Hyundai-Uber Electric Air Taxi
Hyundai-Uber Electric Air Taxi|Social Media
ऑटोमोबाइल

हुंडई-उबेर का इलेक्ट्रिक एयर टैक्सी का प्लान

“हुंडई जहां वाहनों का उत्पादन करने के साथ ही उनकी देखरेख करेगा, वहीं उबर हवाई राईड-शेयर सुविधा प्रदान करेगा।”

Neelesh Singh Thakur

हाइलाइट्स :

  • नए युग की होने वाली है शुरुआत

  • शहरी परिवहन सेवा के बाद उबर का नया प्लान

  • ट्रैफिक जाम से निपटने हवा में कार चलाने की योजना

राज एक्सप्रेस। अमेरिका की सवारी प्रोवाइडर कंपनी उबर टेक्नोलॉजीज़ इन्कॉर्पोरेटेड और दक्षिण कोरियाई वाहन निर्माता हुंडई मोटर ने इलेक्ट्रिक एयर टैक्सी बनाने की दिशा में उल्लेखनीय कदम बढ़ाया है। अर्बन इलाकों की भीड़भाड़ की समस्या कम करने के लिए दोनों समूहों ने ये योजना बनाई है। कैसे फर्राटा उड़ान भरेंगे लोग जानें हमारे संग।

सेल्फ फ्लाइंग कार :

दोनों ग्रुप स्व-उड़ान कारों (self-flying cars) की योजना बनाकर नया प्लान सामने लाये हैं। इन दोनों समूहों ने जर्मनी के डेमलर, चीन के गीली ऑटोमोबाइल के साथ ही जापान के टोयोटा जैसे वैश्विक खिलाड़ियों से लोहा लेने ये योजना बनाई है। इन ग्रुप्स ने आसमानी इलेक्ट्रिक फ्लाइंग कार में निवेश करने का लक्ष्य रखा है। हालांकि इस अहम योजना के लिए बड़ी तकनीकी और नियामक बाधाओं का भी इनको सामना करना होगा।

टाइमलाइन तय :

उबर और हुंडई ने प्रतिस्पर्धियों की चुनौतियों को देखते हुए अपनी भावी योजना को विस्तार देने के लिए व्यावसायीकरण की अलग-अलग समयसीमा निर्धारित की है। उबर एलिवेट के प्रमुख एरिक एलीसन ने लास वेगास में कंज्यूमर इलेक्ट्रॉनिक्स शो (सीईएस) में इस बारे में जानकारी देते हुए बताया कि, "हम 2023 तक उबर एयर को लॉन्च करने के लक्ष्य की दिशा में लगातार तेजी से प्रगति कर रहे हैं।"

लक्ष्य 2028 तय :

हुंडई के कार्यकारी उपाध्यक्ष, यूइसुन चुंग ने 2028 तक अर्बन एयर मोबिलिटी सर्विस के व्यावसायीकरण की उम्मीद जताई है। साथ ही इस दिशा में कानून और प्रक्रिया के बारे में जानकारी देते हुए बताया कि ऐसी सेवाओं के लागू होने में समय लगता है। उबर की एयर टैक्सी परियोजना में शामिल होने वाली हुंडई पहली कार निर्माता कंपनी है, जो अपने सहयोगी फर्मों में बोइंग सहायक अरोरा फ्लाइट साइंसेज के साथ भी काम कर रही है।

काम का बंटवारा :

हुंडई जहां वाहनों का उत्पादन करने के साथ ही उनकी देखरेख करेगा, वहीं उबर हवाई राईड-शेयर सुविधा प्रदान करेगा। मतलब शहरों में चलने वाली कारों की शेयर सर्विस की ही तरह दोनों मिलकर काम करेंगे।

आठ कंपनियों से करार :

उबर ने अपनी एयर टैक्सी परियोजना पर आठ कंपनियों के साथ करार किया है। हालांकि, इन कंपनियों के भावी करार के बारे में यह भी कहा जा रहा है कि ये सभी भागीदार एक ही समय में बाजार में उतर पाएंगे ऐसा मुनासिब नहीं हो पाएगा।

उबर में संचार प्रबंधक सारा अब्बूद ने रॉयटर को बताया कि- "साल 2023 में हमारे सीमित व्यवसायिक परिचालन की हमारी योजनाओं में अन्य साझेदार भी शामिल होंगे।"

उबर में संचार प्रबंधक सारा अब्बूद ने रॉयटर को बताया कि- "साल 2023 में हमारे सीमित व्यवसायिक परिचालन की हमारी योजनाओं में अन्य साझेदार भी शामिल होंगे।"

हुंडई मोटर में अर्बन एयर मोबिलिटी डिवीज़न प्रमुख शिन जय ने कहा "यूएएम (अर्बन एयर मोबिलिटी) वाहनों को बनाने और चलाने हेतु सभी को उड़ान भरने का आनंद लेने की स्वतंत्रता के लिए लागत कम होनी चाहिए।"

कई आकार का प्लान :

एयर टैक्सियां कई आकार-प्रकार में पेश की जाएंगी। गौरतलब है कि एयर क्राफ्ट में घूर्णन पंख होते हैं और कुछ मामलों में, प्रोपेलर के स्थान पर रोटर भी होते हैं। यह महत्वकांक्षी प्लान शुरू होने के बाद अर्बन फ्लाइट मार्केट में भी गति आएगी। इस सर्विस से विश्व मार्केट में मौजूदा कमर्शियल एयरप्लेनों की संख्या लगभग 25000 में भी वृद्धि होगी। गौरतलब है हुंडई ने नासा के एक पूर्व इंजीनियर को पिछले साल काम पर रखा था।

पिछले साल, हुंडई ने "अर्बन एयर मोबिलिटी" सर्विस के लिए 1.5 बिलियन डॉलर इन्वेस्ट करने की योजना जाहिर की थी। जबकि बोइंग का कहना है कि वो शहरी इलाकों में लोगों के परिवहन की सहूलियत के लिए वोक्सवैगन की स्पोर्ट्स कार ब्रांड पोर्श के साथ मिलकर इलेक्ट्रिक फ्लाइंग व्हीकल बनाने की दिशा में काम कर रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co