CBI ने चेन्नई के आयकर अधिकारी और CA को किया गिरफ्तार
CBI ने चेन्नई के आयकर अधिकारी और CA को किया गिरफ्तार Social Media

रिश्वत लेने के आरोप में CBI ने चेन्नई के आयकर अधिकारी और CA को किया गिरफ्तार

आज शनिवार को CBI ने एक बड़ी कार्रवाई के तहत चेन्नई के एक आयकर अधिकारी और CA को गिरफ्तार कर लिया है। यह मामला रिश्वत लेने का बताया जा रहा है।

चेन्नई, भारत। देश में पिछले कुछ समय से कई छोटे-बड़े घोटालों की खबरें सामने आती रही हैं। इन मामलों पर खुलासे देश की बड़ी जांच एजेंसी में शुमार सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (CBI) की टीम द्वारा की गई छापेमारी के बाद हुआ। वहीँ, आज शनिवार को CBI ने एक बड़ी कार्रवाई के तहत चेन्नई के एक आयकर अधिकारी और CA को गिरफ्तार कर लिया है। यह मामला रिश्वत लेने का बताया जा रहा है।

CBI ने की गिरफ्तारी :

दरअसल, सेंट्रल ब्यूरो ऑफ इन्वेस्टिगेशन (CBI) द्वारा आज चेन्नई में एक आयकर अधिकारी और एक चार्टर्ड अकाउंटेंट (CA) को गिरफ्तार कर लिया है। यह मामला 2.25 लाख रुपये की रिश्वत लेने का है। इस मामले में CBI ने बताया है कि 'CPWD के अधीक्षण अभियंता संजय चिंचघरे, सहायक मूल्यांकन अधिकारी डी. मंजूनाथन और चार्टर्ड अकाउंटेंट सतगुरुदास और करदाता व संपत्ति मालिक सुरेश के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज होने के बाद ब्यूरो ने यह कार्रवाई की। चिंचघरे चेन्नई आयकर मूल्यांकन प्रकोष्ठ में जिला मूल्यांकन अधिकारी के पद पर भी तैनात थे।'

अधिकारियों ने बताया :

अधिकारियों ने बताया कि, 'CBI ने आरोपियों के खिलाफ जो मामला दर्ज किया था उसके अनुसार सुरेश ने अपने आयकर रिटर्न में ऊंची संपत्ति के लेन-देन की घोषणा की थी, जिसे नेशनल फेसलेस असेसमेंट सेंटर, नई दिल्ली ने आयकर मूल्यांकन प्रकोष्ठ को भेज दिया था। मनुनाथन ने कथित तौर पर संपत्ति का निरीक्षण किया और संपत्ति के मूल्य में बदलाव को रेखांकित किया।'

CBI के एक प्रवक्ता का कहना :

वहीँ, CBI के एक प्रवक्ता ने कहा, 'मूल्यांकन को अंतिम रूप देने के लिए सक्षम प्राधिकारी चेन्नई के सीपीडब्ल्यूडी के एक अधीक्षण अभियंता (योजना) चिंचघरे थे। जो चेन्नई के आईटी मूल्यांकन प्रकोष्ठ के जिला मूल्यांकन अधिकारी (डीवीओ) का प्रभार संभाल रहे थे। आयकर मूल्यांकन प्रकोष्ठ के अधिकारियों ने संपत्ति के मालिक सुरेश अवैध तरीके से पहुंचाने के लिए 3.50 लाख रुपये की रिश्वत मांगी थी। सुरनेश ने अपने ऑडिटर/सीए सतगुरुदास को पैसा देने के लिए भेजा था। कथित रिश्वत लेन-देन के बारे में सूचना मिलने के बाद सीबीआई ने मंजूनाथन और सतगुरुदास को उस समय गिरफ्तारकिया जब कथित तौर पर पैसों का लेन-देन हो रहा था। एवीओ से 2.25 लाख रुपये की राशि वसूल की गई और उक्त संपत्ति के संबंध में जो आदेश जारी किया गया था उसे भी सीबीआई ने बरामद कर लिया है। तलाशी के दौरान मंजूनाथन के कब्जे से नौ लाख रुपये और सतगुरुदास के पास से 1.25 लाख रुपये की नकदी जब्त की गई। यह आरोप लगाया गया है कि 3.50 लाख रुपये की कुल रिश्वत में से 1.25 लाख रुपये ऑडिटर/सीए ने मध्यस्थता करवाने के लिए लिये थे।"

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस यूट्यूब चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। यूट्यूब पर @RajExpressHindi के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co