Bharti Airtel करेगी सैटेलाइट इंटरनेट ब्रॉडबैंड सर्विस की पेशकश
Bharti Airtel करेगी सैटेलाइट इंटरनेट ब्रॉडबैंड सर्विस की पेशकशKavita Singh Rathore - RE

Bharti Airtel करेगी सैटेलाइट इंटरनेट ब्रॉडबैंड सर्विस की पेशकश

भारत की दूसरी सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल (Bharti Airtel) एलन मस्क की कंपनी को टक्कर देने के लिए सैटेलाइट बेस्ड इंटरनेट की पेशकश करेगी। कंपनी की इस पेशकश से Elon Musk को टक्कर मिलेगी।

Airtel Satellite Broadband Service : पिछले साल कुछ ऐसी खबर आई थी कि, भारत की टेलिकॉम कंपनियां Jio और Airtel 5G टेक्नोलॉजी लांच करने पर काम कर रही है। इसी बीच टेस्टिंग करने की भी खबरें सामने आई थी। इसके अलावा Huawei के नई 6G टेक्नोलॉजी पर काम करने से जुड़ी खबरे भी सामने आई थीं, इनके 5G और 6G लांच होने की जानकारी से पहले एक बड़ी खबर सामने आई है कि, भारत की दूसरी सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी भारती एयरटेल (Bharti Airtel) एलन मस्क की कंपनी को टक्कर देने के लिए सैटेलाइट बेस्ड इंटरनेट की पेशकश करेगी।

Bharti Airtel करेगी सैटेलाइट ब्रॉडबैंड की पेशकश :

दरअसल, आज दुनियाभर के साथ ही भारत में भी सैटेलाइट बेस्ड इंटरनेट की डिमांड तेजी से बढ़ रही है। ऐसे में अब तक एलन मस्क की स्टारलिंक कंपनी इस मामले में सबसे आगे मानी जाती है। हालांकि, स्टारलिंक की सर्विस अब तक भारत में नहीं है, लेकिन वह भारत में अपनी सर्विस शुरू करना चाहती है। फिलहाल कंपनी की अनुमति का इंतजार कर रही है। इसी बीच Airtel कंपनी द्वारा एक बड़ी खबर सामने आई है कि, कंपनी जल्द ही सैटेलाइट ब्रॉडबैंड सर्विस की पेशकश करेगी। कंपनी की इस सर्विस से वह एलन मस्क की कंपनी को सीधी टक्कर देने की तैयारी में जुटी है।

Airtel की नई सर्विस :

बताते चलें, Bharti Airtel ने अपनी नई सर्विस की पेशकश करने के लिए ह्यूजेज कम्यूनिकेशन इंडिया प्राइवेट लिमिटे (HCIPL) के साथ मिलकर एक ज्वाइंट वेंचर तैयार किया है, इस ज्वाइंट वेंचर के जरिये ही कंपनी भारत में अपनी सैटेलाइट ब्रॉडबैंड सर्विस मुहैया कराएंगी। इस मामले में कंपनी ने जानकारी साझा करते हुए बताया है कि, दोनों कंपनियां VSAT ऑपरेशन के जरिए बिजनेस और सरकारी कस्टमर को सैटेलाइट और हाइब्रिड नेटवर्क मुहैया कराएंगी। हालांकि, कंपनी इस ज्वाइंट वेंचर से जुडी जानकारी साल 2019 के मई में ही दे चुकी है। क्योंकि तब हीकंपनी को नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NClT) और डिपॉर्टेमेंट ऑफ टेलिकॉम (DoT) की तरफ से मंजूरी मिली थी।

HCIPL भारत का सबसे बड़ा ऑपरेटर :

बता दें कि HCIPL भारत का सबसे बड़ा सैटेलाइट सर्विस ऑपरेटर है। इसके पास करीब 2 लाख से ज्यादा VSAT मौजूद हैं। HCPIL की तरफ से नेटवर्किंग टेक्नोलॉजी, सॉल्यूशन एंड सर्विस को ब्रॉडबैंड उपलब्ध कराया जाता है। इसमें सरकारी ऑफिस, बैंकिंग,एयरोनॉटिक्स और maritime मोबिलिटी के साथ ही मीडियम साइज बिजनेस, एजूकेशन और टेलिकॉम बैकअप शामिल हैं। बता दें, सैटेलाइट इंटरनेट के भी अपने ही फायदे हैं जो कुछ इस प्रकार है -

  • सैटेलाइट इंटरनेट का एक्सेस कहीं से भी किया जा सकता है।

  • इसकी स्पीड काफी तेज होती है।

  • इसका इस्तेमाल आपदा जैसे समय में भी किया जाता है।

  • इसे आपदा की स्थिति में आसानी से रिकवर किया जा सकता है।

सैटेलाइट इंटरनेट क्या है ?

जानकारी के लिए बता दें, सैटेलाइट इंटरनेट (Satellite Internet) एक प्रकार की सर्विस है जिसके माध्यम से दूर-दूर तक के इलाकों में वायरलेस तरीके से हाई स्पीड इंटरनेट कनेक्टिविटी मुहैया कराता है। सैटेलाइट इंटरनेट का इस्तेमाल करने के लिए वायर की जरूरत नहीं पड़ती है। इससे डाटा ट्रांसफर करने के लिए लेजर बीम का इस्तेमाल किया जाता है। इसके लिए लोअर आर्बटि सैटेलाइट (Lower Orbit Satellite) का इस्तेमाल किया जाता है। लोअर आर्बटि सैटेलाइट के चलते लेटेंसी दर काफी कम हो जाती है। लेटेंसी दर का महत्व तब होता है, जो डाटा को एक प्वाइंट से दूसरे प्वाइंट तक पहुंचाने में लगता है और लो लेटेंसी की वजह से आनलाइन बफरिंग, गेमिंग और वीडियो कालिंग की क्वालिटी काफी बेहतर हो जाती है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.