अर्थव्यवस्था में रिकवरी के संकेत, मूडीज ने जीडीपी फॉरकास्ट में किया सुधार
मूडीज ने जीडीपी फॉरकास्ट में किया सुधारNeelesh Singh Thakur – RE

अर्थव्यवस्था में रिकवरी के संकेत, मूडीज ने जीडीपी फॉरकास्ट में किया सुधार

ग्लोबल रेटिंग एजेंसियां भारतीय अर्थव्यवस्था में तेज रिकवरी से संकेत देख रही हैं। तमाम रेटिंग एजेंसियों का कहना है कि इस वित्त वर्ष के दूसरी छमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था में रिकॉर्ड तेजी आएगी।

राज एक्सप्रेस। ग्लोबल रेटिंग एजेंसियां भारतीय अर्थव्यवस्था में तेज रिकवरी से संकेत देख रही हैं। ग्लोबल रिसर्च फर्म और रेटिंग एजेंसी गोल्डमैन सॉक्स के बाद एक और ग्लोबल रेटिंग एजेंसी मूडीज ने भी वित्तीय वर्ष 2021 के लिए भारत के जीडीपी फॉरकास्ट में सुधार किया है। मूडीज ने वित्त वर्ष 2021 के लिए भारत के इकोनॉमिक ग्रोथ के आंकलन को सुधारते हुए इंडियन इकोनॉमी में माइनस 10.6 फीसदी ग्रोथ का अनुमान लगाया है। सितंबर में एजेंसी ने भारतीय अर्थव्यवस्था में -11.5 फीसदी गिरावट आने का अनुमान लगाया था। मूडीज ने वित्त वर्ष 2021-22 के लिए जीडीपी ग्रोथ का अनुमान 10.8 फीसदी लगाया है। एजेंसी की कहना है कि अगले साल भारतीय अर्थव्यवस्था 10.8 फीसदी रफ्तार से विकास करेगी। मूडीज ने सितंबर में वर्ष 2021-22 के लिए जीडीपी ग्रोथ का अनुमान 10.6 फीसदी लगाया था। मूडीज ने जीडीपी फॉरकास्ट में यह सुधार केंद्र सरकार द्वारा तीसरे राहत पैकेज की घोषणा के बाद किया है। मूडीज ने कहा, पिछले सप्ताह मोदी सरकार द्वारा 265,000 करोड़ रुपए के राहत पैकेज से देश के मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर में सुधार आएगा और यह तेजी से ग्रोथ करेगा। एजेंसी ने कहा कि सरकार द्वारा 10 सेक्टर्स के लिए पीएलआई स्कीम शुरू करने से भी मैन्युफैक्चरिंग सेक्टर को मजबूती मिलेगा जो देश के जीडीपी में 15 फीसदी से अधिक योगदान देता है।

इस वजह से किया जीडीपी में सुधार :

तमाम रेटिंग एजेंसियों का कहना है कि इस वित्त वर्ष के दूसरी छमाही में भारतीय अर्थव्यवस्था में रिकॉर्ड तेजी आएगी। अक्टूबर में जहां परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स ग्रोथ के मामले में 13 साल का रिकॉर्ड तोड़ते हुए 58 अंक तक पहुंच गया, वहीं छह महीने में पहली बार सिंतबर में इंडस्ट्रियल प्रोडक्शन इंडेक्स में 0.2 फीसदी की तेजी देखने को मिली। मूडीज से पहले रेटिंग एजेंसी गोल्डमैन सॉक्स ने वित्तीय वर्ष 2021 के लिए भारत के जीडीपी फॉरकास्ट में सुधार करते हुए इंडियन इकोनॉमी में माइनस 10.3 फीसदी ग्रोथ का अनुमान लगाया था। जबकि, सितंबर में एजेंसी ने भारतीय अर्थव्यवस्था में -14.8 फीसदी गिरावट आने का अनुमान लगाया था। गोल्डमैन सॉक्स ने अपनी रिपोर्ट में कहा था कि अगले वित्त वर्ष यानी 2021-22 में जीडीपी में 13 फीसदी सुधार आने का अनुमान लगाया है। इससे पहले सितंबर में एजेंसी ने कहा कि था अगले वित्त वर्ष में भारत की जीडीपी में 10.9 फीसदी का सुधार आएगा। रेटिंग एजेंसी गोल्डमैन सॉक्स का कहना है कि अगले वित्त वर्ष में भारतीय अर्थव्यवस्था दुनिया में सबसे तेजी से ग्रोथ करेगी।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co