रौटमैन के नेतृत्व वाले मुख्य विकास कार्यालय का हिस्सा थी, रणनीतिक बाजार इकाइयों में एकीकृत करना शुरू कर दिया है। विप्रो का मानना है कि ऐसा करने से यह स्ट्रैटेजिक परस्यूट्स टीम को ग्राहकों और ऑन-ग्राउंड बिक्री टीमों के नजदीक लाएगा। डेलापोर्टे ने कहा कि यह एकीकृत दृष्टिकोण हमें विकास के नए अवसरों की पड़ताल करने, बाजार में मौजूदगी बढ़ाने और बड़े करार हासिल करने मे्ं हमारी सफलता की दर को बढ़ाने में मदद करेगा। ग्रोथ ऑफिस का नियंत्रण अब सीईओ कार्यालय के हाथ में होगा। तीन साल से अधिक समय पहले विप्रो में डेलापोर्टे के आगमन के साथ ही पुनर्गठन की प्रक्रिया की शुरुआत और इसके बाद से कंपनी से जुड़े वरिष्ठ अधिकारियों के कंपनी से नाता तोड़ने की शुरुआत हो गई।

कंपनी के पुनर्गणन प्रक्रिया के दबाव में ही इस साल सितंबर में कंपनी के अनुभवी मुख्य वित्तीय अधिकारी (सीएफओ) जतिन दलाल ने इस्तीफा दे दिया था। डेलापोर्ट ने जब से कंपनी में पुनर्गठन की प्रक्रिया की शुरूआत की है, तब से दस वरिष्ठ अधिकारियों ने कंपनी से नाता तोड़ लिया है। 2023 में स्टेफ़नी ट्रौटमैन के अलावा नौकरी छोड़ने वाले प्रमुख लोगों में मो. हक भी शामिल हैं। मो. हक विप्रो में स्वास्थ्य देखभाल और चिकित्सा उपकरण इकाई के प्रमुख थे। विनिर्माण और हाई-टेक व्यवसाय इकाइयों के प्रमुख आशीष सक्सेना ने भी इसी साल इस्तीफा दिया है। अमेरिका में विप्रो की मुख्य वित्तीय अधिकारी कामिनी शाह ने भी नई परिस्थितियों के साथ मेल नहीं खाने की वजह से इसी साल इस्तीफा दे दिया था। अमेरिका में विप्रो के चीफ फाइनेंशियल अधिकारी निथिन वी जगमोहन ने भी विप्रो से नाता तोड़ लिया था।

डेलापोर्ट के आने के बाद से ही परेशानी महसूस कर रहे विप्रो के मुख्य संचालन आफीसर संजीव सिंह ने भी कंपनी से नाता तोड़ लिया था। कंपनी के उपाध्यक्ष गुरुविंदर साहनी ने भी इसी साल इस्तीफा दिया है। विप्रो इंडिया के हेड सत्या ईश्वर ने भी इसी साल कंपनी से रुखसत ली है। उनके साथ ही विप्रो आइडियाज़ के प्रमुख राजन कोहली ने भी इसी साल कंपनी से दूरी बनाई है। इतने सारे वरिष्ठ लोगों के नौकरी छोड़ने की वजह से विप्रो के चालू वित्त वर्ष में राजस्व में कमी देखने में आई है।
कंपनी के राजस्व  में जुलाई-सितंबर में लगातार तीसरी तिमाही में राजस्व में कमी देखने में आई है। क्योंकि कंपनी के आंकड़ों से पता चलता है कि काफी समय से धीमी मांग के अलावा परामर्श व्यवसाय में कमजोरी आने के कारण कंपनी का राजस्व प्रभावित हुआ है। विप्रो का अनुमान है कि अक्टूबर से दिसंबर तिमाही में उसके राजस्व में 3.5% से 1.5% की गिरावट आएगी। उधर, डेलापोर्ट ने आत्मविश्वास से कहा ऐसे चुनौतीपूर्ण माहौल में, हम अपनी दीर्घकालिक महत्वाकांक्षा को साकार करने के लिए आवश्यक साहसिक निर्णय लेना जारी रखेंगे। डेलापोर्टे ने कहा हम अपने प्रौद्योगिकी बुनियादी ढांचे में निवेश कर रहे हैं। इसके साथ ही विकास को बढ़ावा देने के लिए अपने संचालन और वितरण प्रक्रिया को सुव्यवस्थित कर रहे हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co