Elon Musk ने लगाया Twitter पर रिश्वत देने का आरोप
Elon Musk ने लगाया Twitter पर रिश्वत देने का आरोपSyed Dabeer Hussain - RE

Elon Musk ने लगाया Twitter पर रिश्वत देने का आरोप, व्हिसलब्लोअर को चुप रहने के दिए गए पैसे

ऐसा लग रहा है कि, Elon Musk की मुश्किलें खत्म होकर Twitter की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। क्योंकि, Elon Musk के वकील ने दलील पेश करते हुए Twitter पर व्हिसलब्लोअर को चुप रहने के पैसे देने का आरोप लगाया है।

राज एक्सप्रेस। आज दुनियाभर में सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाला बहुचर्चित माइक्रो ब्लॉगिंग साइट Twitter बन चुका है, इसके बावजूद भी Elon Musk ने Twitter को 44 अरब डॉलर की डील खरीदने से मना कर दिया था। इसके बाद तो मानों उनकी मुश्किलें दिन प्रतिदिन बढ़ती ही गई। हालांकि, अब ऐसा लग रहा है कि, Elon Musk की मुश्किलें खत्म होकर Twitter की मुश्किलें बढ़ सकती हैं। क्योंकि, Elon Musk के वकील ने उनकी तरफ से दलील पेश करते हुए Twitter पर व्हिसलब्लोअर को चुप रहने के लिए पैसे देने का आरोप लगाया है।

Elon Musk ने लगाया Twitter पर रिश्वत देने का आरोप :

दरअसल, पिछले दिनों माइक्रो ब्लॉगिंग साइट Twitter ने इलेक्ट्रिक वाहन कंपनी Tesla के मालिक Elon Musk की मुश्किलें जम कर बढ़ाई हैं, लेकिन अब ऐसा लग रहा है जैसे Elon Musk बदला लेने के मूड में हैं। शायद इसलिए ही Elon Musk ने Twitter से जारी इस कानूनी जंग में बड़ा दांव खेलते हुए Twitter पर रिश्वत देने का आरोप लगाया है। जी हां, Elon Musk के वकील का कहना है कि Twitter ने एक व्हिसलब्लोअर को चुप रहने के लिए 70 लाख डॉलर का भुगतान किया था। बता दें, यह व्हिसलब्लोअर वही है जिसनें Twitter की परिचालन समस्याओं को लेकर सवाल उठाए थे।

Twitter ने ख़ारिज किये आरोप :

प्राप्त जानकारी के अनुसार, Twitter डील को लेकर 6 सितंबर को कोर्ट में हुई सुनवाई के दौरान Elon Musk के वकील एलेक्स स्पिरो ने कोर्ट को बताया कि, 'Twitter द्वारा एक व्हिसलब्लोअर पीटर जाटको को चुप रहने के लिए 70 लाख डॉलर का भुगतान किया गया है। इस मामले की पुष्टि कुल परिचित लोगों ने की है। पुष्टि करने वालो ने बताया है कि, वह पैसा जाटको को देने के लिए ही था। हालांकि, Twitter की तरफ से केस लड़ रहे वकील ने Musk के वकील द्वारा लगाए गए इस आरोप को झूठा बताया है। साथ ही कहा है कि, Twitter द्वारा कंपनी के पूर्व सुरक्षा अधिकारी जाटको को कोई भुगतान किया है।

सामने आई रिपोर्ट :

गौर करने वाली बात यह भी है कि, वॉल स्ट्रीट जर्नल में गुरुवार को इस लेने-देन से जुड़ी एक रिपोर्ट सामने आई थी। इस रिपोर्ट में कुछ ऐसा बताया गया है कि, व्हिसलब्लोअर पीटर जाटको के ट्विटर छोड़ने के बाद उन्हें एक रकम दी गई है। उन्हें दी गई यह रकम मुआवजे से संबंधित है और वह एक समझौते का हिस्सा थी। इस सौदे ने जाटको को सार्वजनिक रूप से बोलने नहीं दिया।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
| Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co