ByteDance की मुश्किलें बढ़ीं, कंपनी ने खटकाया बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा
ByteDance ने खटकाया बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजाSyed Dabeer Hussain - RE

ByteDance की मुश्किलें बढ़ीं, कंपनी ने खटकाया बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा

ByteDance कंपनी के कर्मचारियों के वेतन में अटकलें आती नजर आ रही हैं। इस बारे में जानकारी कंपनी द्वारा बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर करने के बाद सामने आई है।

राज एक्सप्रेस। भारत और चीन के बीच पिछले साल हुए विवाद के बाद से भारत सरकार ने कड़े कदम उठाए थे और इसी के तहत सरकार ने चीन की कई एप्स बैन भी की थी। इसी कड़ी में देश में दुनियाभर में बहुचर्चित चीन की शोर्ट वीडियो मेकिंग ऐप TikTok और Helo जैसी एप्स के बैन होने के बाद से इनकी पैरंट कंपनी ByteDance की मुश्किलें भारत में पहले ही बढ़ चुकी थी वहीं, अब ByteDance कंपनी के कर्मचारियों के वेतन में अटकलें आती नजर आ रही हैं। इस बारे में जानकारी कंपनी द्वारा बॉम्बे हाईकोर्ट में याचिका दायर करने के बाद सामने आई है।

ByteDance ने दायर की याचिका :

दरअसल, TikTok की पेरेंट कंपनी ByteDance ने अपने बैंक खातों को फ्रीज करने पर नाराजगी जताते हुए बॉम्बे हाईकोर्ट में एक याचिका दायर की है। जिसमें ByteDance कंपनी द्वारा कहा गया है कि, भारत सरकार का ये कदम गैर-कानूनी और उत्पीड़न करने के लिए है। हालांकि, इस मामले में अभी तक हाईकोर्ट से कोई बयाना नहीं आया है और न ही ByteDance कंपनी को तत्काल कोई राहत मिली है।

क्या है ByteDance की याचिका में ?

ByteDance द्वारा बॉम्बे हाईकोर्ट में दायर की याचिका में बताया है कि, 'भारत सरकार ने उसके बैंक खातों को फ्रीज किया हुआ है, जो कि, पूरी तरह गलत है। अधिकारियों ने उनके खिलाफ बिना किसी भौतिक साक्ष्य के कार्रवाई की है। इस कार्रवाई से पहले उन्हें कोई सूचना भी नहीं दी गई, जबकि भारतीय कानून के तहत ऐसी 'कठोर कार्रवाई' से पहले यह जरूरी था।' बताते चलें, इससे पहले कंपनी पर संभावित कर चोरी का इल्जाम लगा था और इसी मामले में सरकार द्वारा उसके 4 खातों को फ्रीज करने के आदेश दिए थे। उधर खबरों की मानें तो, हाईकोर्ट में ByteDance कंपनी की तरफ से दिए गए जवाब में कहा गया कि, 'ऐसा करना न सिर्फ गलत बल्कि प्रताड़ित करने वाला कदम है।'

दो बेंकों ने किए खाते फ्रीज :

बताते चलें, ByteDance ने भारत में TikTok बैन होने के बाद जनवरी में अपने कर्मचारियों की संख्या को घटा दिया था। उससे कंपनी पहले ही परेशान चल रही थी वहीं, पिछले महीने यानी मार्च में टैक्स इंटेलिजेंस यूनिट ने मुंबई में HSBC और सिटी बैंक को ByteDance इंडिया के बैंक खातों को फ्रीज करने के आदेश दिए थे। ये आदेश टैक्स इंटेलिजेंस यूनिट द्वारा कंपनी की कुछ वित्तीय डील्स की जांच करने के बाद दोनों बैंको को दिए गए थे। इन आदेशों के बाद ByteDance ने बॉम्बे हाईकोर्ट का दरवाजा खटखटाया है।

लोगों का कहना :

इस मामले की जानकारी रखने वाले 2 लोगों का कहना है कि, ByteDance ने खाता फ्रीज होने की वजह से अपने किसी भी कर्मचारी को मार्च की सैलरी नहीं दी है। हालांकि, कंपनी ने हाईकोर्ट को बताया कि उसके 1,335 कर्मचारी हैं जिनमें आउटसोर्स कर्मचारी भी शामिल हैं।' इसी सिलसिले में ByteDance ने 25 मार्च को बॉम्बे हाईकोर्ट में 209 पन्नों की याचिका दाखिल की थी। उधर इस मामले में बेंकों की तरफ से कोई बयान सामने नहीं आया है।

ByteDance को नहीं मिली राहत :

खबरों के मुताबिक, GSTI के डीजी और वित्त मंत्रालय की तरफ से इस पर अब तक कोई बयान सामने नहीं आया है। जबकि इससे पहले एजेंसी ने पिछले साल ByteDance को बताया था कि, ऐसा लग रहा है कि कुछ लेनदेन के बारे में जानकारी नहीं दी गई। उधर इस मामले में HSBC और सिटी बैंक ने भी कोई बयान देने से माना कर दिया है। इस ममले की सुनवाई बुधवार को हुई थी, लेकिन बॉम्बे हाईकोर्ट की तरफ से अब तक ByteDance को तत्काल राहत देने से इनकार कर दिया है। अब इस मामले में ही अगली सुनवाई मंगलवार को की जाएगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co