एम्के वेल्थ मैनेजमेंट ने दी अपने निवेश का 30% तक विदेशी शेयरों में लगाने की सलाह
एम्के वेल्थ मैनेजमेंट ने दी सलाहSocial Media

एम्के वेल्थ मैनेजमेंट ने दी अपने निवेश का 30% तक विदेशी शेयरों में लगाने की सलाह

वैश्विक स्तर पर बढ़ रही महंगाई के बीच सम्पत्ति प्रबंधन एवं सलाहकार सेवा कंपनी एम्के वेल्थ मैनेजमेंट ने अपने निवेश का 30% तक विदेशी शेयरों में लगाने की सलाह दी है।

राज एक्सप्रेस। भले ही देश के हालत कोरोना के बाद और ज्यादा ख़राब हुए हो, लेकिन आज देश में मंगाई बहुत ज्यादा बढ़ गई है। यही हाल वैश्विक स्तर पर भी है। इसी बीच सम्पत्ति प्रबंधन एवं सलाहकार सेवा कंपनी एम्के वेल्थ मैनेजमेंट ने अपने निवेश का 30% तक विदेशी शेयरों में लगाने की सलाह दी है।

एम्के ने दी सलाह :

वैश्विक स्तर पर मुद्रास्फीति के बढ़ते दबाव और खास कर अमेरिका के फेडरल रिजर्व द्वारा बाजार में नकदी डालने की रफ्तार कम किए जाने के बीच सम्पत्ति प्रबंधन एवं सलाहकार सेवा कंपनी एम्के वेल्थ मैनेजमेंट ने उच्च सम्पत्ति वाले निवेशकों को शेयरों में अपने निवेश का 30% तक विदेशी शेयरों में लगाने की सलाह दी है। एम्के का कहना है कि, 'निवेशक एक्सचेंज ट्रेडेड फंड योजनाओं (ETF) और म्यूचुअल फंड के माध्यम से भारत में भी विदेशी शेयरों की खरीद कर सकते हैं। एम्के वेल्थ मैनेजमेंट वैश्विक कंपनी एम्के ग्लोबल फाइनेंशियल की अनुषंगी है।'

कंपनी के CEO का कहना :

कंपनी के CEO भवेश सांघवी ने बुधवार को मीडिया से हुई आनलाइन बातचीत के दौरान कहा है कि, 'भारत में वेल्थ-मैनेजमेंट के बाजार में पश्चिमी बाजारों की झलकी है। हम विदेशों में निवेश की संभावनाओं को लेकर उत्साहित हैं, हम उच्च औसत प्रतिफल के लिए निवेशकों को शेयरों में निवेश किए जाने वाले उनकी सम्पत्ति का 30% विदेशी शेयरों में लगाने की सलाह देते हैं। ETO और म्यूचुअल फंड के जरिए विदेशी शेयर भारत में भी खरीदे जा सकते हैं।'

अनुसंधान प्रमुख का कहना :

एम्के (Emkay) वेल्थ मैनेजमेंट के अनुसंधान प्रमुख डॉ जोसफ के थॉमस का कहना है कि, 'इसमें कोई दो राय नहीं कि मुद्रास्फीति बढऩे के कारण दुनियाभर में ब्याज दरें बढ़ेंगी। इस लिए भारतीय बाजार में शेयर सम्पत्तियों के वर्तमान ऊंचे मूल्याकन के और मुद्रास्फीति के अलावा वैश्विक स्तर पर तरलता (बाजार में कर्ज के लिए नकद धन) का प्रवाह कम करने से उथल- पुथल की चुनौती बढ़ने का खतरा है। कंपनी इस समय नौ शहरों में 1000 ग्राहकों को सम्पत्ति प्रबंधन की सलाह दे रही है और 2000 करोड़ रुपये से अधिक के निवेश का प्रबंध करती है।'

एम्के के अधिकारियों ने दी जानकारी :

एम्के के अधिकारियों द्वारा दी गई जानकारी में कहा गया है कि, 'भारत में मध्य वर्ग और उच्च मध्य वर्ग के लोगों की संख्या में उत्तरोत्तर बढ़ोतरी हो रही है और देश में 1100 अरब डालर के बराबर की सम्मत्ति का निवेश सम्पत्ति प्रबंध सलाहकारों की सक्रिय सेवाओं के साथ किया जा रहा है। भारत सम्पत्ति प्रबंध सलाहकार सेवा का दूसरा सबसे तेजी से बढ़ता बाजार है। एक रपट के अनुसार अगले पांच साल में भारत में तीन करोड़ डारल से अधिक की सम्पत्ति बाले अति धनाड्य (UHNI) की संख्या 63 प्रतिशत बढ़ कर 11,198 तक पहुंच सकती है।'

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co