Fortune RBH Oil की किरकिरी के बावजूद दादा रहेंगे ब्रांड एंबेसडर, एड पर रोक
दादा ही रहेंगे ब्रांड एंबेसडर : अडानी ग्रुप- Social Media.

Fortune RBH Oil की किरकिरी के बावजूद दादा रहेंगे ब्रांड एंबेसडर, एड पर रोक

फार्च्यून राइस ब्रान हेल्थ ऑयल पर सवाल उठने के बाद बैकफुट में आई कंपनी ने ब्रांड एंबेसडर, तेल और विज्ञापनों पर बयान दिया है।

हाइलाइट्स –

  • ब्रांड की किरकिरी

  • अडानी ग्रुप ने दिया बयान

  • नये कैंपेन पर चल रहा काम

  • सौरव गांगुली ही रहेंगे ब्रांड एंबेसडर

राज एक्सप्रेस। कहते हैं सोशल मीडिया वालों की लाठी में आवाज नहीं आती। जी हां जब चलती है तो अच्छे खां को जवाब देना पड़ जाता है। इस मामले में भी कुछ ऐसा ही है। दरअसल हृदय की बीमारी का इलाज करा रहे भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड (बीसीसीआई-Bcci) के अध्यक्ष के कारण अडानी ग्रुप को जवाब देने आगे आना पड़ा है।

सफाई की वजह –

दरअसल बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली अडानी ग्रुप के प्रॉडक्ट फॉर्च्यून राइस ब्रान कुकिंग ऑयल के ब्रांड एंबेसडर हैं। दादा इस विज्ञापन में कंपनी के तेल के समर्थन में नजर आते हैं। विज्ञापन में बताया जाता है कि किस तरह फार्च्यून राइस ब्रान हेल्थ कुकिंग ऑयल हृदय संबंधी बीमारियों से बचाव में कारगर है।

तो आना पड़ा आगे –

सोशल मीडिया पर इस विज्ञापन को लक्ष्य बनाकर जब सौरव गांगुली के उत्तम स्वास्थ्य की कामना के साथ अडानी ग्रुप के फार्च्यून राइस ब्रान हैल्थ ऑयल (Fortune RBH Oil) पर सवाल उठे तो कंपनी को आगे आना पड़ा। ब्रांड की साख को बट्टा लगता देख आनन-फानन फार्च्यून ने गांगुली वाले विज्ञापन से जुड़े अपने कुकिंग ऑयल के सभी विज्ञापनों को रोक दिया।

कंपनी के इस कदम के बाद सोशल मीडिया वर्ल्ड में गांगुली को फार्च्यून राइस ब्रान कुकिंग ऑयल (Fortune Rice Bran cooking oil) के विज्ञापन से हटाए जाने की चर्चाओं को हवा मिली थी। हालांकि सोशल मीडिया पर रुसवाई बढ़ती देख अब इस मामले में अडानी समूह ने अपनी सफाई पेश की है।

हम साथ काम करेंगे -

अडानी ग्रुप की कंपनी अडानी विल्मार के डिप्टी चीफ एग्जिक्यूटिव अंगशू मलिक ने कंपनी के कदम के बारे में बयान जारी किया है।

“हम सौरव गांगुली के साथ काम करते रहेंगे। वह हमारे ब्रांड एंबेसडर बने रहेंगे। हमने अपने कुकिंग ऑयल के टेलिविजन विज्ञापन पर सिर्फ अस्थायी रोक लगाई है। हम आगे भी फिर से सौरव गांगुली के साथ काम करेंगे। यह एक दुर्भाग्यपूर्ण घटना है जो किसी के भी साथ हो सकती है।”

अंगशू मलिक, डिप्टी चीफ एग्जिक्यूटिव, अडानी विल्मार कंपनी

दवा नहीं है राइस ब्रान ऑयल -

अपने बयान में मलिक राइस ब्रान कुकिंग ऑयल के बचाव में दिखे। उन्होंने कहा कि राइस ब्रान हेल्थ कुकिंग ऑयल कोई दवा नहीं, केवल खाद्य तेल है। अपनी सफाई में उन्होंने कहा कि; दिल के मामले में खान-पान से लेकर आनुवंशिक लक्षण जैसे तमाम कारक असर कारक होते हैं।

