हरियाणा में एमएसएमई को बढ़ावा देने हेतु तीन ई-कामर्स कम्पनियों से करार
हरियाणा में एमएसएमई को बढ़ावा देने हेतु तीन ई-कामर्स कम्पनियों से करारSocial Media

हरियाणा में एमएसएमई को बढ़ावा देने हेतु तीन ई-कामर्स कम्पनियों से करार

हरियाणा सरकार ने राज्य में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (एमएसएमई) और हुनरमंदों को बढ़ावा देने तथा इन्हें बाजार मुहैया कराने के निये ई-कामर्स क्षेत्र की तीन बड़ी कम्पनियों के साथ आज करार किया।

राज एक्सप्रेस। हरियाणा सरकार ने राज्य में सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्योग (एमएसएमई) और हुनरमंदों को बढ़ावा देने तथा इन्हें बाजार मुहैया कराने के निये ई-कामर्स क्षेत्र की तीन बड़ी कम्पनियों के साथ आज करार किया। इस अवसर पर राज्य के उपमुख्यमंत्री दुष्यंत चौटाला, एमएसएमई विभाग के महानिदेशक विकास गुप्ता, उद्योग एवं वाणिज्य विभाग के प्रधान सचिव विजयेंद्र कुमार और तथा ई-कामर्स कम्पनियों ईबे, पॉवर टू एसएमई और ट्रेड इंडिया डॉट कॉम के प्रतिनिधि भी उपस्थित थे। करार पर श्री गुप्ता और सम्बंधित कम्पनियों के प्रतिनिधियों ने हस्ताक्षर किये।

श्री चौटाला ने इस अवसर पर अपने सम्बोधन में कहा कि ई-कामर्स कम्पनियों के साथ करार के माध्यम से राज्य के एमएसएमई और हुनरमंदों के उत्पादों को बढ़ावा, उचित कीमत और वैश्विक बाजार मिलेगा। इन उद्योगों के उत्पाद अब विश्व के किसी भी कोने में खरीदे जा सकेंगे। इससे निर्यात में भी वृद्धि होगी। उन्होंने कहा राज्य सरकार का मुख्य ध्यान प्रदेश में उद्यमशीलता को बढ़ावा देने, समावेशी और संतुलित क्षेत्रीय विकास को बढ़ाने पर है। राज्य के दूरदराज के हिस्सों में रहने वाले पारम्परिक कारीगरों की पहुंच अब सीमित नहीं रहेगी, बल्कि बिक्री बढऩे से उन्हें अच्छी आमदनी भी होगी। इन एमओयू से नए उद्यमियों के लिए भी अवसर पैदा होंगे।

श्री विजयेंद्र कुमार ने इस अवसर पर कहा कि एमएसएमई इस समय किसी भी अर्थव्यवस्था की रीढ़ बनते जा रहे हैं। सरकार प्रदेश के दो लाख से अधिक एमएसएमई के वर्तमान पारिस्थितिकी तंत्र को और अधिक मजबूत बनाने के लिए प्रतिबद्ध है। वर्तमान प्रतिस्पर्धात्मक युग में एमएसएमई के लिए यह महत्वपूर्ण है कि वह नए और रणनीतिक तरीके अपनाएं। ई-कॉमर्स में एमएसएमई को नये बाजार तक पहुंचने की क्षमता है।

श्री गुप्ता ने कहा कि एमएसएमई निदेशालय अपने उद्यमियों की हरसम्भव सहायता कर रहा है ताकि उद्यमी को अपने उद्यम से जहां अच्छी आमदनी प्राप्त कर सकें वहीं अधिकाधिक युवाओं को भी रोजगार हासिल हो। करार के उपरांत ये ई-कॉमर्स कम्पनियां उद्यमियों को ई-कॉमर्स के लाभ, उनके उत्पादों को ऑनलाइन सूचीबद्ध करने के लिए सभी जिलों में प्रशिक्षण एवं कार्यशालाएं आयोजित करेंगी। समझौते पर हस्ताक्षर के समय 'ई.बे' के इंडिया कंट्री मैनेजर विदमय नैनी, 'पॉवर-टू-एसएमई' की वरिष्ठ उपाध्यक्ष सुधा सरीन तथा 'ट्रेड इंडिया डॉट कॉम' के मुख्य राजस्व अधिकारी जिल-ए-इलाही भी मौजूद थे।

डिस्क्लेमर : यह आर्टिकल न्यूज एजेंसी फीड के आधार पर प्रकाशित किया गया है। इसमें राज एक्सप्रेस द्वारा कोई संशोधन नहीं किया गया है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

AD
No stories found.
Raj Express
www.rajexpress.co