EASA ने PIA पर लगे प्रतिबंध की अवधि 3 महीने के लिए बढ़ाई
European Union extends PIA ban for 3 monthsKavita Singh Rathore -RE

EASA ने PIA पर लगे प्रतिबंध की अवधि 3 महीने के लिए बढ़ाई

यूरोपीय संघ विमानन सुरक्षा एजेंसी (EASA) की तरफ से पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) पर प्रतिबंध लगा दिया था। वहीं, अब इस प्रतिबंध की को तीन महीने की अवधि के लिए बढ़ा दिया गया है।

पाकिस्तान। पाकिस्तान की सरकारी एयरलाइंस कंपनी पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइन्स (PIA) के पायलटों पर कई बार बैन लगाया जा चुका है। वहीं, अब इस बार PIA पर ही बैन लगने से जुड़ी खबर सामने आई है। जबकि, हाल ही में खबर सामने आई थी कि, 188 देशों द्वारा PIA पर बैन लगाया जा सकता है। इनमें से यूरोपीय संघ विमानन सुरक्षा एजेंसी (EASA) की तरफ से कंपनी पर लगाए बैन की अवधि को बढ़ा दिया गया है।

PIA पर लगा प्रतिबंध :

दरअसल, यूरोपीय संघ विमानन सुरक्षा एजेंसी (EASA) की तरफ से जुलाई में सुरक्षा का हवाला देते हुए पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) पर प्रतिबंध लगा दिया था। वहीं, अब इस प्रतिबंध को तीन महीने की अवधि के लिए बढ़ा दिया गया है। इस बारे में शनिवार को EASA ने जानकारी साझा करते हुए बताया था कि, 'नागरिक उड्डयन प्राधिकरण (CAA) की सुरक्षा ऑडिट के बाद पीआईए पर लगा प्रतिबंध हटा लिया जाएगा। बता दें, EASA ने जुलाई में यूरोपीय संघ के सदस्य राज्यों में PIA की फ्लाइट्स पर प्रतिबंध लगा दिया था।

पाकिस्तान के उड्डयन मंत्री ने बताया :

इस बारे में पाकिस्तान के उड्डयन मंत्री गुलाम सरवर खान ने बताया था कि, 'वाणिज्यिक पायलटों को लाइसेंस जारी करने की प्रक्रिया के बारे में ईएएसए की ज्यादातर चिंताओं को निपटा दिया गया है और जल्द ही यूरोपीय देशों में यूरोपीय संघ विमानन सुरक्षा एजेंसी (EASA) द्वारा उड़ानों पर लगाए गए प्रतिबंध को हटा दिया जाएगा।' जबकि इस बारे में PIA के एक वरिष्ठ अधिकारी का कहना था कि, 'एयरलाइन द्वारा किए गए अनुरोध के जवाब में PIA को एक निराशाजनक जवाब मिला है।' उन्होंने बताया कि, 'राष्ट्रीय वाहक ने यूरोपीय एजेंसी से अनुरोध किया था कि, उसकी शर्तों को पूरा करने तक उसे यूरोपीय स्थलों से उड़ानों के संचालन के लिए अपनी अस्थायी अनुमति दी जाए।'

गौरतलब है कि, हाल ही में PIA के पायलट लाइसेंस से जुड़ा घोटाला और अंतरराष्ट्रीय नागरिक उड्डयन संगठन (ICAO) द्वारा निर्धारित अंतरराष्ट्रीय मानकों का पालन नहीं करने से जुड़ी खबरें सामने आईं थीं। इन खबरों के सामने आने के बाद पाकिस्तान की एयरलाइन्स पर कई देशों ने इस तरह की कार्रवाई करने की बात कही थी। जबकि, तब भी ब्रिटेन और यूरोपियन यूनियन पाकिस्तान इंटरनेशनल एयरलाइंस (PIA) पर पहले ही बैन लगा चुके थे। बता दें, यूरोपीय संघ विमानन सुरक्षा एजेंसी (EASA) द्वारा लगाए गए इस प्रतिबंध के चलते PIA को भारी वित्तीय नुकसान उठाना पड़ रहा है।

ताज़ा ख़बर पढ़ने के लिए आप हमारे टेलीग्राम चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। @rajexpresshindi के नाम से सर्च करें टेलीग्राम पर।

Related Stories

Raj Express
www.rajexpress.co