चीन बना दुनिया का सबसे अमीर देश, संपत्ति के मामले में छोड़ा अमेरिका को पीछे
चीन बना दुनिया का सबसे अमीर देश, छोड़ा अमेरिका को पीछेSyed Dabeer Hussain - RE

चीन बना दुनिया का सबसे अमीर देश, संपत्ति के मामले में छोड़ा अमेरिका को पीछे

चीन की अर्थव्यवस्था में काफी सुधार देखा गया था। इसी का नतीजा है आज चीन दुनिया का सबसे अमीर देश बन गया है। इतना ही नहीं इस मामले में चीन ने अमेरिका को भी पीछे छोड़ दिया है।

चीन, दुनिया। देश में कोरोना की शुरुआत से ही लॉकडाउन के कारण बने हालातों के चलते काफी आर्थिक मंदी का माहौल है। भारत इन दिनों काफी नुकसान झेल चुका है। इतना ही नहीं भारत के आलावा अन्य देश के भी आर्थिक हालात काफी बिगड़े हुए चल रहे हैं। वहीं, इसी बीच चीन की अर्थव्यवस्था में काफी सुधार देखा गया था। इसी का नतीजा है आज चीन दुनिया का सबसे अमीर देश बन गया है। इतना ही नहीं इस मामले में चीन ने अमेरिका को भी पीछे छोड़ दिया है।

चीन ने अमेरिका को छोड़ा पीछे :

दरअसल, जब पूरी दुनिया में कोविड-19 का प्रकोप तेजी से बढ़ रहा था। तब उस दौरान सभी देशों की अर्थव्यवस्था तेजी से गिर रही थी। उस समय यह खबर सामने आई थी कि, कुछ देशों की अर्थव्यवस्था में पहले की तुलना में काफी सुधार देखने को मिला है और इन देशों में भी सबसे पहले कोरोना की जन्म भूमि यानि चीन का नाम सबसे ऊपर था। इसी अर्थव्यवस्था में तेजी से आए सुधार को देखते हुए अनुमान लगाया गया था कि, साल 2028 तक चीन की अर्थव्यवस्था दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका की अर्थव्यवस्था को पीछे छोड़ते हुए सबसे बड़ी अर्थव्यवस्था बन जाएगी, लेकिन यह देखने के लिए साल 2028 तक का इंतज़ार करने की जरूरत नहीं पड़ी। ऐसा ईसिस साल 2021 में भी देखने को मिल गया है।

चीन की संपत्ति :

जानकारी के लिए बता दें, संपत्ति के मामले में देखा जाए तो अमेरिका अब तक सभी देशों से आगे था, लेकिन अब अमेरिका को पीछे छोड़ते हुए चीन ने अमेरिका का स्थान ले लिया है और चीन की संपत्ति20 साल में इसकी संपत्ति 7 खरब डॉलर थी जो अब 120 खरब डॉलर हो गई। अब अमेरिका का स्थान दूसरा हो गया है। बता दें, अमेरिका को पीछे छोड़ने के लिए चीन को दो दशकों से भी काम का समय लगा है और उसने अपनी संपत्ति में इजाफा कर शीर्ष स्थान हासिल किया है। पिछले दो दशकों में वैश्विक संपत्ति तीन गुना हो गई है, जिसमें चीन सबसे आगे है। इस मामले में एक रिपोर्ट सामने आई है। जिसके अनुसार, 'दुनिया की कुल संपत्ति का लगभग एक तिहाई हिस्सा चीन के पास है।'

चीन की आर्थिक वृद्धि :

सामने आई रिपोर्ट के अनुसार, विश्व व्यापार संगठन (WTO) में शामिल होने से एक साल पहले यानी साल 2000 में चीन की की संपत्ति मात्र 7 खरब डॉलर थी, जिसमे बढ़त दर्ज होने के बाद अब यह 120 खरब डॉलर हो गई है। चीन की आर्थिक वृद्धि में लगातार तेजी देखें को मिली है। हालांकि, अमेरिका की संपत्ति में भी काफी तेजी से बढ़त दर्ज की गई है। अमेरिका की संपत्ति बीते 20 सालों में दोगुनी से ज्यादा बढ़ी है क्योंकि, साल 2000 में अमेरिका की संपत्ति 90 खरब डॉलर थी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co