क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में आज Bitcoin की कीमत लुढ़की
क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में आज Bitcoin की कीमत लुढ़कीSocial Media

क्रिप्टोकरेंसी मार्केट में आज Bitcoin की कीमत लुढ़की

आपने हर किसी को Bitcoin में इन्वेस्ट करते सुना होगा। बीते कुछ दिनों में Bitcoin समेत अन्य दूसरी क्रिप्टोकरेंसी में दो बार गिरावट दर्ज होने के बाद आज एक बार फिर Bitcoin मे गिरावट दर्ज की गई है।

राज एक्सप्रेस। क्रिप्टोकरेंसी (Cryptocurrency) एक ऐसी करेंसी है, जो ज्यादातर सुर्ख़ियों में बनी रहती है। इसको लेकर कई नियम निर्धारित किए गए हैं। क्योंकि, कई देशों में इसे इल्लीगल माना जाता है। क्रिप्टोकरेंसी में सबसे ज्यादा नाम जो सुना जाता है वो बिटकॉइन (Bitcoin) का है और बिटकॉइन आज कल काफी ट्रैंड में चल रहा है। आज कल आपने हर किसी को बिटकॉइन में इन्वेस्ट करने की बात कहते सुना होगा। बीते कुछ दिनों में Bitcoin समेत अन्य दूसरी क्रिप्टोकरेंसी में दो बार गिरावट दर्ज होने के बाद आज एक बार फिर Bitcoin मे गिरावट दर्ज की गई है।

Bitcoin में दर्ज की गई गिरावट :

दरअसल, पिछले साल के दौरान मोदी सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी को लेकर बड़ा ऐलान किया उसके बाद भारत में सभी निजी क्रिप्टोकरेंसी पर बैन लगाने को लेकर संसद में एक बिल पेश किया गया था। उसके बाद से क्रिप्टो मार्केट के नंबर वन पर रहने वाली वर्चुल क्वॉइन Bitcoin सहित अन्य दूसरी क्रिप्टोकरेंसी की कीमत में कई बार गिरावट दर्ज की गई है। वहीं, आज शुक्रवार को एक बार फिर Bitcoin में गिरावट दर्ज की गई है। इस में 5% की गिरावट दर्ज होने से यह सितंबर के बाद अब तक का सबसे निचले लेवल पर आ पहुंची है। शुक्रवार को Bitcoin में 5% की गिरावट के बाद यह 41,000 डॉलर से भी नीचे पहुंच गई।

शुक्रवार को कारोबार के अंत में :

शुक्रवार को कारोबार के अंत में Bitcoin की कीमत 3.7% गिरने के बाद 40,938 डॉलर पर जा पहुंची है, यह 29 सितंबर के बाद का सबसे निचला स्तर है। जबकि, नवंबर में इसने 69,000 डॉलर की रिकॉर्ड ऊंचाई दर्ज की गई थी, लेकिन उसके बाद से ही इसमें लगातार गिरावट दर्ज की जा रही है। सितंबर के बाद से इसमें 40% से ज्यादा की गिरावट दर्ज की जा चुकी है। बता दें, Bitcoin की कीमतों में कई बार उतार-चढ़ाव भी देखा गया है उसके बाद भी यह पिछले 13 सालों से लगातार सबसे लोकप्रिय क्रिप्टोकरेंसी बनी चल रही है। बिटकॉइन नेटवर्क की ग्लोबल कंप्यूटिंग पॉवर में इस सप्ताह काफी तेजी से गिरावट दर्ज की गई है। इसका कारण कजाकिस्तान में इंटरनेट को बंद करना बताया जा रहा है।

फेडरल रिजर्व ने जारी किया मिनट्स :

अमेरिकी फेडरल रिजर्व द्वारा बुधवार को अपनी बैठक के मिनट्स को जारी किया था। इसमें अनुमान लगाया गया है कि, ब्याज दरें आने वाले समय में ऊपर जा सकती हैं। साथ ही यह भी संकेत मिले हैं कि, Bitcoin पर बीते कुछ समय से लगातार दबाव रहा है। मिनट्स में अधिक आक्रामक कार्रवाई करने की नीति की ओर इशारा किया गया है। इससे जोखिम वाले असेट में निवेश से निवेशक दूरी बना सकते हैं। इस मामले में सिंगापुर क्रिप्टो प्लेटफॉर्म स्टैक फंड्स के मुख्य परिचालन अधिकारी (COO) मैथ्यू डिब का कहना है कि, 'हम वर्तमान में सभी बाजारों में जोखिम से भागने का सेंटिमेंट देख रहे हैं, क्योंकि महंगाई संबंधी चिंताओं और रेट्स में बढ़ोतरी ने ट्रेडर्स को निवेश से दूर करने के लिए मजबूर किया है। मार्केट कैप के हिसाब से दूसरा सबसे बड़ा टोकन ईथर 8.6% गिरकर 3,114 डॉलर पर आ गया, जो 1 अक्टूबर के बाद का सबसे निचला स्तर है।'

गौरतलब है कि, इससे पहले कोरोना के नए Omicron वेरिएंट के चलते भी Bitcoin के साथ ही अन्य क्रिप्टोकरेंसीज में गिरावट देखने को मिली थी। तब, Bitcoin की कीमत दर्ज हुई गिरावट के बाद वह 48,000 डॉलर से नीचे आ पहुंची थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co