बिन्नी बंसल ने नए स्टार्टअप ऑपडोर के साथ हितों के टकराव के चलते फ्लिपकार्ट बोर्ड से इस्तीफा दिया

फ्लिपकार्ट के संस्थापक बिन्नी बंसल ने एक नया ई-कॉमर्स स्टार्ट-अप ऑपडोर लॉन्च किया है। ऑपडोर एक बिजनेस-टू-बिजनेस (बी2बी) प्लेटफॉर्म है।
Binny bansal
Binny bansalRaj Express

हाईलाइट्स

  • बिन्नी बंसल ने नया ई-कॉमर्स स्टार्ट-अप ऑपडोर लॉन्च किया है

  • स्टार्टअप ओपडोर एक बिजनेस-टू-बिजनेस (बी2बी) प्लेटफॉर्म है

  • जो ईकॉमर्स ब्रांडों को वैश्विक स्तर पर उभरने में सहायता करता है

राज एक्सप्रेस । इस माह की शुरुआत में मीडिया रिपोर्ट्स के माध्यम में जानकारी मिली थी कि बिन्नी बंसल ने एक नया ई-कॉमर्स स्टार्ट-अप ओपडोर लॉन्च किया है। ओपडोर एक बिजनेस-टू-बिजनेस (बी2बी) प्लेटफॉर्म है, जो उभरते ईकॉमर्स ब्रांडों को वैश्विक स्तर पर उभरने में सहायता करता है। फ्लिपकार्ट के संस्थापक बिन्नी बंसल ने ई-कॉमर्स क्षेत्र में अपने नए उद्यम के लॉन्च के बाद कथित तौर पर कंपनी बोर्ड से इस्तीफा दे दिया है। एक मीडिया रिपोर्ट में दावा किया गया है कि सचिन बंसल के साथ-साथ फ्लिपकार्ट के सह-संस्थापक बिन्नी बंसल ने कंपनी बोर्ड को इस सप्ताह की शुरुआत में इस्तीफे के बारे में जानकारी दे दी थी।

ईकॉमर्स ब्रांडों के वैश्विक विस्तार में सहायक

इस महीने की शुरुआत में यह खबर आई थी कि बिन्नी बंसल ने ई-कॉमर्स कंपनियों को एंड-टू-एंड समाधान प्रदान करने के लिए अपना नया स्टार्टअप, ऑपडोर लॉन्च किया है। ऑपडोर की वेबसाइट के अनुसार, यह प्लेटफार्म ई-कामर्स कंपनियों को वैश्विक स्तर पर विस्तार देने में सहायता करने वाला मंच है। स्टार्टअप वेबसाइट में बताया गया है कि यह प्लेटफार्म ईकॉमर्स ब्रांडों को वैश्विक बाजारों, ग्राहक व्यवहार, कराधान और अनुपालन, साझेदारी और तीसरे पक्ष के विक्रेताओं पर एंड-टू-एंड सेवाएं प्रदान करके सहायक साबित होगा।

ऑपडोर मई 2021 में सिंगापुर में पंजीकृत की गई

कंपनी की वेबसाइट में बताया गया है कि ऑपडोर वैश्विक स्तर पर कई क्षेत्रों में निजी लेबल ब्रांडों का विस्तार करने के उद्देश्य से पूरी तरह से प्रबंधित अमेज़ॅन सेवाएं प्रदान करता है। बंसल का ऑपडोर अमेज़ॅन को एक अंतहीन अवसर के रूप में परिभाषित करता है। ऑपडोर ने अपनी वेबसाइट में बताया कि वैश्विक विस्तार को अपनाने वाले अमेज़ॅन विक्रेताओं में से लगभग दो-तिहाई या 63 प्रतिशत की बिक्री में वृद्धि देखी गई है। ऑपडोर मई 2021 में सिंगापुर में पंजीकृत की गई है। कंपनी एक वेंचर कैपिटल फर्म के रूप में काम कर रही है। इसे पहले 'थ्री स्टेट वेंचर्स प्राइवेट लिमिटेड' के नाम से जाना जाता था।

बिन्नी ने 2007 में की थी फ्लिपकार्ट की स्थापना

उल्लेखनीय है कि बिन्नी बंसल ने 2007 में बेंगलुरु में सचिन बंसल के साथ मिलकर फ्लिपकार्ट की स्थापना की थी। सचिन बंसल ने 2018 में फ्लिपकार्ट में अपनी पूरी पांच फीसदी हिस्सेदारी वॉलमार्ट को लगभग एक बिलियन डॉलर में बेच दी थी। इस खबर के सामने आने के बाद बिन्नी बंसल ने बताया कि उन्होंने कंपनी छोड़ने का फैसला किया है क्योंकि मैं देख रहा हूं कि कंपनी सक्षम हाथों में है। उन्होंने कहा मुझे पिछले 16 वर्षों में फ्लिपकार्ट समूह की उपलब्धियों पर गर्व है। फ्लिपकार्ट आज बेहद मजबूत स्थिति में है। कंपनी के पास मजबूत नेतृत्व और आगे बढ़ने का स्पष्ट रास्ता है।

बिन्नी ज्ञान और अनुभव का एक अनूठा संयोजन

यह देखते हुए कि कंपनी मजबूत हाथों में हैं, मैंने कंपनी से अलग होने का निर्णय लिया है। बिन्नी बंसल ने शनिवार को बताया कि मैं अपनी टीम को शुभकामनाएं देता हूं, क्योंकि वे ग्राहकों के लिए अनुभव बदलना जारी रखेंगे और मैं व्यवसाय का एक मजबूत समर्थक बना रहूंगा। वॉलमार्ट समूह ने भी इस खबर की पुष्टि की है। कंपनी के कार्यकारी उपाध्यक्ष, अंतर्राष्ट्रीय रणनीति और विकास और क्षेत्रीय सीईओ-एशिया और वॉलमेक्स और फ्लिपकार्ट बोर्ड सदस्य लेह हॉपकिंस ने कहा कि व्यवसाय के संस्थापक के रूप में, बिन्नी ज्ञान और अनुभव का एक अनूठा संयोजन प्रदान करता है।

फ्लिपकार्ट ने जताया सहयोग-साझेदारी के लिए आभार

लेह हॉपकिंस ने कहा हम भाग्यशाली हैं कि 2018 में वॉलमार्ट के निवेश के बाद से वह बोर्ड में बने रहे। उनकी सलाहों और अंतर्दृष्टि से कंपनी को बहुत फायदा हुआ। इस दौरान हमें उनसे बहुत कुछ सीखने को मिला। हम कामना करते हैं कि उनके अगले उपक्रमों में उन्हें बड़ी सफलता मिले। सीईओ और फ्लिपकार्ट बोर्ड सदस्य कल्याण कृष्णमूर्ति ने कहा कि हम पिछले कई सालों में बिन्नी के सहयोग और साझेदारी के लिए आभारी हैं। क्योंकि फ्लिपकार्ट समूह विकसित हुआ है और नए व्यवसायों में प्रवेश कर रहा है। व्यवसाय के बारे में उनकी अंतर्दृष्टि और गहरी विशेषज्ञता बोर्ड और कंपनी के लिए अमूल्य रही है। फ्लिपकार्ट एक महान विचार और कड़ी मेहनत का परिणाम है, जिसे भारत में खरीदारी के तरीके को बदलने के लिए प्रतिबद्ध टीमों द्वारा बनाया गया है। हम बिन्नी को उनके अगले उद्यम के लिए शुभकामनाएं देते हैं।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co