DMRC बढ़ाएगा मुकुंदपुर में मौजूदा डिपो की क्षमता
DMRC बढ़ाएगा मुकुंदपुर में मौजूदा डिपो की क्षमता Syed Dabeer Hussain - RE

DMRC ने अधिग्रहण का विचार त्याग मुकुंदपुर में मौजूदा डिपो की क्षमता बढ़ाने का फैसला किया

दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) ने वित्तीय नुकसान को ध्यान में रखते हुए इस अधिग्रहण का विचार त्यागते हुए मुकुंदपुर में मौजूदा डिपो की क्षमता बढ़ाने का फैसला किया है।

दिल्ली, भारत। दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) की सेवाएं दिल्ली वासियों के लिए काफी अहम् है। DMRC भी अपने यात्रियों का विशेष ध्यान रखता है। हालांकि, कोरोना काल के दौरान दिल्लीवासियों को मेट्रो न चलने से बहुत ही असुविधा हुई थी। साथ ही DMRC को भी काफी नुकसान उठाना पड़ा था। इसका असर अब देखने को मिल रहा है। क्योंकि, दिल्ली मेट्रो फेज-4 के कॉरिडोर पर नए डिपो के लिए पहले कुछ अतिरिक्त जमीन का अधिग्रहण करने वाली थी। जिसे अब वह नहीं खरीदेगी। हालांकि, मुकुंदपुर में मौजूदा डिपो की क्षमता बढ़ाने को लेकर फैसला किया गया है।

DMRC का फैसला :

दरअसल, दिल्ली मेट्रो रेल कॉर्पोरेशन (DMRC) द्वारा दिल्ली मेट्रो फेज-4 के कॉरिडोर पर नए डिपो के लिए पहले कुछ अतिरिक्त जमीन का अधिग्रहण करने का ऐलान किया गया था। हालांकि, अब वह यह अधिग्रहण नहीं करेगा। क्योंकि,जैसा कि, सभी जानते हैं कोरोना काल में लगभग सभी सेक्टर्स को भारी नुकसान उठाना पड़ा है। ठीक उसी तरह ही DMRC को भी भारी नुकसान उठाना पड़ा। इसी के चलते DMRC ने वित्तीय नुकसान को ध्यान में रखते हुए इस अधिग्रहण का विचार त्यागते हुए मुकुंदपुर में मौजूदा डिपो की क्षमता बढ़ाने का फैसला किया गया है। इसके अलावा मुकुंदपुर डिपो में वर्तमान समय में जितनी लाइन है उन लाइनों की संख्या में भी बढ़ोतरी करने की योजना तैयार की गई है। जिससे ज्यादा से ज्यादा मेट्रो ट्रेनों का रखरखाव और परिचालन के लिए इस्तेमाल किया जा सके।

क्षमता बढ़ने से क्या होगा फायदा :

बताते चलें, मुकुंदपुर में मौजूदा डिपो की क्षमता बढ़ने से मौजपुर-मजलिस पार्क और आरके आश्रम-जनकपुरी पश्चिम कॉरिडोर पर किसी भी आपात स्थिति में तत्काल मेट्रो उपलब्ध हो सकेगी। ऐसा होने से यात्रियों को स्टेशन पर कहीं भी जाने के लिए मेट्रो का इंतज़ार नहीं करना पड़ेगा। साथ ही मेट्रों में तकनीकी खराबी आने पर सेवाएं कम समय के लिए प्रभावित होंगी। बता दें, मुकुंदपुर डिपो में वर्तमान में 24 स्थिर लाइनें हैं, इनकी संख्या बढ़ने से यात्रियों को भी फायदा होगा। इनमें से 11 की लंबाई में बढ़ोतरी की जाएगी। जिससे पिंक लाइन के यात्रियों को सुविधा मिल सके। इसके अलावा बाकी की 13 स्थिर लाइनों से मैजेंटा लाइन की जरूरतें पूरी की जाएंगी।

निर्माण कार्य जारी :

प्राप्त जानकारी के अनुसार, विस्तारित डिपो में पिंक और मैजेंटा लाइन्स के लिए नए टेस्ट ट्रैक भी शामिल होंगे। वहीं, फेज-4 के तहत दिल्ली मेट्रो के तीन गलियारों मजलिस पार्क से मौजपुर (12.31 किमी), जनकपुरी पश्चिम पर नई लाइनों पर लगभग 65 किलोमीटर का विस्तार किया जा रहा है। आर के आश्रम मार्ग-जनकपुरी पश्चिम (29.26 किमी) और दिल्ली एयरोसिटी से तुगलकाबाद (23.62 किमी पर निर्माण कार्य जारी है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co