डुप्लीकेट प्रॉडक्ट बेचने के चलते Amazon के खिलाफ घोखाधड़ी का मामला दर्ज
डुप्लीकेट प्रॉडक्ट बेचने के चलते Amazon के खिलाफ घोखाधड़ी का मामला दर्जSyed Dabeer Hussain - RE

डुप्लीकेट प्रॉडक्ट बेचने के चलते Amazon के खिलाफ घोखाधड़ी का मामला दर्ज

बहुचर्चित ई-कॉमर्स साईट Amazon के ऊपर मुश्किलों का पहाड़ टूट पड़ा है क्योंकि, आयुर्वेदिक दवाओं का निर्माण करने वाली एक कंपनी के मालिक ने गुड़गांव में Amazon के खिलाफ केस दर्ज कराया है।

भोपाल, मध्य प्रदेश। आज बहुत से लोग शॉपिंग सहित अपने लगभग सभी काम डिजिटल माध्यम से करते हैं। यह लोग शॉपिंग के लिए बहुचर्चित ई-कॉमर्स साईट Amazon का इस्तेमाल करते हैं। वहीं, अब Amazon के ऊपर मुश्किलों का पहाड़ टूट पड़ा है क्योंकि, एक आयुर्वेदिक दवाओं का निर्माण करने वाली एक कंपनी के मालिक ने गुड़गांव में अमेजन पर केस दर्ज कराया है।

Amazon के खिलाफ दर्ज हुआ मामला :

दरअसल, एक आयुर्वेदिक दवा कंपनी ने ई-कॉमर्स साईट Amazon कंपनी पर आरोप लगाया है कि, अमेजन उसकी कंपनी के डुप्लीकेट उत्पादों को अपनी साइट पर बेच रही है। इस मामले में कंपनी के मालिक देवेंद्र सिंह ने याचिका दायर की हैं। कंपनी के मालिक यानी शिकायतकर्ता देवेंद्र सिंह का कहना है कि, उन्होंने कई बार अमेजन से संपर्क किया और डुप्लिकेट प्रोडक्ट्स के बारे में सचेत किया, लेकिन बार-बार मेल करने के बावजूद, कंपनी की तरफ से कोई कार्रवाई नहीं की गई। इतना ही नहीं कंपनी ने मेरे मेल का भी कोई जवाब नहीं दिया। उन्होंने बताया है कि, Amazon पर बिक रहे डुप्लीकेट उत्पादों के चलते उनकी आयुर्वेदिक दवा कंपनी को 5 करोड़ रुपए का नुकसान हुआ है।

धोखाधड़ी का मामला :

आयुर्वेदिक दवा कंपनी के मालिक देवेंद्र सिंह की इस शिकायत पर Amazon के खिलाफ IPC की धारा 420 के तहत धोखाधड़ी और धारा 63 के तहत कॉपीराइट उल्लंघन करने के चलते FIR दर्ज की गई है। इस मामले में पुलिस कमिश्नर के के राव ने बताया कि, भोपाल में नकली उत्पादों का निर्माण किया जा रहा है।

Amazon इंडिया के प्रवक्ता ने बताया :

Amazon इंडिया के प्रवक्ता ने बताया है कि, "हमारे ग्राहक उम्मीद करते हैं कि, जब वे Amazon के माध्यम से खरीदारी करेंगे तो उन्हें सही और ओरिजिनल प्रोडक्ट मिलेंगे। अमेजन नकली प्रोडक्ट उत्पादों की बिक्री पर सख्ती से प्रतिबंध लगाता है। हम नकली उत्पाद के किसी भी दावे की पूरी तरह से जांच करते हैं। जिसमें आइटम को हटाना और उसके खिलाफ उचित के रूप में कानूनी कार्रवाई करना शामिल है।” गौरतलब है कि, Amazon देश के दूसरे सबसे बड़े ऑनलाइन शॉपिंग प्लेटफार्म में शुमार है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co