Bill Gates's Five Elements
Bill Gates's Five Elements |Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

अर्थव्यवस्था में सुधार लाएंगे बिल गेट्स के पंच तत्व

Microsoft के संस्थापक बिल गेट्स ने ब्लॉग में अर्थव्यवस्था को बचाने और वायरस को रोकने के लिए पांच बातों पर फोकस किया है। जानिए, वो बिल गेट्स के कौन से पंच तत्व हैं जो, अर्थव्यवस्था में सुधार लाएंगे।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। कोरोना जैसी जानलेवा महामारी के बीच भारत सहित अनेक देशों की अर्थव्यवस्था काफी तेजी से लुढ़कती हुई नजर आ रही है। वर्तमान में पूरी दुनिया आर्थिक मंदी का सामना कर रही है इतना ही नहीं IMF की रिपोर्ट के मुताबिक यदि भारत और चीन को छोड़ दिया जाए तो, लगभग सभी देशों की विकास दर नेगेटिव नजर आने वाली है। इन हालातों में सभी देशों की सरकार उचित कदम उठाने के अनेक प्रयास कर रही है ऐसे में सभी देश कॉरपोरेट सेक्टर इकोनामी को संभालने की कार्य योजना पर कार्य कर रहे हैं वही अब अर्थव्यवस्था को पटरी पर लाने और कोरोना से रोकथाम के लिए Microsoft के संस्थापक 'बिल गेट्स' (Bill Gates) ने अपनी सलाह दी है।

बिल गेट्स ने दी सलाह :

कोरोना वायरस के चलते पूरी दुनिया जिस एक सबसे बड़ी समस्या का सामना कर रही है वो है देश की बिगड़ती अर्थव्यवस्था। इसी को लेकर Microsoft के संस्थापक बिल गेट्स ने अपने ब्लॉग में अर्थव्यवस्था को बचाने और वायरस को रोकने के लिए पांच बातों पर फोकस किया है। बिल गेट्स ने अपनी सलाह में जिन पांच मुख्य बिंदुओं पर फोकस किया है वह हैं-

  1. ट्रीटमेंट

  2. वैक्सिंग

  3. टेक्सटिंग

  4. कांटेक्ट टेस्टिंग

  5. इकोनॉमी की शुरुआत करने की ठोस रणनीति

बिल गेट्स ने कहा है कि, कोरोना को रोकने और अर्थव्यवस्था के हालातों पर काबू पाने के लिए ट्रीटमेंट, वैक्सिंग, टेक्सटिंग कांटेक्ट टेस्टिंग और इकोनॉमिक्स शुरुआत करने की राजनीति पर ज्यादा से ज्यादा काम करना होगा।

गेट्स की 2nd वर्ल्ड वॉर के समय की बात :

गेट्स ने हर देश को इकोनामी को फिर से शुरू करने की सलाह देते हुए कोरोना जैसी महामारी की तुलना 2nd वर्ल्ड वॉर से की है, उनका कहना है कि, बस इस वॉर में सभी देश एक तरफ है। बिल गेट्स का मानना है कि, कोरोने की टेस्टिंग करना और वैक्सीन तैयार करना सरकार द्वारा लिए गए फैसले कोरोना से निपटने के काम आएंगे। गेट्स ने वर्ल्ड वॉर सेकंड के समय की बात बताते हुए आगे कहा है कि, उस समय काफी अविष्कार हुए थे, इन अविष्कारों में रडार टोरपीड़ और कोड ब्रेकिंग जैसी खोजें शामिल हैं। इन खोजों के चलते ही दूसरे विश्व युद्ध का अंत जल्दी हो सका था।

अर्थव्यवस्था पर बेरोजगारी का असर :

बिल गेट्स ने अर्थव्यवस्था पर बेरोजगारी का असर बताते हुए कहा है कि, कोरोना जैसे महासंकट में एक सबसे बड़ी समस्या बेरोजगारी भी सामने आई है। इस संकट के दौरान बेरोजगारी की समस्या जितने बड़े पैमाने पर सामने आई है, इससे पहले कभी इतने बड़े स्तर पर सामने नहीं आई है। कोरोना महामारी के चलते सभी सेक्टर ठप पड़े हुए हैं इसके पीछे सरकार की कोई रणनीति नहीं है इस बात का ध्यान रखा जाए।

वैक्सीन मात्र इकलौती उम्मीद :

कोरोना वायरस के इलाज को लेकर बिल गेट्स ने कहा है कि, आज हर किसी को घर से बाहर निकलने में डर लग रहा है, इसलिए एक ऐसे इलाज की जरूरत है जिससे वह अपना बचाव कर सके ऐसे में हर किसी को इलाज की उम्मीद है और इन हालातों में वैक्सीन मात्र इकलौती उम्मीद है, जिसकी वजह से लोग आजादी से घर से बाहर निकल कर घूम सकेंगे। जब तक वैक्सीन तैयार नहीं हो जाती दुनिया वैसे नहीं रह जाएगी, जैसी कोरोना वायरस के फैलने से पहले थी। उन्होंने आगे यह भी कहा कि जब वैक्सीन तैयार हो जाएगी दुनिया की पूरी आबादी को वैक्सीन लगाई जाए और जैसे ही वैक्सीन तैयार हो जाएगी, इसे पाने की होड़ मच जाएगी। इनको एक बड़े पैमाने पर तैयार करने की जरूरत होगी जिससे हालातों पर काबू पाया जा सकेगा।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co