VVIP हेलीकॉप्टर अनुबंध मामले में CBI की कार्यवाही, चार्ट सीट दायर

ब्रिटेन की एक कंपनी के खिलाफ CBI ने सख्त कार्यवाही की है। यह कंपनी 12 VVIP हेलीकॉप्टर आपूर्ति मामले से जुड़ी है। इस मामले में आरोपी पाए गए 15 लोगों के खिलाफ CBI ने एक चार्ट सीट दायर की है।
VVIP हेलीकॉप्टर अनुबंध मामले में CBI की कार्यवाही, चार्ट सीट दायर
VVIP helicopter contract caseSyed Dabeer Hussain - RE

राज एक्सप्रेस। ब्रिटेन की एक कंपनी के खिलाफ केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) ने सख्त कार्यवाही की है। यह कंपनी 12 VVIP हेलीकॉप्टर आपूर्ति मामले से जुड़ी है। इस मामले में आरोपी पाए गए 15 लोगों के खिलाफ CBI ने एक चार्ट सीट दायर की है। इस अनुबंध (कॉन्टैक्ट) के मामले में एक व्यक्ति और प्राइवेट कंपनियां भी शामिल हैं। बताते चलें, इसी मामले में आखिरी बार CBI द्वारा साल 2017 में इनके अलावा 11 आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट दायर की गई थी।

क्या है मामला :

दरअसल, केंद्रीय जांच ब्यूरो (CBI) द्वारा जांच के दौरान जानकारी जुटाने के बाद इन पर आरोप लगाया गया था, इन आरोपियों ने अपनी नई दिल्ली वाली कंपनी के जरिए साल 2009 में कोलकाता में एक कंपनी की हिस्सेदारी हासिल की थी। जिसके द्वारा यह लोग अपने अवैध धन (Black Money) को वैध बना सके। इसे बैंकिंग चैनलों के जरिए हासिल करने के लिए मिलीभगत की गई। इसके अलावा कुछ अन्य आरोपी ने फर्जी कंपनियों का निर्माण किया। कंपनी खोलने के बाद उन्होंने कई बैंकों में फर्जी अकाउंट भी खोले। जब इस मामले का खुलासा हुआ तो इसकी जांच CBI को सौंप दी गई थी।

CBI ने बताया :

जांच एजेंसी (CBI) ने बताया कि, 'ये आरोपी प्राइवेट कंपनियां मोहाली-चंडीगढ़, नई दिल्ली, कोलकाता और मॉरीशस में स्थित हैं।' बताते चलें, जिन 15 लोगों को आरोपी मान कर उनके खिलाफ चार्टशीट दायर की गई है। उनके खिलाफ अधिनियम 1988 के तहत IPC की धारा 201, 420, 467, 468, 471 और धारा 7, 8, 9, 12 और 13 (2) के साथ पढ़े गए 120 बी के तहत चार्जशीट और PC की धारा 13 (1) (डी) के साथ दायर की गई है। CBI ने आगे कहा, 'उक्त कंपनियों के माध्यम से कमियां मिलीं। दस्तावेजों और विवरणों की प्रतियां बरामद की गईं।'

लगे थे यह आरोप :

इन लोगों पर यह भी आरोप हैं कि, 'साजिश के अनुसरण में, अन्य आरोपियों ने अपने से जुड़ी कंपनियों के द्वारा UK की एक कंपनी से भुगतान किए गए काले धन को ट्रांसफर और नियमित करने में सुविधा प्रदान की थी। कुछ आरोपियों ने नकली चालान तैयार करने और ट्रांसफर के लिए मेल भेजे थे। बताते चलें, इसी मामले में इससे पहले CBI ने 1 सितंबर, 2017 को एक तत्कालीन एयर चीफ मार्शल (जो अब रिटायर हो चुके हैं) और 11 अन्य लोगों को आरोपी मान कर उनके खिलाफ चार्जशीट दायर की थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co