Airasia के 50 लाख पैसेंजर पर हुआ साइबर हमला
Airasia के 50 लाख पैसेंजर पर हुआ साइबर हमलासांकेतिक चित्र

Airasia के 50 लाख पैसेंजर पर हुआ साइबर हमला

एक रैनसमवेयर ऑपरेटर गिरोह 'डाइक्सिन टीम' ने मलेशियाई एयरलाइन एयर एशिया के 50 लाख यात्रियों से संबंधित डाटा चुराकर उसका सैंपल सार्वजनिक कर दिया।

Cyber Attack on Airasia's Passengers : पूरी दुनिया में कोरोना की एंट्री के बाद से बहुत से बदलाव आये हैं। इन्हीं बदलावों में से एक डिजिटल ट्रांजेक्शन भी है। हालांकि, भारत में पहले भी डिजिटल ट्रांजेक्शन को काफी बढ़ावा मिला है परन्तु कोरोना काल से डिजिटल ट्रांजेक्शन काफी अधिक बढ़ गया है और जैसे जैसे डिजिटल ट्रांजेक्शन बढ़ा है वैसे-वैसे ही साइबर क्राइम भी काफी अधिक बढ़ गया है। पिछले सालों के दौरान कई तरह के साइबर क्राइम की खबरें सामने आई हैं। इसी कड़ी में अब बड़ी जानकारी सामने आई है कि, मलेशिया की एयरलाइन कंपनी Airasia के 50 लाख पैसेंजर पर साइबर हमला हुआ है।

Airasia के पैसेंजर पर साइबर हमला :

दरअसल, मंगलवार को ऐसी खबर सामने आई है कि, एक रैनसमवेयर ऑपरेटर गिरोह 'डाइक्सिन टीम' द्वारा मलेशिया की एयरलाइन कंपनी Airasia (एयरएशिया) के 50 लाख यात्रियों पर साइबर हमला किया है। इस बात का खुलासा तब हुआ जब इन्होने इन यात्रियों का डाटा चुराकर उसका सैंपल सार्वजनिक कर दिया। सामने आई जानकारी के अनुसार, Airasia एयरलाइन पर यह साइबर हमला 11 और 12 नवंबर को हुआ, जो कि, एक रैंसमवेयर द्वारा किया गया।

Daixin का दावा :

Airasia के यात्रियों पर हुए साइबर हमले को लेकर Daixin ने दावा किया है कि, 'रैंसमवेयर ने 50 लाख यूनिक पैसेंजर और एयरलाइन स्टाफ का डाटा चुराया है। चुराए गए डाटा में बुकिंग आईडी और कंपनी के कर्मचारियों का व्यक्तिगत डाटा शामिल है।' बता दें, यह खबर भी Daixin के हवाले से सामने आई है। जबकि, Airasia एयरलाइन की तरफ से इस मामले में कोई जानकारी सामने नहीं आई है। इस साइबर हमले का जिक्र अमेरिकी साइबर सुरक्षा खुफिया एजेंसियों की एक हालिया साइबर सुरक्षा एडवाइजरी में किया गया है। इसी में हेल्थकेयर सेक्टर पर हमले की शंका भी जताई गई थी। इस एडवाइजरी में डाइक्सिन टीम की भी बात कही गई है।

डाइक्सिन टीम ने जारी किया मैसेज :

डाइक्सिन टीम द्वारा जारी किए गए मैसेज के अनुसार, 'यात्रियों की जो जानकारी चुराई गई है उसमें इन यतियों के नाम, जन्मतिथि, मेडिकल रिकॉर्ड, मरीज का अकाउंट नंबर, सोशल सिक्योरिटी नबंर, मेडिकल व ट्रीटमेंट संबंधी जानकारी शामिल है। गौरतलब है कि, यात्रियों के इस प्राइवेट डाटा की मदद से कई तरह की वारदातों को अंजाम दिया जा सकता है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co