Axis Bank Foundation
Axis Bank FoundationRaj Express

एक्सिस बैंक फाउंडेशन का वाय4जे के साथ विकलांगों को ट्रेनिंग देने का एक दशक पूरा

एक्सिस बैंक फाउंडेशन (एबीएफ) ने देश के अर्द्ध-शहरी और ग्रामीण इलाकों में विकलांग युवाओं को आजीविका के अवसर उपलब्ध कराने के प्रशिक्षण का एक दशक पूरा किया।

हाईलाइट्स

  • ये लोग मूक-बधिर, विकलांगता व दृष्टि बाधा जैसी चुनौतियों से जूझ रहे हैं।

  • प्रशिक्षण के बाद एबीएफ और वाईएफजे ने 60% की प्लेसमेंट दर हासिल की है।

  • ''वाइज़'' से विकलांग युवाओं ने हासिल की संगठित क्षेत्र में नौकरी पाने की क्षमता

राज एक्सप्रेस । एक्सिस बैंक फाउंडेशन (एबीएफ) ने देश के अर्द्ध-शहरी और ग्रामीण इलाकों में विकलांग युवाओं को आजीविका के अवसर उपलब्ध कराने के लिए प्रशिक्षण और रोजगार दिलाने के प्रयासों का एक दशक पूरा कर लिया है। यूथ4जॉब्स (वाय4जे) के सहयोग से एबीएफ ने 24000 से अधिक युवाओं को प्रशिक्षित किया है, जो मूक-बधिर, चलने-फिरने की विकलांगता और दृष्टि बाधा जैसी चुनौतियों का सामना कर रहे थे। इस कार्यक्रम और साझेदारी के ज़रिये एबीएफ और वाईएफजे ने 60% की उल्लेखनीय प्लेसमेंट दर हासिल की है। यह गठजोड़ वहनीय आजीविका कार्यक्रम को रेखांकित करता है, जो एक व्यापक कौशल विकास परितंत्र के ज़रिये रोज़गार के अवसरों को आगे बढ़ाने में युवाओं की मदद करता है।

इस साझेदारी के तहत एक कार्यक्रम–वाइज़ (वर्क इंटीग्रेटेड सॉफ्ट स्किल्स एंड इंग्लिश) विकसित किया गया, जो विकलांग युवाओं को कौशल, आत्मविश्वास और संगठित क्षेत्र में नौकरियां पाने की क्षमता हासिल के लिए तैयार करता है। वाइज़ कार्यक्रम इन युवाओं के लिए खुदरा, ई-कॉमर्स, आईटी, आतिथ्य और अन्य सेवा उद्योग जैसे क्षेत्रों में पहुंच हासिल करने के लिए प्रवेश द्वार की तरह है। यह कार्यक्रम, व्यापक प्रशिक्षण प्रदान करने और प्लेसमेंट के उचित अवसरों की पहचान करने के अलावा, कार्यशालाओं के ज़रिये नियोक्ताओं को संवेदनशील बनाकर काम के समावेशी वातावरण को भी बढ़ावा देता है।

पिछले 10 साल में, कार्यक्रम के इस सामूहिक प्रयास से निम्नलिखित परिणाम मिले। कुल 958 नियोक्ताओं ने प्लेसमेंट प्रक्रिया में भाग लिया और प्रशिक्षण प्राप्त करने वाले 24,000 से अधिक युवाओं में से 15,466 विकलांग युवाओं को काम पर रखा। खुदरा, आईटी और आतिथ्य जैसे क्षेत्रों ने सक्रिय रूप से प्रतिभागियों की भर्ती की है, जिनमें अमेज़न, इंफोसिस, जेआईओ, केएफसी, रिलायंस, शॉपर्स स्टॉप, ज़ोमैटो, एक्सेंचर आदि जैसी उल्लेखनीय कंपनियां शामिल हैं। 860 कार्यशालाओं के ज़रिये, 472 कंपनियों को समावेश के महत्व के बारे में जागरूक किया गया, जिससे पहली-बार ऐसी नियुक्ति करने वाले नियोक्ताओं की संख्या में उल्लेखनीय वृद्धि हुई है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co