बिटकॉइन घोटाले की सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में हो जांच : कांग्रेस
बिटकॉइन घोटाले की सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में हो जांच : कांग्रेसSyed Dabeer Hussain - RE

बिटकॉइन घोटाले की सुप्रीम कोर्ट की देखरेख में हो जांच : कांग्रेस

देश की विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने आरोप लगाते हुए कहा है कि, 'BJP के शासन वाले कर्नाटक में करोड़ों रुपए का बिटकॉइन घोटाला हुआ है और उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश की देखरेख में इसकी जांच की जानी चाहिए।'

राज एक्सप्रेस। क्रिप्टोकरेंसी एक ऐसी करेंसी है, जो ज्यादातर सुर्ख़ियों में बनी रहती है। इसको लेकर कई नियम निर्धारित किए गए हैं। जिनमें समय-समय पर बदलाव किए जाते हैं। ज्यादातर निवेशक और ट्रेडर्स इसमें रुचि रखते हैं। वहीं, अब सरकार क्रिप्टोकरेंसी के नियमों में कुछ बदलाव करने को लेकर विचार कर रही थी। हालांकि, केंद्रीय रिजर्व बैंक (RBI) ने अब तक इसके खिलाफ है। जिसको लेकर RBI गवर्नर ने पिछले दिनों अपनी बात रखी। वहीं, अब कांग्रेस पार्टी ने बिटकॉइन घोटाले मामले में अपना बयान दिया है।

कांग्रेस पार्टी का बयान :

दरअसल, देश की विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने आरोप लगाते हुए कहा है कि, 'भारतीय जनता पार्टी (BJP) के शासन वाले कर्नाटक में करोड़ों रुपए का बिटकॉइन घोटाला हुआ है और उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश की देखरेख में इसकी जांच की जानी चाहिए।' इस मामले में कांग्रेस संचार विभाग के प्रमुख रणदीप ङ्क्षसह सुरजेवाला और प्रवक्ता गौरव वल्लभ ने शनिवार को एक संवाददाता सम्मेलन में अपनी बात रखते हुए कहा है कि,

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बसवराज बोमई जब राज्य के गृहमंत्री थे तो वहां एक बिटकॉइन घोटाला हुआ। पुलिस ने करोड़ों रुपए की बिटकॉइन पकड़ी लेकिन बाद में यह राशि किसी अनजान खाते में ट्रांसफर हो गयी। उनका कहना था कि पता लगना चाहिए कि बिटकॉइन के रूप में यह पैसा किसने और किसके खाते मे कब जमा कराया है। बिटकॉइन की हेराफेरी करने के आरोप में गिरफ्तार हैकर श्रीकृष्णा ने कबूल किया कि उन्हें विदेशी कंपनियों की पोर्टल को हैक करने के आरोप में 17 नवंबर 2020 को हिरासत में लिया था। पुलिस पूछताछ में उसने बताया कि विदेशी कंपनियों के साथ ही उसने जून 2019 में कर्नाटक सरकार की खरीद साइट को भी हैक कर लिया था और इस दौरान उसने 28 करोड़ रुपए का अवैध ट्रांसफर किया था।

कांग्रेस पार्टी

प्रवक्ता ने लगाया आरोप :

प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि, 'कर्नाटक सरकार ने इस मामले में कोई कार्रवाई नहीं की और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा गृह मंत्री अमित शाह ने इस पूरे प्रकरण की जांच करने की बजाय इसे पर्दा डालने का प्रयास किया है। उन्होंने कहा कि यह करोड़ों रुपए का अंतरराष्ट्रीय घोटाला है और इस पर इंटरपोल को सूचित किया जाना चाहिए था लेकिन भारतीय जनता पार्टी की सरकार ने इस मामले में चुप्पी साधा रखी है। यह देश का बहुत बड़ा बिटकॉन घोटाला है और इसमें करोड़ों रुपए की हेराफेरी हुई है इसलिए इस पूरे प्रकरण की जांच का काम उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश को सौंपा जाना चाहिए।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co