2024 की शुरुआत में ही दुनिया की 115 तकनीकी कंपनियों ने 30,000 कर्मियों को नौकरी से निकाला

2024 का साल तकनीकी कंपनियों के लिए चुनौतीपूर्ण रहा। नए साल के जनवरी माह में दुनिया भर की कंपनियों ने अपने कर्मचारियों की बड़े पैमाने पर छंटनी की।
Employees laid off at beginning of year
Employees laid off at beginning of yearRaj Express

हाईलाइट्स

  • 2024 की शुरुआत तकनीकी कंपनियों के लिए बेहद चुनौतीपूर्ण रही है

  • नए साल के पहले माह में कई कंपनियों ने बड़े पैमाने पर की छंटनी

  • कटौती करने वालों में माइक्रोसॉफ्ट, गूगल और अन्य बड़े नाम शामिल

राज एक्सप्रेस। सन 2024 का साल तकनीकी कंपनियों के लिए एक चुनौतीपूर्ण आरंभ रहा। layoffs.fyi वेबसाइट के आंकड़ों के अनुसार जनवरी 2024 में विश्वभर में 115 तकनीकी कंपनियों ने 30,000 से अधिक नौकरियों को कटौती की। इसमें माइक्रोसॉफ्ट, गूगल और अन्य कुछ महत्वपूर्ण तकनीकी उद्योगों के नाम शामिल हैं। कर्मचारियों की संख्या में कटौती की वजह से उद्योग जगत में बड़े पैमाने पर असमंजस और अस्थिरता को प्रोत्साहित किया।

एक अन्य टेक कंपनी माइक्रोसॉफ्ट ने भी 10 जनवरी को 1000 नौकरियों की कटौती की है। गूगल-मेटा एल्फाबेट के सीईओ सुंदर पिचाई ने 2024 में अपने वर्कफोर्स मे्ं और अधिक कटौती की उम्मीद जताई है। यह ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट ने 8 जनवरी को 1100 कर्मचारियों को नौकरी से बाहर निकाला। इस कार्रवाई ने कंपनी के 5% कर्मचारियों को प्रभावित किया।

गेम इंजन डेवलपर यूनिटी ने 8 जनवरी को 1800 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया। इसकी वजह से कंपनी के 25 % कर्मचारी प्रभावित हुए। यह क्लाउड कंप्यूटिंग और सॉफ़्टवेयर कंपनी सिट्रिक्स ने 10 जनवरी को 1000 नौकरियों में कटौती की है। कंपनी ने अपने मानव संसाधन को 12 % तक कम कर दिया है।

वेवफेयर संयुक्त राज्य अमेरिका का ई-कॉमर्स प्लेटफ़ॉर्म है, जो घर की सजावट का व्यापार करती है। वेवफेयर ने 19 जनवरी को 1650 कर्मचारियों को निकाल दिया। कंपनी ने कर्मचारियों में 13% तक की कमी की है। 23 जनवरी को ई-कॉमर्स कंपनी ईबे ने 1000 नौकरियों में कटौती की और अपने कर्मचारियों को 9 % तक कम किया।

एसएपी नाम की जर्मनी की बहुराष्ट्रीय सॉफ़्टवेयर कंपनी ने 8,000 कर्मचारियों को अपने वर्कफोर्स से निकाल दिया है, ताकि मानव संसाधन को 7 फीसदी तक कम कर सके। ट्विटर (अब एक्स) के सह संस्थापक जैक डोर्सी के फिंटेक स्टार्टअप ने 30 जनवरी को 1,000 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। जिसकी वजह से 10 फीसदी कर्मचारी प्रभावित हुए हैं। जबकि, पेपल नाम की इस फिनटेक कंपनी ने हाल ही में 2500 कर्मचारियों को नौकरी से निकाल दिया है। उल्लेखनीय है कि यह फिनटेक कंपनी एक समय अरबपति कारोबारी एलॉन मस्क के स्वामित्व में थी।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co