कर्ज वसूली करने वाले बैंक एजेंट को लेकर RBI का सख्त रवैया, गवर्नर ने दी जानकारी
कर्ज वसूली करने वाले बैंक एजेंट को लेकर RBI का सख्त रवैया, गवर्नर ने दी जानकारीSocial Media

कर्ज वसूली करने वाले बैंक एजेंट को लेकर RBI का सख्त रवैया, गवर्नर ने दी जानकारी

अब रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने बड़ी जानकारी देते हुए बताया है कि,अब किसी भी बैंक के एजेंट ग्राहकों को कर्ज वसूली के लिये परेशान नहीं कर सकेंगे।

राज एक्सप्रेस। भारत के सभी बैंकों और वित्तीय संस्थानों की कमान भारत के केंद्रीय बैंक रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) के हाथ में ही होती है। RBI बैंको पर बैंक के ग्राहकों का भी विशेष ध्यान रखता है और समय-समय पर जरूरत के हिसाब से कई फैसले लेता है। जो बैंक के ग्राहकों के हित में हो। इन फैसलों की जानकारी RBI के गवर्नर देते है। वहीं, अब रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) ने बड़ी जानकारी देते हुए बताया है कि, अब किसी भी बैंक के एजेंट ग्राहकों को कर्ज वसूली के लिए परेशान नहीं कर सकेंगे।

RBI गवर्नर ने दी जानकारी :

दरअसल, रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) द्वारा लिए गए बड़े फैसले की जानकारी देते हुए RBI गवर्नर शक्तिकांत दास ने शुक्रवार को एक प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में सख्‍त रुख अपनाते हुए कहा कि, 'बैंकों के एजेंटों का ग्राहक को परेशान करना बर्दाश्‍त नहीं किया जाएगा। कर्ज वसूली के लिए एजेंटों द्वारा ग्राहक को वक्त-बेवक्त फोन करना, खराब भाषा में बात करना सहित अन्य कठोर तरीकों का इस्तेमाल कतई स्वीकार्य नहीं है। बैंकों के पास कर्ज वसूली का अधिकार है, लेकिन इससे किसी को परेशानी नहीं होनी चाहिए। खासकर एजेंट की ओर से आने वाले फोन कॉल्‍स को लेकर बैंकों को पर्याप्‍त गाइडलाइन का पालन करना चाहिए और उन्‍हें दिशा-निर्देश भी दिए जाने चाहिए। डिजिटल तरीके से कर्ज प्रदान करने की प्रणाली को सुरक्षित और मजबूत बनाने के लिए रिजर्व बैंक जल्द दिशा-निर्देश जारी करेगा।'

RBI गवर्नर ने जताई चिंता :

रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया (RBI) गवर्नर दास ने इस बात पर भी चिंता जताई कि, 'किस तरह डिजिटल प्‍लेटफॉर्म पर लोगों के साथ कर्ज बांटने के नाम पर ठगी की जा रही है। हालांकि, इस बारे में लोगों को जागरूक करने के लिए आरबीआई समय-समय पर गाइडलाइन भी जारी करता है।' इसके अलावा भी उन्होंने कई मुद्दों पर बात की जैसे देश में बढ़ रही महंगाई को लेकर उन्होंने अपने विचार रखे। उन्‍होंने देश में बढ़ रही महंगाई को लेकर कहा कि, 'भारत ही नहीं अमेरिका-यूरोप सहित दुनियाभर के देशों में महंगाई का दबाव है। इसे अचानक थामना किसी के बस की बात नहीं, लिहाजा उच्‍च मुद्रास्‍फीति को बर्दाश्‍त करना समय की जरूरत है। हम इसे लेकर अब तक उठाए गए कदमों और अपने फैसलों पर कायम हैं। महामारी से निपटने और देश की अर्थव्‍यवस्‍था को गति देने के लिए नीतिगत कदम उठाने में आरबीआई कतई पीछे नहीं रहा है. हम वक्‍त की जरूरत के साथ चल रहे हैं।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co