byju's और आकाश एजुकेशनल सर्विस लिमिटेड की डील पहुंची अंतिम चरण में
byju's और आकाश एजुकेशनल सर्विस लिमिटेड की डील Syed Dabeer Hussain - RE

byju's और आकाश एजुकेशनल सर्विस लिमिटेड की डील पहुंची अंतिम चरण में

ऑनलाइन-एजुकेशन स्टार्टअप byju's (बायजू) ने अब आकाश एजुकेशनल सर्विस लिमिटेड कंपनी के साथ हाथ मिलकर साझेदारी करने का फैसला किया है। कंपनी की यह डील अपने अंतिम चरण में है।

राज एक्सप्रेस। कोरोना वायरस महामारी के दौरान लागू हुए लॉकडाउन से देश में ऑनलाइन पढ़ाई का चलन काफी तेजी से बढ़ा है। इस दौरान कई ऐसी एप्स और प्लेटफार्म सामने आये हैं, जिनसे ऑनलाइन पढ़ाई करने में मदद मिलती हो। वहीं, ऑनलाइन पढ़ाई करने में मदद करने वाली देश के सबसे बड़ी ऑनलाइन-एजुकेशन स्टार्टअप byju's (बायजू) ने अब एक अन्य कंपनी के साथ हाथ मिलकर साझेदारी करने का फैसला किया है।

byju's की डील :

दरअसल, देश में काफी बहुचर्चित ऑनलाइन-एजुकेशन स्टार्टअप byju's अब इंजीनियरिंग और मेडिकल की तैयारी कराने वाली कंपनी आकाश एजुकेशनल सर्विस लिमिटेड के साथ साझेदारी करने जा रही है। कंपनी की यह डील अपने अंतिम चरण में है। बता दें, दोनों कंपनियों की यह डील एक अरब डॉलर यानी 73.12 अरब रुपये में पूरी हुई है। बता दें इस डील को दुनिया में एडुटेक सेक्टर की सबसे बड़ी डीलों में से एक माना जा रहा है। खबरों की मानें तो इस डील को पूरा होने में अगले दो-तीन महीनों का समय लगेगा।

देश का दूसरा सबसे वैल्यूबल स्टार्टअप :

बताते चलें, दोनों कंपनियों की यह डील इन दिनों काफी चर्चा में है, लेकिन फिलहाल दोनों ही कंपनियों की तरफ से कोई आधिकारिक घोषणा नहीं की गई है। सही मायने में देखा जाये तो byju's ने लॉकडाउन का फायदा उठाते हुए देशभर में अपनी पकड़ को और मजबूत कर लिया है। इसी के चलते ऑनलाइन-एजुकेशन स्टार्टअप byju's देश का दूसरा सबसे वैल्यूबल स्टार्टअप बन गया है और इसकी वैल्यू 877 अरब रुपये है। इतना ही नहीं byju's को Facebook के मालिक मार्क जकरबर्ग के चान जकरबर्ग इनीशिएटिव और टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट एंड बॉन्ड कैपिटल आदि से फंडिंग मिली हुई है।

byju's की शुरुआत :

बता दें, देशभर में 200 से ज्यादा ट्यूशन सेंटरों वाली आकाश एजुकेशनल सर्विस लिमिटेड में ब्लैकस्टोन ग्रुप का निवेश है। इसके बाद जब आकाश एजुकेशनल सर्विस की byju's के साथ डील हो गई है तब आकाश के फाउंडर चौधरी परिवार पूरी तरह बाहर हो जाएंगे, जबकि ब्लैकस्टोन अपनी हिस्सेदारी का एक हिस्सा byju's के स्टेक के साथ स्वैप करेगा। कोरोना के चलते ऑफलाइन ट्यूशन सेंटरों का पहले ही बहुत नुकसान हुआ है। बताते चलें, byju's की शुरुआत पूर्व शिक्षक बायजू रविंद्रन द्वारा एक स्मार्टफोन ऐप के तौर पर साल 2011 में की गई थी। आज इसके देश के 1,700 शहरों में 7 करोड़ यूजर हैं। इनमें से 45 लाख पेड यूजर हैं। इस ऐप के द्वारा किंडरगार्टन से लेकर 12वीं क्लास तक के लिए एजुकेशनल कंटेट मिल सकता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co