Infosys की 41वीं सालाना आम बैठक में चेयरमैन नीलेकणी ने दी यह जानकारी
Infosys की 41वीं सालाना आम बैठक में चेयरमैन नीलेकणी ने दी यह जानकारीSocial Media

Infosys की 41वीं सालाना आम बैठक में चेयरमैन नीलेकणी ने दी यह जानकारी

प्रसिद्ध भारतीय आईटी कंपनी इन्फोसिस (Infosys) की 41वीं सालाना आम बैठक का आयोजन शनिवार को किया गया। इस बैठक में कंपनी के को-फाउंडर और चेयरमैन नंदन नीलेकणी (Nandan Nilekani) ने कई जानकारी दी।

InfosysInfosys 41st Annual General Meeting : प्रसिद्ध भारतीय आईटी कंपनी इन्फोसिस (Infosys) का नाम आज बड़ी से बड़ी आईटी कंपनियों में शुमार है। Infosys कंपनी का कैपिटल रिटर्न वित्त वर्ष 2022 में लगभग 24,100 करोड़ रुपये से ज्यादा रहा। इस केपिटल रिटर्न में 31 रुपये प्रति शेयर का कुल डिविडेंड और 11,000 करोड़ रुपये का शेयर बायबैक शामिल है। इस बारे में जानकारी देते हुए कंपनी के को-फाउंडर और चेयरमैन नंदन नीलेकणी (Nandan Nilekani) ने अन्य कई और बातें भी बताई।

Infosys की 41वीं सालाना आम बैठक :

दरअसल, शनिवार को प्रसिद्ध भारतीय आईटी कंपनी इन्फोसिस (Infosys) की 41वीं सालाना आम बैठक का आयोजन किया गया। इस बैठक में मुख्य भूमिका रही कंपनी के को-फाउंडर और चेयरमैन नंदन नीलेकणी (Nandan Nilekani) की। उन्होंने कंपनी की 41वीं सालाना आम बैठक में जानकारी देते हुए बताया है कि,

'वित्त वर्ष 2022 कंपनी के लिए असाधारण ग्रोथ का साल रहा है। कंपनी ने इस साल 19.7 फीसदी की दर से ग्रोथ की है, जो बीते 11 साल में कंपनी को मिली सबसे तेज बढ़ोतरी है। इस वित्त वर्ष में कंपनी के सामने कई चुनौतियां आईं, लेकिन कंपनी ने हर चुनौती को अपना मार्केट शेयर बढ़ाने के मौके के रूप में बदला है। इन चुनौतियों में धीमी ग्रोथ, सप्लाई चेन में रुकावट, महंगाई में बढ़ोतरी, तेजी से बढ़ते ब्याज दर और मंदी आने की जोखिम आदि शामिल रहा।'

नंदन नीलेकणी, Infosys के को-फाउंडर और चेयरमैन

डिविडेंड को लेकर नीलेकणी का कहना :

चेयरमैन नंदन नीलेकणी ने कहा कि, 'कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर ने 16 रुपये प्रति शेयर का फाइनल डिविडेंड देने की सिफारिश की है। इसके अलावा 15 रुपये प्रति शेयर का अंतरिम डिविडेंट भी है जिसे मिलाकर वित्त वर्ष 2022 में कुल लाभांश 31 रुपये प्रति शेयर हो गया है। इस तरह कंपनी ने लगभग 13,000 करोड़ रुपये डिविडेंट के तौर पर दिए हैं। कंपनी के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर ने सलील पारेख को इंफोसिस के सीईओ और मैनेजिंग डायरेक्टर के तौर पर फिर से नियुक्ति की सिफारिश की है। पारेख का दूसरा कार्यकाल 5 साल का होगा और एक जुलाई 2022 से 31 मार्च 2027 तक रहेगा। इस कार्यकाल के दौरान सलील पारेख का सालाना पैकेज करीब 79.75 करोड़ रुपये का होगा, जो उनकी पिछले वित्त वर्ष की सैलरी से करीब 88 फीसदी अधिक है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co