कोवाक्सिन की दोनों डोज ले चुके लोगों को मिली ब्रिटेन में प्रवेश की मंजूरी
कोवाक्सिन की दोनों डोज ले चुके लोगों को मिली ब्रिटेन में प्रवेश की मंजूरीSocial Media

कोवाक्सिन की दोनों डोज ले चुके लोगों को मिली ब्रिटेन में प्रवेश की मंजूरी

ब्रिटेन ने भारत के उन सभी लोगों को बड़ी राहत दी है। जो कोरोना की कोवाक्सिन वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके हैं। इस राहत के तहत ऐसे यात्रियों को अब ब्रिटेन में प्रवेश करने के लिए मंजूरी मिल गई है।

राज एक्सप्रेस। पिछले काफी समय से ब्रिटेन ने भारत को आने-जाने वाली सभी फ्लाइट पर प्रतिबंध लगा रखा था। जिसे कई बार बढ़ाया गया था, लेकिन अब ब्रिटेन ने भारत के उन सभी लोगों को बड़ी राहत दी है। जो कोरोना की कोवाक्सिन वैक्सीन की दोनों डोज ले चुके हैं। इस राहत के तहत ऐसे यात्रियों को अब ब्रिटेन में प्रवेश करने के लिए मंजूरी मिल गई है।

ब्रिटेन ने दी बड़ी राहत :

दरअसल, ब्रिटेन के नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने एतियातन तौर पर ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट्स को काफी समय तक निलंबित कर दिया था, लेकिन अब ब्रिटेन ने भारत के ऐसे लोगों को जिन्होंने भारत की स्वदेशी कोरोना वैक्सीन कोवाक्सिन की दोनों डोज ले ली है उन्हें आज से ब्रिटेन में प्रवेश की मंजूरी दे दी है। आपके मन में यह ख्याल जरूर आया होगा कि, सिर्फ कोवाक्सिन वैक्सीन की डोज लेने वाले लोगों को ही अनुमति क्यों दी गई है तो आपको बता दें, ऐसा इसलिए क्योंकि ब्रिटेन भारत की कोवाक्सिन को अपनी स्वीकृत टीकों की लिस्ट में शामिल हो चुका है।

नहीं होना पड़ेगा क्वारंटीन :

बताते चलें, भारत बायोटेक-निर्मित कोवाक्सिन वैक्सीन लगवाने वाले किसी भी यात्री को आज यानी 22 नवंबर से ब्रिटेन में क्वारंटीन होने की भी जरूरत नहीं पड़ेगी। जानकारी के बता दें, कोवाक्सिन को विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की मंजूरी भी मिल चुकी है। इसी के आधार पर ब्रिटेन ने भी कोवाक्सिन को अपनी स्वीकृत टीकों की लिस्ट में शामिल किया है। बता दें ब्रिटेन द्वारा दी गई इस मंजूरी से उन हजारों भारतीयों को राहत मिलेगी, जो ब्रिटेन में प्रवेश की अनुमति मिलने का इंतजार कर रहे थे।

गौरतलब है कि, कोवाक्सिन कोरोना मरीजों पर 77.8% कारगर साबित हुई है। इसके अलावा यह वायरस के नए डेल्टा वेरिएंट के खिलाफ भी 65.2% तक कारगर है। कोवाक्सिन की निर्माता कंपनी भारत बॉयोटेक कंपनी ने इसी साल जून में कहा था कि, 'कंपनी ने तीसरे चरण के परीक्षणों से कोवाक्सिन के प्रभाव का अंतिम विश्लेषण किया है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co