कंपनी के डिप्टी चीफ एग्जिक्यूटिव मलिक ने कहा कि; राइस ब्रान दिल की सेहत के लिए काफी अच्छा माना गया है। कंपनी ने गांगुली को जनवरी साल 2020 में फॉर्च्यून राइस ब्रान कुकिंग ऑयल की ख्याति के लिए अपना ब्रांड एंबेसडर बनाया था।

बीमार हुए तो चर्चा आम -

इस साल की शुरुआत में 2 जनवरी को सौरव गांगुली को दिल का दौरा पड़ने के बाद इलाज के लिए अस्पताल में दाखिल किया गया है। वे डॉक्टर्स की निगरानी में हैं। राहत की बात है कि अब उनकी हालत में सुधार है।

सोशल मीडिया पर चर्चा -

बीसीसीआई प्रेसिडेंट और भूतपूर्व कप्तान सौरव गांगुली फॉर्च्यून राइस ब्रान 'हॉर्ट हेल्दी ऑयल' के विज्ञापन से जुड़े वीडियो में नजर आते हैं। कोरोना संकट में उपजे लॉकडाउन के दौरान वह अडानी ग्रुप के इस स्पेशल ऑयल के विज्ञापन में दिल की देखभाल के बारे में लोगों को बताते नजर आये। दादा को दिल का दौरा पड़ने के बाद सोशल मीडिया पर अडानी ग्रुप के इस कुकिंग ऑयल को लेकर काफी सवाल उठे थे।

सोशल मीडिया में ब्रांड की प्रतिष्ठा पर आंच आने के बाद भी अडानी ग्रुप ने सौरव गांगुली को ही अपना ब्रांड एंबेसडर बरकरार रखने का निश्चय जाहिर किया है। हालांकि कंपनी ने अपने तेल के विज्ञापनों पर अस्थाई रोक लगाने की भी बात बयान में कही है।

कंपनी के विज्ञापन में किए गए दावों पर क्या सवाल उठे थे और लोगों ने क्या राय रखी? साथ ही सोशल मीडिया यूज़र्स ने विज्ञापन करने वाले नायकों को क्या नसीहत दी? इस बारे में विस्तार से जानने राज एक्सप्रेस के आर्टिकल गांगुली के Fortune राइस ब्रान ऑयल विज्ञापन की किरकिरी के बाद एड ब्लॉक! पर क्लिक करें।

बीसीसीआई प्रेसिडेंट सौरव गांगुली को दिल का दौरा पड़ने के बाद अडानी कंपनी के विज्ञापन ट्विटरातियों की जद में हैं। कंपनी के उत्पादों की बुराई होने पर दिग्गज कारोबारी गौतम अडानी की कंपनी Adani Wilmar बैक फुट पर दिखाई दे रही है।

कंपनी ने फॉर्च्यून राइस ब्रान कुकिंग ऑयल (Fortune Rice Bran cooking oil) के उन सभी विज्ञापनों को ब्लॉक कर दिया जिसमें गांगुली दिखाई देते हैं। देखना दिलचस्प होगा दाने-दाने में केसर के दम के साथ ही कोविड सेनिटाइजर, इम्यूनिटी बूस्टर का दावा करने वाले तमाम विज्ञापनों और उनमें नजर आने वाले चेहरों की परेड कब लगती है।

कर्ब योर हेल्दी ऑयल -

लॉकडाउन पीरियड के दौरान जारी विज्ञापन में गांगुली हार्ट (ह्रदय) की देखभाल के वादे के साथ ब्रांड के तेल की बेहतरी का दावा करते नजर आए थे। राज एक्सप्रेस ने तमाम मीडिया प्लेटफॉर्म्स पर कंपनी के विज्ञापनों को तलाशा लेकिन अधिकांश जगहों पर कंपनी के गांगुली वाले विज्ञापन नजर नहीं आए। यूट्यूब के एक लिंक में विज्ञापन नजर आया जिसे हम ढूंढ़कर आपके लिए लाये हैं। कंपनी का विज्ञापन देखें –

ब्रांड की साख को पहुंचे नुकसान के बाद फॉर्च्यून ब्रांड के अगले विज्ञापन में क्या नया नजर आता है फिलहाल सोशल मीडिया पर इस बात की चर्चा सरगर्म है।

डिस्क्लेमर आर्टिकल प्रचलित रिपोर्ट्स पर आधारित है। इसमें शीर्षक-उप शीर्षक और संबंधित अतिरिक्त प्रचलित जानकारी जोड़ी गई हैं। इस आर्टिकल में प्रकाशित तथ्यों की जिम्मेदारी राज एक्सप्रेस की नहीं होगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co