Ban chinese companies got 48 hours
Ban chinese companies got 48 hours|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

बैन हुई ऐप की कंपनियों को मिला 48 घंटे का समय

भारत सरकार ने 59 चिनीज ऐप्स भारत में बैन करने जैसा एक बड़ा फैसला लिया है। वहीं, अब सरकार ने इन ऐप्स को समय दिया है। जिससे वह अपनी सफाई पेश कर करेंगी।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। लद्दाख के बॉर्डर पर चाइना द्वारा की गई कार्यवाही से जुड़ी समस्याओं के बाद से भारत चाइना के सामान का बहिष्कार कर रहा है। सभी भारतीय, चाइना का विरोध तेजी से कर रहे हैं। बीते कुछ दिनों से लोग चाइना में बनी एप्लीकेशंस के इस्तेमाल पर रोक लगाने की बातें कर रहे थे। इन्हे बॉयकॉट और अनइंस्टॉल्ड कर रहे थे। ऐसे में अब भारत सरकार ने इन चाइनीज ऐप्स भारत में बैन करने जैसा एक बड़ा फैसला लिया है। इन ऐप्स में टिकटॉक, शेयरइट और यूसी ब्राउज़र जैसी ऐप्स भी शामिल हैं। हालांकि, अब सरकार ने इन ऐप्स को समय दिया है। जिससे वह अपनी सफाई पेश कर करेंगी।

कंपनियों को मिला 48 घंटे का समय :

दरअसल, सरकार द्वारा इन सभी ऐप्स को बैन करने के बाद अब सरकार ने इन सभी कंपनियों को 48 घंटे का समय दिया है। इन कंपनियों को सरकार द्वारा दी गई समय अवधि के अंदर अपनी सफाई पेश करना होगी। सरकार इन कंपनियों की सुनवाई एक सरकारी पैनल द्वारा करेगी। इसके साथ ही यूजर्स के डेटा के कथित अनधिकृत उपयोग के आरोपों की जांच भी की जाएगी।

सरकारी पैनल में शामिल लोग :

बताते चलें, बैन हुई चाइनीज ऐप की एक लिस्ट भारतीय सुरक्षा एजेंसियों द्वारा तैयार की गई थी। सुरक्षा एजेंसियों के अनुसार, इन ऐप के द्वारा भारतीयों के डेटा को खतरा है। वहीं, यह सरकारी पैनल द्वारा जांच की जाएगी। अवरुद्ध आवेदन कंपनियों की सुनवाई एक सरकारी पैनल द्वारा करेगी। इस सरकारी पैनल में आयकर, गृह मंत्रालय, सूचना और प्रसारण मंत्रालय (IB), कानून मंत्रालय, और भारतीय कंप्यूटर आपातकालीन प्रतिक्रिया टीम (CERT-in) के अधिकारी शामिल हैं। बताते चलें, भारत में टिक टोक के करोड़ो यूजर्स हैं।

टिक टॉक के प्रमुख का कहना :

टिक टॉक इंडिया के प्रमुख निखिल गांधी ने बताया है कि, हमारे द्वारा किसी भी यूजर का कोई भी डेटा चाइना के साथ शेयर नहीं किया गया है। अगर हमसे ऐसा करने को भी कहा जाता तो भी हम ऐसा नहीं करते। हम भारत सरकार के आदेश को मानते हैं। हम इसके लिए हम भारत की सरकारी एजेंसियों से मुलाकात कर अपनी सफाई पेश करेंगे। टिक टॉक भारतीय कानून का सम्मान करता है

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co