इस महीने GST कलेक्शन का 1 लाख करोड़ रुपए के पार रहने का अनुमान
इस महीने GST कलेक्शन का 1 लाख करोड़ रुपए के पार रहने का अनुमानSocial Media

इस महीने GST कलेक्शन का 1 लाख करोड़ रुपए के पार रहने का अनुमान

देश में कोरोना की दूसरी लहर ने लगातार आतंक मचा रखा है इसी बीच लगातार सातवें महीने वस्तु एवं सेवा कर (GST) कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपए के पार रहने का अनुमान लगाया गया है।

राज एक्सप्रेस। देश में कोरोना के चलते हुए लॉकडाउन से भारत की अर्थव्यवस्था काफी बिगड़ गई है। हालांकि, भारतीय अर्थव्यवस्था में पहले से काफी सुधार देखने को मिला था। इस बात का अंदाजा साल के तीसरे महीने में वित्त मंत्रालय द्वारा जारी किए गए गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) कलेक्शन के आंकड़ों से लगाया जा सकता था। उस समय जारी किए गए आंकड़ों के अनुसार, GST कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपए से ऊपर रहा था। वहीं, अब इस महीने GST कलेक्शन का आंकड़ा 1 लाख करोड़ रुपए के पार रहने का अनुमान लगाया गया है।

इस महीने में GST कलेक्शन का अनुमान :

दरअसल, देश में कोरोना की दूसरी लहर ने लगातार आतंक मचा रखा है इसी बीच लगातार सातवें महीने वस्तु एवं सेवा कर (GST) कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपए के पार रहने का अनुमान लगाया गया है। खबरे तो यह भी है कि इस महीने में GST कलेक्शन 1.15 से 1.20 लाख करोड़ रुपए तक हो सकता है। ऐसा अनुमान इसलिए लगाया गया है क्योंकि, अक्टूबर 2020 से अब तक के हर महीने में GST कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा ही रहा है।

SBI की रिपोर्ट :

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया (SBI) द्वारा जारी की गई रिपोर्ट के अनुसार, देश में बढ़ रहे कोरोना के मामलों के बाद भी आर्थिक गतिविधियां जारी हैं। इसलिए, GST कलेक्शन पर कुछ खास असर नहीं पड़ेगा। जबकि, मार्च में अब तक का पिछले साढ़े तीन सालों में सबसे ज्यादा GST कलेक्शन हुआ था। जो कि, 1.24 लाख करोड़ रुपए रहा था। इस रिपोर्ट अप्रैल में राज्यों द्वारा किए गए लॉकडाउन का जिक्र भी किया गया है।

ई-वे बिल का आंकड़ा :

बताते चलें, इस साल शुरुआत में कोरोना के मामलों में कुछ कमी आई थी, इसके बाद मामलों में बढ़त दर्ज होने के बाद लॉकडाउन लागू कर दिया गया। इसके बाद भी 25 अप्रैल तक पूरे देश में ई-वे बिल का आंकड़ा 4.89 करोड़ तक पहुंच गया था। इन आंकड़ों को ध्यान में रखते हुए आज ई-वे बिल का आंकड़ा 5.5 करोड़ तक जाने का अनुमान लगाया गया है। इस मामले से जुड़ी रिपोर्ट में कहा गया है कि, 'अप्रैल 2021 में मनरेगा में काम करने वालों की संख्या में 92% का इजाफा हुआ है। कुल 2.57 करोड़ घरों ने काम किया है। 2013 के बाद यह किसी भी अप्रैल महीने में अब तक सबसे ज्यादा रहा है। अप्रैल 2020 में यह संख्या 1.34 करोड़ थी। ऐसा इसलिए हुआ क्योंकि शहरों से प्रवासी मजदूर गांवों की ओर जा रहे हैं।'

कलेक्शन में बढ़त दर्ज होने का कारण :

बताते चलें, GST कलेक्शन में केंद्र सरकार और राज्य सरकार का हिस्सा शामिल होता है। GST कलेक्शन में पहले नंबर पर महाराष्ट्र और दूसरे नंबर पर गुजरात है। वहीं, रिपोर्ट के अनुसार, GST कलेक्शन में बढ़त दर्ज होने के निम्नलिखित कारण है

  • फर्जी बिलों पर नजर रखना

  • डाटा का गहराई से विश्लेषण

  • ढेर सारे सोर्स से डाटा का उपयोग जिसमें GST

  • आईटी और कस्टम आईटी सिस्टम शामिल

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

No stories found.
Top Hindi News Bhopal,Trending, Latest viral news,Breaking News - Raj Express
www.rajexpress.co