WhatsApp की नई पॉलिसी को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्र से जवाब मांगा
WhatsApp पॉलिसी को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्र से जवाब मांगाSyed Dabeer Hussain - RE

WhatsApp की नई पॉलिसी को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्र से जवाब मांगा

WhatsApp की नई पॉलिसी से जुड़ा मुद्दा अभी थमा नहीं है, बल्कि अब यह मामला दिल्ली हाई कोर्ट तक जा पहुंचा है। WhatsApp की नई पॉलिसी को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट ने सरकार से जवाब मांगा है।

राज एक्सप्रेस। दुनियाभर में इस्तेमाल होने वाली लोगों की लोकप्रिय एप WhatsApp ने अपनी एक नई पॉलिसी को पेश करने पर विचार किया था। हालांकि, फिलहाल कंपनी ने अपना इरादा त्याग दिया है और इस पॉलिसी को मई से लागू करने का फैसला किया है। ताकि तब तक यूजर्स नई पॉलिसी को अच्छे से समझ लें। हाल ही में इस मामले में केंद्र सरकार ने WhatsApp को पत्र भी लिखा था। वहीं, WhatsApp की नई पॉलिसी से जुड़ा मुद्दा अभी थमा नहीं है, बल्कि अब यह मामला दिल्ली हाई कोर्ट तक जा पहुंचा है। WhatsApp की नई पॉलिसी को लेकर दिल्ली हाई कोर्ट ने सरकार से जवाब मांगा है।

दिल्ली हाई कोर्ट का कहना :

दरअसल, WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी के खिलाफ दिल्ली हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की गई थी। जिस पर अब दिल्ली हाई कोर्ट ने केंद्र सरकार से जवाब मांगा है। हालांकि, इस मामले में हाई कोर्ट का जबाव पहले ही सामने आचुका है। हाई कोर्ट ने कहा था कि, 'यदि नई पॉलिसी से किसी की निजता भंग होती है तो वह एप को डिलीट कर दे। यह एक प्राइवेट एप है और यदि आपको अपनी गोपनीयता के बारे में ज्यादा चिंता है तो आप व्हाट्सएप का इस्तेमाल बंद कर दें और दूसरा एप इस्तेमाल करें। यह स्वैच्छिक चीज है।'

WhatsApp के खिलाफ जनहित याचिका दायर ?

खबरों की मानें तो, एक वकील ने WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी के चलते दिल्ली हाई कोर्ट में एक जनहित याचिका दायर की थी। जिसमें कहा गया था कि, 'सरकार को WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी के खिलाफ कड़ा कदम उठाना चाहिए, क्योंकि यह संविधान द्वारा दी गई निजता के मौलिक अधिकार के खिलाफ है।' इतना ही नहीं इस मामले में याचिकाकर्ता ने कोर्ट से कहा था कि, 'फेसबुक के स्वामित्व वाला व्हाट्सएप लोगों की निजी जानकारियों को साझा करना चाहता है, ऐसे में उस पर रोक लगाना जरूरी है।'

क्या है नई पॉलिसी :

WhatsApp की नई पॉलिसी के तहत कंपनी ने कहा है कि, वह आपकी जानकारी को अपने अन्य प्लेटफॉर्म Facebook और Instagram पर भी शेयर करेगा। साथ ही आपकी लोकेशन भी ट्रेक की जाएगी। इसके अलावा WhatsApp अपने यूजर्स को पहले 8 फरवरी 2021 तक का समय दिया है। तब तक अगर यूजर्स इस पॉलिसी को एक्सेप्ट नहीं करते तो उनका अकाउंट डिलीट कर दिया जाता, लेकिन अब यह समय सीमा बढ़ा कर 15 मई 2021 कर दी गई है। हालांकि, इस मामले में WhatsApp ने सफाई देते हुए कहा है कि, 'नई पॉलिसी से निजी चैट प्रभावित नहीं होंगी। नई पॉलिसी को लेकर अफवाहें फैलाई जा रही हैं। कंपनी अपने यूजर्स को स्टेटस अपडेट और विज्ञापन के माध्यम से नई पॉलिसी को लेकर लोगों को जागरूक करने का काम कर रही है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co