अग्निपथ भर्ती योजना के विरोध में चल रहे प्रदर्शन के चलते बिहार सरकार ने बंद किया इंटरनेट
अग्निपथ भर्ती योजना के विरोध में चल रहे प्रदर्शन के चलते बिहार सरकार ने बंद किया इंटरनेटKratik Sahu-RE

अग्निपथ भर्ती योजना के विरोध में चल रहे प्रदर्शन के चलते बिहार सरकार ने बंद किया इंटरनेट

दुनिया में कभी-कभी गंभीर परिस्थितियों के चलते इंटरनेट बंद कर दिया जाता हैं। यह फैसला अग्निपथ भर्ती योजना के विरोध में चल रहे प्रदर्शन के चलते बिहार सरकार ने भी लिया है।

Internet Shutdown : स्मार्ट फोन के इस दौर में पूरी दुनिया में आज इंटरनेट इस्तेमाल में आने वाली एक ऐसी जरूरी सुविधा बन गई है, जिसके बिना रह पाना काफी मुश्किल हो गया है, वहीं यदि कभी इंटरनेट बंद हो जाता है तो न केवल इसका असर देश में रहने वाले लोगों पर पड़ता है बल्कि, इसका असर देश या राज्य की इकोनॉमी पर भी पड़ता है। हालांकि, कई बार ऐसा होता है कि, किसी कारणवश सरकार खुद इंटरनेट बंद करने की घोषणा कर देती है। कई बार देश में हो रहे प्रदर्शनो के कारण भी इंटरनेट बंद कर दिया जाता है। वहीं, अब अग्निपथ भर्ती योजना के विरोध में चल रहे प्रदर्शन के चलते भारत के कुछ राज्यों में इंटरनेट बंद किया जाएगा।

प्रदर्शन के चलते बंद हुई इंटरनेट सेवा :

दरअसल, दुनियाभर में कभी भी कोई ऐसी गंभीर परिस्थितियां बनती है, जिसमे इंटरनेट के चलते हालात बिगड़ सकते हैं तो इन बातों को ध्यान में रखते हुए सरकार इंटरनेट की सेवाओं को रोक देती है। जबकि, इंटरनेट बंद होने से न केवल लोगों को परेशानी का सामना करना पड़ता है बल्कि देश या राज्य सरकार को नुकसान भी उठाना पड़ता है। वहीं, अब देश में अग्निपथ भर्ती योजना को लेकर हो रहे हिंसक प्रदर्शन को दिन में रखते हुए बिहार सरकार ने 12 जिलों में इंटरनेट की सुविधा रोकने का ऐलान किया है। इन जिलों में यह सुविधा आज शुक्रवार की दोपहर 2 बजे से बंद कर दी गई है, जो रविवार यानी 19 जून 2022 तक बंद रहेगी।

इन जिलों में बंद हुई इंटरनेट सेवा :

बताते चलें, बिहार सरकार द्वारा जिन जिलों में इंटरनेट की सेवा बंद करने का फैसला लिया गया है। उन जिलों में कैमूर, भोजपुर, औरंगाबाद, रोहतास, बक्सर, नवादा, पश्चिमी चंपारण, समस्तीपुर, लखीसराय, बेगूसराय, वैशाली और सारण जिलों के नाम शामिल है। गृह विभाग की विशेष शाखा ने इस सभी जिलों के लिए आदेश जारी कर इन्हे जानकारी दे दी है। जारी किए गए आदेश में कहा गया है कि, 'अपर पुलिस महानिदेशक विधि-व्यवस्था और अन्य स्रोतों से जानकारी मिली है कि कुछ असामाजिक तत्व इंटरनेट सेवा का गलत इस्तेमाल कर रहे हैं। इंटरनेट मीडिया के विभिन्न प्लेटफार्म की मदद से गलत, भ्रामक संदेशों के साथ अफवाह फैलाई जा रही है, जिससे अराजक स्थिति उत्पन्न हो रही है। ऐसे में शांति व्यवस्था के लिए एक दर्जन जिलों में फेसबुक, ट्विटर और वाट्सएप जैसे इंटरनेट मीडिया साइट्स पर रोक लगाने का निर्णय लिया गया है। इन जिलों में इन सोशल साइट्स से कोई भी संदेश, तस्वीर या वीडियो रविवार तक एक दूसरे से शेयर नहीं की जा सकेगी।'

कुछ ऐप्स पर भी लगा प्रतिबंध :

बताते चलें, इंटरनेट बंद करने के साथ ही बिहार सर्कार ने कुछ ऐप्स पर भी प्रतिबंद लगा दिया है। इन ऐप्स में Facebook, Twitter, Whatsapp, QQ, Wechat, Qzone, Tublr, Google+, Baidu, Skype, Viber, Line, Snapchat, Pinterest, Telegram, Reddit, Snaptish , Youtube (upload), Vinc, Xanga, Buaanet, Flickr एप्स शामिल है। बता दें, इन दिनों बिहार में अग्निपथ के विरोध में जबरदस्त आंदोलन चल रहे है। लोग आंदोलन के बहाने उपद्रव फैला रहे है। उग्र आंदोलन के तीसरे दिन शुक्रवार को भी विशेषकर रेलवे साफ्ट टारगेट रही।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co