कोवीशील्ड के बाद अब भारत बायोटेक ने घटाई  'कोवैक्सिन' वैक्सीन की कीमत
कोवीशील्ड के बाद अब भारत बायोटेक ने घटाई 'कोवैक्सिन' वैक्सीन की कीमत Syed Dabeer Hussain - RE

कोवीशील्ड के बाद अब भारत बायोटेक ने घटाई 'कोवैक्सिन' वैक्सीन की कीमत

भारत बायोटेक ने अपनी 'कोवैक्सिन' वैक्सीन की कीमतें राज्य सरकारों और प्राइवेट अस्पतालों के लिए निर्धारित कर दी थी। वहीं अब इन कीमतों में कुछ कटौती कर दी गई है। कंपनी ने अब नई कीमतें भी जारी कर दी है।

राज एक्सप्रेस। भारत में कोरोना वायरस की जंग अभी भी जारी है। ऐसे में इस वायरस से लड़ने के लिए पूरी दुनिया फिलहाल सिर्फ वैक्सीन पर निर्भर है। इसी बात को ध्यान में रखते हुए हाल ही में वैक्सीनेशन का दायरा बढ़ाने का फैसला लिया गया है। इसी बीच भारत बायोटेक ने अपनी 'कोवैक्सिन' वैक्सीन की कीमतें राज्य सरकारों और प्राइवेट अस्पतालों के लिए निर्धारित कर दी थी। वहीं अब इन कीमतों में कुछ कटौती कर दी गई है। कंपनी ने अब नई कीमतें भी जारी कर दी है।

कंपनी ने घटाई वैक्सीन की कीमत :

दरअसल, भारत की स्वदेशी वैक्सीन निर्मित करने वाली कंपनी 'भारत बायोटेक' ने शनिवार को स्वदेशी कोरोना वैक्सीन कोवैक्सिन की कीमतों की जानकारी देते हुए बताया था कि, 'कंपनी अपनी वैक्सीन राज्य सरकारों को 600 रुपए और प्राइवेट अस्पतालों को 1200 रुपए में उपलब्ध कराएगी। हालांकि, अब इन कीमतों में कटौती की जा चुकी है और इस कटौती के बाद यह कीमतें राज्यों के लिए 600 रूपये की जगह 400 रुपए में कर दी है। कंपनी ने इस बारे में जानकारी गुरुवार को सोशल मीडिया पर दी।

विवाद के बाद घटाई गई कीमतें :

बताते चलें, इससे पहले सीरम इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया ने बुधवार को अपनी वैक्सीन 'कोवीशील्ड' की कीमतें घटाते हुए नई कीमतें जारी की थी। इसके अलावा कोवीशील्ड वैक्सीन की तुलना में कोवैक्सिन की कीमतें काफी ज्यादा तय की गई है। हालांकि, केंद्र सरकार के लिए कोवैक्सिन वैक्सीन के रेट 150 रुपए, राज्यों के लिए 600 रुपए और प्राइवेट हॉस्पिटल के लिए 1200 रुपए तय किये गए थे, लेकिन देश में वैक्सीन की अलग-अलग कीमतों को लेकर हो रहे विवाद के चलते अब राज्यों के लिए भी कीमतें घटा दी गई है।

संक्रमण पर कितनी इफेक्टिव ?

बता दें, कंपनी के द्वारा 'कोवैक्सिन' वैक्सीन की क्लिनिकल एफिकेसी (clinical affix) 78% बताई गई है। इसका सीधा मतलब यह हुआ कि, यह कोरोना वायरस के जानलेवा संक्रमण से लड़ने और उसे रोकने में 78% इफेक्टिव मानी गई है। इसके अलावा इस वैक्सीन की खासियत यह भी है कि, ''जिन्हें ट्रायल्स में यह वैक्सीन लगाई गई थी, उनमें से किसी में भी गंभीर लक्षण नहीं दिखे। इससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि, गंभीर लक्षणों को रोकने के मामले में इसकी इफेक्टिवनेस 100% मानी जा रही है।"

बढ़ाया जाएगा कोवैक्सिन का प्रोडक्शन :

खबरों की मानें तो, बीते दिनों भारत बायोटेक द्वारा कोवैक्सिन का प्रोडक्शन बढ़ाने को लेकर फैसला लिया गया था। इन खबरों के तहत कंपनी हर साल कोवैक्सिन के 70 करोड़ डोज तैयार करेगी और इसके लिए कंपनी ने अपने हैदराबाद और बेंगलुरु के कई प्लांट की क्षमता भी बढ़ाई है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co