Raj Express
www.rajexpress.co
Air India-BPCL Sale
Air India-BPCL Sale|Kavita Singh Rathore -RE
अर्थव्यवस्था

सरकार ने लिया Air India और BPCL कंपनियों से जुड़ा बड़ा फैसला

सरकार ने सरकारी खजाने में बढ़ोतरी करने के मकसद से Air India और BPCL कंपनियों से जुड़ा एक अहम फैसला लिया है, जिसकी तैयारियां जोरों पर हैं और मार्च 2020 तक पूरी हो जाएंगी।

Kavita Singh Rathore

Kavita Singh Rathore

हाइलाइट्स :

  • वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार को की घोषणा

  • सरकार ने लिया 2 सरकारी कंपनियों से जुड़ा बड़ा फैसला

  • Air India और पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड के नाम शामिल

  • मार्च 2020 तक बेचने की प्रक्रिया पूरी

राज एक्सप्रेस। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने शनिवार यानि 17/11/19 को Air India और ऑयल मार्केटिंग कंपनी से जुड़ी घोषणा की है, जिसमें उन्होंने बताया कि, सरकार देश की सरकारी एयरलाइन कंपनी Air India और ऑयल मार्केटिंग कंपनी (OMC) भारत पेट्रोलियम कॉर्पोरेशन लिमिटेड (BPCL) को बेचने की प्रक्रिया मार्च 2020 तक पूरी कर लेगी। निर्मला सीतारमण दोनों ही कंपनी का साल की शुरुआत तक पूरा होने की उम्मीद जताई है। जिससे सरकारी खजाने को लाभ होगा।

खबरों के अनुसार :

खबरों के अनुसार, वित्त मंत्री सीतारमण ने कहा, 'Air India कंपनी के बिकने से पहले ही खरीदारों में काफी निवेश करने को लेकर उत्साह दिखाई दे रहा है। हालांकि पिछले साल तक ऐसे उत्साह नहीं देखने को मिला, जिसके चलते Air India कंपनी बिक नहीं सकी, लेकिन इस बार यह डील उम्मीदों पर खरी उतरेगी। सरकार के सामने आर्थिक सुस्ती से निपटने का यही रास्ता था, जिसके लिए कंपनी ये कदम उठाने जा रही है, हालांकि कंपनी का यह कदम उठाना उचित साबित होने की उम्मीद जताई जा रही है।

क्यों लेना पड़ा ऐसा फैसला :

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि, सरकार ने इन दोनों कंपनियों को बेचने का फैसला इसी वित्त वर्ष आयकर संग्रह की गिरावट को देखते हुए लिया है। सरकार का लक्ष्य विनिवेश और स्ट्रैटजिक सेल के द्वारा रेवेन्यू जुटाना है। सरकार का मानना है कि, इन दोनों कंपनियों के बिक जाने से सरकारी खजाने में इस वित्त वर्ष में 1 लाख करोड़ रुपये तक की बढ़ोतरी हो जाएगी।

वित्त मंत्री का कहना :

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा, देश में चल रही आर्थिक सुस्ती को लेकर सरकार उचित कदम उठा रही है, जिससे कई क्षेत्र इस सुस्ती से बाहर निकलने में कामयाब भी हो रहे हैं। इसके अलावा उन्होंने कई कंपनियों की बैलेंस शीट का उदाहरण देकर बताया, कई उद्योगों से कहा गया है कि, वह अपनी बैलेंस शीट में सुधार लाये और बहुत से उद्योग तो किसी नए निवेश की तैयारी में जुटे हैं।

GST कलेक्शन से आएगा सुधार :

वित्त मंत्री ने जीएसटी कलेक्शन (GST Collection) को लेकर उम्मीद जताई है, उनका मानना है कि, इस बार कुछ क्षेत्रों में हुए सुधार के द्वारा जीएसटी कलेक्शन में बढ़ोतरी होगी, जिससे फायदा होगा। वहीं किये गए सुधारों द्वारा टैक्स कलेक्शन बढ़ने की भी उम्मीद है। वित्त मंत्री ने यह भी कहा, सुप्रीम कोर्ट के द्वारा लिए एस्सार स्टील मामले के फैसले में भी यही कहा गया है कि, काफी सुधार देखने को मिला है। उम्मीद है कि, अगली तिमाही में इसका प्रभाव बैंकों की बैलेंस शीट पर भी देखने को मिलेगा।

त्यौहार के सीजन में हुआ फायदा :

हाल ही में त्यौहार का महीना गया है, ज्यादातर लोग त्यौहारों के दौरान ही घर या कार जैसी वस्तुएं लेने की सोचते हैं, जिसके लिए उन्हें लोन की जरूरत होती है, जिसके चलते त्यौहार के सीजन में बैंकों ने 1.8 लाख करोड़ तक का लोन दिया है। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि,

"लोगों में बदलाव आया है, क्योंकि त्योहारों के दौरान बैंकों ने 1.8 लाख करोड़ का लोन बांटा है। अगर कंज्यूमर्स की आर्थिक स्थिति पटरी पर न होती तो वे बैंकों से लोन लेने के बारे में विचार ही क्यों करते? और ऐसा पूरे देश में है।"

निर्मला सीतारमण, वित्त मंत्री

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।