Companies Taking Measures Due to Corona Virus
Companies Taking Measures Due to Corona Virus|Kavita Singh Rathore -RE
व्यापार

कोरोना वायरस के चलते नुकसान उठाती कंपनियां कर रहीं कुछ ऐसे उपाय

कोरोना वायरस के बढ़ते कहर से बचने के लिए दुनियाभर के लोग अलग-अलग कदम उठा रहे हैं। इसी बीच कई कंपनियों ने भी अलग-अलग उपाय निकाले हैं। चलिए, एक नजर डालें, कंपनियों ने क्या-क्या कदम उठाये।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

राज एक्सप्रेस। कोरोना वायरस के प्रकोप ने पूरी दुनिया में हाहाकार मचा रखा है। इस वायरस के बढ़ते कहर से बचने के लिए दुनियाभर के लोग अलग-अलग कदम उठा रहे हैं। इसी बीच कई कंपनियों ने भी अलग-अलग उपाय निकाले हैं। सरकार ने तो बच्चों के स्कूल-कॉलेज और सिनेमा हाल, जिम और माल्स जैसी जगहों को बंद करने की घोषणा कर दी है। इन सबक चलते बड़ी-बड़ी कंपनियों को भी परेशानी झेलनी पड़ रही है और अनेक अलग-अलग उपाय निकाल रही हैं। चलिए, एक नजर डालें, कंपनियों ने क्या-क्या कदम उठाये।

CureFit का फैसला :

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के चलते फिटनेस सर्विस प्रोवाइडर कंपनी CureFit ने अपनी सभी क्लासेज को 14 दिन के लिए बंद रखने का फैसला लिया था। हालांकि, 14 दिन फिटनेस सर्विस प्रोवाइड करने जैसी जगह को बंद करके रखना मतलब कंपनी का तो नुकसान है ही साथ में उन सभी लोगों का भी नुकसान जो वहाँ जाकर अपनी सेहत बनाते हैं। वहीं, CureFit के मेंबर्स अपनी सर्विसेज को रिज्यूम नहीं कर पाएंगे। इसलिए ही कंपनी ने सभी मेंबर्स की मेंबरशिप को 14 दिन के लिए आगे बढ़ा दिया है। इससे मेंबर्स के नुकसान की भरपाई तो हो जाएगी लेकिन कंपनी को नुकसान झेलना पड़ेगा।

CureFit कंपनी का कहना :

कोरोना वायरस के प्रकोप के प्रकाश में, हम सभी http://cult.fit और http://mind.fit कक्षाओं को रद्द कर रहे हैं और अगली सूचना तक केंद्रों में प्रभावी है। हमने आपकी सदस्यता में 14 दिनों का ठहराव जोड़ दिया है ताकि आप अपनी सुविधानुसार रूक सकें। सुरक्षित रहें!

Swiggy का फैसला :

फ़ूड प्रोवाइडर कंपनी Swiggy को भी उठाना पड़ा नुकसान। दरअसल, Swiggy ने भी वायरस को फैलने से रोकने के लिए क्या कदम उठाएं है इस बारे में अपने ट्वीटर अकाउंट द्वारा ट्वीट कर बताया कि, 'वो वर्तमान में ग्राहकों को कॉन्टैक्टलेस डिलीवरी उपलब्ध करा रही है। इसके अलावा अपने डिलीवरी पार्टनर्स को ट्रेनिंग मुहैया करा रही है। इतना ही नहीं कंपनी अपने पार्टनर्स को फाइनेंशियल सपोर्ट भी दे रही हैं।

Zomato का फैसला :

फ़ूड प्रोवाइडर कंपनी Zomato ने भी उठाये कुछ उचित कदम जिसकी जानकारी कंपनी के फाउंडर डिपेंद्र गोयल ने अपने ट्वीटर अकाउंट से दी। उन्होंने बताया कि, हमारी कंपनी COVID-19 को लेकर कई कदम उठा रही है। हालांकि, Zomato ऐप पर कॉन्टैक्टलेस फूड डिलीवरी की सुविधा पहले से ही उपलब्ध है। यह सुविधा डिलीवरी इंस्ट्रक्शन्स फीचर के तहत मिलती है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Raj Express
www.rajexpress.co