त्यौहोरों में हवाई किराए में होने वाली बेहिसाब बढ़ोतरी पर अंकुश लगाने का प्रयास जरूरीः संसदीय समिति

फेस्टिव सीजन के शुरू होने के साथ ही हवाई सफर भी महंगा हो जाता है। इसकी वजह से आम लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है।
Standing Committee of Parliament said that air fares should be controlled
Standing Committee of Parliament said that air fares should be controlled Raj Express

हाईलाइट्स

  • फेस्टिव सीजन शुरू होने से पहले महंगा हो जाता है हवाई किराया

  • हवाई-किरायों की अधिकतम सीमा तय करने का प्रस्ताव किया

  • किराया नियंत्रित करने के लिए एक अलग यूनिट स्थापित करनी होगी

राज एक्सप्रेस। फेस्टिव सीजन के शुरू होने के साथ ही हर साल हवाई सफर भी महंगा हो जाता है। फ्लाइट की टिकट महंगा होने की वजह से आम जनता को काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है। इस परेशानी को लेकर संसदीय पैनल ने हवाई-किरायों की अधिकतम सीमा तय करने का प्रस्ताव किया है। संसद की स्थायी समिती ने परिवहन, पर्यटन और संस्कृति पर पेश अपनी रिपोर्ट में कहा है कि त्यौहोरों के दौरान हवाई किराए में होने वाली बेहिसाब बढ़ोतरी पर अंकुश लगाने का प्रयास किया जाना चाहिए।

बता दें कि हवाई टिकटों की कीमतों को नियंत्रित करने के लिए संसदीय समिति एक अलग यूनिट स्थापित करने की योजना बना रही है। समिति ने सुझाव दिया कि मंत्रालय विमान नियम, 1937 के नियम 13 (1) का अनुपालन सुनिश्चित करने के लिए एक तंत्र तैयार कर सकता है। समिति ने कहा कि फ्लाइट टिकट की कीमतों को लेकर अभी नागरिक उड्डयन मंत्रालय द्वारा कोई अहम फैसला नहीं लिया गया है।

संसदीय समिति की रिपोर्ट में उदाहरण देकर बताया गया है कि कैसे त्योहारी सीजन में विमानन कंपनियां अपने किराए में बेतहाशा बढ़ोतरी कर देती हैं। संसदीय समिति एक तंत्र विकसित करने का सुझाव दिया है, जिसके तहत हवाई किराए को विनियमित करने का अधिकार डीजीसीए को दिया जाएगा। सरकार हवाई किराए को विनियमित नहीं कर सकती है।

संसदीय समिति ने हवाई किराए को नियंत्रित करने के लिए अर्ध-न्यायिक शक्तियों के साथ एक अलग इकाई बनाने का सुझाव दिया है। समिति ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि एयरलाइंस और ग्राहकों दोनों के हितों को ध्यान में रखा जाना जरूरी है। समिति ने कहा है कि एयरलाइंस को राजस्व प्रबंधन और वाणिज्यिक हितों को प्राथमिकता देने के साथ ही यात्रियों की सुविधा का भी ध्यान दिया जाना चाहिए।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

और खबरें

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co