सॉफ्टवेयर खरीद केस में CBI ने Air India के पूर्व CMD, IBM, SAP के विरुद्ध दायर किया आरोप पत्र

केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने एयर इंडिया के तत्कालीन सीएमडी अरविंद जाधव के साथ-साथ एसएपी इंडिया और आईबीएम इंडिया के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है।
Case registered against former CMD of Air India
Case registered against former CMD of Air IndiaRaj Express

हाईलाइट्स

  • 225 करोड़ के सॉफ्टवेयर खरीद में हेरफेर से संबंधित है यह आरोपपत्र

  • सीबीआई ने सीवीसी की सिफारिश के बाद दर्ज किया था यह मामला

  • सीवीसी ने प्रथम दृष्टया पाया खरीद में की गई प्रक्रियात्मक गड़बड़ी

राज एक्सप्रेस । केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने एयर इंडिया के तत्कालीन सीएमडी अरविंद जाधव के साथ-साथ एसएपी इंडिया और आईबीएम इंडिया के खिलाफ आरोप पत्र दायर किया है। आरोपपत्र 2011 में 225 करोड़ रुपये मूल्य के सॉफ्टवेयर की खरीद में कथित अनियमितताओं से संबंधित है। जांच एजेंसी के सूत्रों के मुताबिक, सीबीआई ने केंद्रीय सतर्कता आयोग (सीवीसी) की सिफारिश पर मामला दर्ज किया था, जिसने सॉफ्टवेयर की खरीद में प्रथम दृष्टया प्रक्रियात्मक अनियमितताएं पाई थीं।

इस मामले में छह अन्य लोगों के भी नाम

उन्होंने बताया कि लगभग छह साल की जांच के बाद दायर आरोप पत्र में आईपीसी की धारा 120-बी (आपराधिक साजिश) और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के प्रावधानों के तहत छह अन्य लोगों के भी नाम हैं। मुख्य सतर्कता अधिकारी (सीवीसी) ने सीबीआई को लिखे अपने नोट में कहा था कि एयर इंडिया के मुख्य सतर्कता अधिकारी की प्रारंभिक जांच से पता चलता है कि एयर इंडिया ने उचित निविदा प्रक्रिया का पालन किए बिना ही एसएपी एजी से इंटरप्राइज रिसोर्स प्लानिंग (ईआरपी) सॉफ्टवेयर सिस्टम का चुनाव किया था।

अपने आप पूरी कर दी निविदा प्रक्रिया

उसने यह पूरी प्रक्रिया अपने स्तर पर ही फाइनल कर दी। यह भी आरोप लगाया गया है कि इस मामले में नागरिक उड्डयन मंत्रालय से कोई मंजूरी नहीं ली गई। जबकि एयर इंडिया ने दावा किया था कि उसने 9 जुलाई 2009 को सचिवों के समूह के समक्ष और 2010 में मंत्रियों के समूह के समक्ष प्रस्तुति दी थी। इसके बाद ही खरीद के लिए आर्डर किया था। इस मामले पर सबसे पहले सीवीसी ने संज्ञान लिया और सीबीआई से इस मामले की जांच करने को कहा था।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co