Alon Musk with sam altmas and ilya Sutkeshwar of OpenAI
Alon Musk with sam altmas and ilya Sutkeshwar of OpenAI Raj Express

सैम आल्टमैन को ओपनएआई से निकलवाने वाले इल्या सुतकेश्वर को मस्क ने की नौकरी की पेशकश

ओपनएआई के मुख्य वैज्ञानिक और सह-संस्थापक इल्या सुतस्केवर को एलोन मस्क की टेस्ला और एक्सएआई में नौकरी की पेशकश की गई है।

हाईलाइट्स

  • उन्होंने टोरंटो विश्वविद्यालय में कंप्यूटर विज्ञान का अध्ययन किया है।

  • विश्वविद्यालय से उन्होंने 2013 में जेफ्री हिंटन की देखरेख में पीएच.डी. की।

  • टोरंटो विवि में प्राध्यापक जेफ्री हिंटन को एआई का गॉडफादर माना जाता है।

राज एक्सप्रेस। ओपनएआई के मुख्य वैज्ञानिक और सह-संस्थापक इल्या सुतस्केवर को एलोन मस्क की टेस्ला और एक्सएआई में नौकरी की पेशकश की गई है। आपको बता दें कि सुटस्केवर वही व्यक्ति हैं, जिन्होंने बोर्ड सदस्यों को सैम ऑल्टमैन को नौकरी से निकालने के लिए प्रेरित किया। हालांकि, बाद में उन्होंने अपने फैसले पर पछतावा जताया था। ऑल्टमैन ने इस घटनाक्रम के ठीक 5 दिन बाद ही फिर से ओपनएआई के सीईओ के रूप में कंपनी से जुड़ गए थे। एक्स पर होल मार्स कैटलॉग हैंडल वाले एक उपयोगकर्ता ने एक समाचार के शीर्षक का स्क्रीनशॉट साझा किया।

मस्क बोले इल्या टेस्ला या एक्सएआई के साथ जुड़ें

इस स्क्रीन शॉट में लिखा था-ओपनएआई के सह-संस्थापक इल्या सुतस्केवर कंपनी में अदृश्य हो गए हैं। कंपनी के अंदरूनी सूत्रों के अनुसार उनका भविष्य अनिश्चित है। उन्होंने स्क्रीनशॉट के साथ यह कैप्शन दिया, इल्या को टेस्ला में काम करना चाहिए!। इस पोस्ट पर टिप्पणी करते हुए, टेस्ला के सीईओ एलॉन मस्क ने लिखा, मैं इस पक्ष में हूं कि इल्या टेस्ला या एक्सएआई के साथ जुड़ें। ऑल्टमैन ने दोबारा सीईओ के रूप में ओपेनएआई के साथ जुड़ने के बाद कहा था कि उनके और सुतस्केवर के बीच कोई मनमुटाव नहीं है।

आल्टमैन ने कहा मेरे - इल्या के बीच कोई विवाद नहीं

ऑल्टमैन ने कहा, मैं इल्या से प्यार करता हूं और उसका सम्मान करता हूं। उन्होंने आगे कहा मुझे लगता है कि वह इस क्षेत्र में मार्गदर्शक प्रकाश की तरह है। वह इंसान के रूप में एक रत्न है। मेरे मन में उसके प्रति कोई दुर्भावना नहीं है। सैम आल्टमैन ने कहा हालाँकि इल्या अब बोर्ड में काम नहीं करेगा, लेकिन हमें पूरी उम्मीद है कि हमारे बीच कामकाजी संबंध जारी रहेंगे। हम उन बिंदुओं पर बातचीत कर रहे हैं, जिन पर वह ओपनएआई के साथ जुड़े रहने पर सहमत हो सकते हैं। ओपेनएआई के अध्यक्ष और सह-संस्थापक ग्रेग ब्रॉकमैन ने भी ऑल्टमैन के जाने के बाद कंपनी छोड़ दी है।

कंपनी में तख्तापलट के समय चर्चा में आए थे इल्या

ग्रेग ब्रॉकमैन ने दोबारा कंपनी में ज्वाइन करने के बाद सुतस्केवर के साथ एक तस्वीर पोस्ट कर यह संकेत दिया कि अब उनके बीच कोई विवाद नहीं है। इस पूरे घटनाक्रम से परिचित लोग शुरू से यह जान रहे थे कि ओपनएआई बोर्ड में हाल ही में हुए तख्तापलट के पीछे सुतस्केवर का दिमाग था। हालाँकि, बाद में सुतस्केवर ऑल्टमैन को कंपनी से बाहर करने में अपनी भूमिका के लिए खेद व्यक्त किया। उन्होंने एक्स (जिसे पहले ट्विटर के नाम से जाना जाता था) पर लिखा, मुझे बोर्ड के कार्यों में अपनी भागीदारी पर गहरा अफसोस है। मेरा कभी भी ओपेनएआई को कभी भी नुकसान पहुँचाने का इरादा नहीं था।

सुतस्केवर ने इस पूरे घटनाक्रम पर जताया अफसोस

सुतस्केवर ने इस पूरे घटनाक्रम पर अफसोस जताते हुए कहा कि वह सब कुछ पसंद है, जो हमने मिलकर बनाया है और मैं कंपनी को फिर से एकजुट करने के लिए हर संभव प्रयास करूंगा। हाल के दिनों में क्या हुआ इसे भुलाकर हम सब मिलकर कंपनी को एक नई ऊंचाई पर ले जाने का प्रयास करेंगे। उन्होंने 500 ओपनएआई कर्मचारियों के साथ मिलकर एक पत्र पर हस्ताक्षर किए, जिसमें कहा गया था कि अगर लैम ऑल्टमैन को फिर से कंपनी में पूर्व स्थिति पर बहाल नहीं किया गया, तो वे ओपनएआई छोड़ कर माइक्रोसॉफ्ट में शामिल हो सकते हैं।

इल्या ने चैटजीपीटी को आकार देने में निभाई बड़ी भूमिका

ओपन एआई में सैम आल्टमैन को निकालने के बाद पैदा हुए विवाद में इल्या सुतकेश्वर का नाम चर्चा में आया, जिन्हें पहले ज्यादा लोग नहीं जानते थे। जो लोग अब भी इल्या सुतकेश्वर को ठीक से नहीं जानते, उन्हें बता दें कि वह ओपेनएआई के सह-संस्थापक और पूर्व बोर्ड निदेशक हैं। सुतस्केवर उन प्रमुख वैज्ञानिकों में से एक हैं, जिन्होंने चैटजीपीटी को आकार देने में अहम भूमिका निभाई थी। उन्होंने टोरंटो विश्वविद्यालय में कंप्यूटर विज्ञान का अध्ययन किया है। इस विश्वविद्यालय से उन्होंने 2013 में जेफ्री हिंटन की देखरेख में अपनी पीएच.डी. पूरी की। बता 9दें कि जेफ्री हिंटन को आर्टिफिशियल इंटेलीजेंस (एआई) का गॉडफादर माना जाता है।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co