America increased crude oil production, Saudi Arabia worried
America increased crude oil production, Saudi Arabia worried Raj Express

अमेरिका ने बिगाड़ा खेल, सऊदी अरब कच्चे तेल का उत्पादन बढ़ाकर दे सकता है जवाब, अब टकराव तय

अमेरिकी तेल उत्पादन में हाल के दिनों में तेजी देखने को मिली है। इससे सऊदी अरब पर कच्चे तेल की कीमतों को नियंत्रित करने का दबाव बढ़ जाएगा।

हाईलाइट्स

  • 2024 में अमेरिकी तेल उत्पादन में जारी रहेगी तेजी, बन सकता है 13.3 मिलियन बैरल का नया दैनिक रिकार्ड

  • ऐसा तब हुआ है जब एक्सॉन मोबिल और शेवरॉन 2024 के लिए अपने पूंजीगत व्यय बजट को बढ़ा रहे हैं।

  • अधिक अमेरिकी आपूर्ति सऊदी अरब पर कच्चे तेल की कीमतों पर नियंत्रण पाने के लिए और दबाव बढा सकती है।

राज एक्सप्रेस। अमेरिकी तेल उत्पादन में हाल के दिनों में तेजी देखने को मिली है। 2024 में माना जा रहा है कि एक नई ऊंचाई देखने को मिलेगी। इसके स्वाभाविक परिणाम के रूप में सऊदी अरब पर कच्चे तेल की कीमतों को नियंत्रित करने का दबाव बढ़ जाएगा। यह एक ऐसी वजह है जिसके कारण दोनों देशों के बीच तनाव भी बढ़ सकता है। विश्लेषकों का अनुमान है कि अगले साल अमेरिकी तेल उत्पादन औसतन 13.3 मिलियन बैरल प्रति दिन की सीमा को छू लेगा। यह 2023 में औसतन 13 मिलियन प्रति दिन उत्पादन से अधिक है। यह सितंबर में बने तेल उत्पादन 13.2 मिलियन एक दिन के वर्तमान सर्वकालिक रिकॉर्ड से भी अधिक है।

ऐसा तब हुआ है जब अमेरिकी तेल दिग्गज एक्सॉन मोबिल और शेवरॉन ने हाल ही में 2024 के लिए अपने पूंजीगत व्यय बजट में बढ़ोतरी करने की घोषणा की है, क्योंकि वे शेल बूम के केंद्र पर्मियन बेसिन में अधिक पैसा डालते हैं। अमेरिकी तेल का रिकॉर्ड उत्पादन सऊदी अरब और रूस जैसे ओपेक प्लस देशों के उत्पादन में कटौती के साथ मेल खाती है, जो तेल की कीमतें बढ़ाने के लिए उत्पादन घटाने का प्रयास कर रहे हैं।

इस स्थिति में कुछ विशेषज्ञों ने चेतावनी दी है कि सउदी अरब अपनी राह बदल सकता है। वह इस स्थिति पर प्रतिक्रिया करते हुए तेल का उत्पादन बढ़ाकर बाजार में मंदी ला सकता है। सऊदी अरब ने ऐसा 2014 में किया था, जब उसने कच्चे तेल की कीमतें घटाकर तेल उत्पादन को घाटे का सौदा बना दिया था। इसके बाद अमेरिकी उत्पादकों को बाजार से बाहर होना पड़ा था।

अन्य विश्लेषकों ने भी इस विचार का समर्थन किया। मर्चेंट कमोडिटी फंड के मुख्य निवेश अधिकारी डौग किंग ने ब्लूमबर्ग से बातचीत करते हुए कहा ओपेक की रणनीति फिलहाल स्पष्ट नहीं है। लेकिन यह संभव है कि अधिक तार्किक योजना पर आगे बढ़ते हुए ओपेक कीमतों को फिर से कम करने के लिए आपूर्ति बाढ़ाने जैसे उपाय अपना सकता है। दूसरी ओर, रैपिडन एनर्जी इसे इस तरह नहीं देखती है। रैपिडन एनर्जी के अध्यक्ष बॉब मैकनेली ने कहा फिलहाल हमें उम्मीद नहीं है कि ओपेक प्लस अमेरिकी गतिविधियों पर अंकुश लगाने के लिए उत्पादन बढ़ाने का प्रयास करेगा।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co