EV vehicle
EV vehicle Raj Express

सन 2030 तक देश में ईवी उद्योग पकड़ेगा रफ्तार सालाना 1 करोड़ इलेक्ट्रक वाहनों की होगी बिक्री

देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की लोकप्रियता बहुत तेजी से बढ़ रही है। मौजूदा साल के पहले 11 माह में देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री में 50 फीसदी वृद्धि देखने को मिली है।

हाईलाइट्स

  • भारत के ईवी बाजार में सबसे ज्यादा 75 फीसदी हिस्सेदारी टाटा मोटर्स की है।

  • टाटा मोटर्स की सबसे सस्ती ईवी अगले माह जनवरी2024 में लांच करने की तैयारी है।

  • हुंडई इंडिया भी अगले साल की शुरुआत में ही अपना ईवी मॉडल लाच करने वाली है।

  • महिंद्रा एंड महिंद्रा की भी अपनी इलेक्ट्रिक कार 2024 में लांच करने की योजना है।

  • किया मोटर्स भारत में अपनी पहली एसयूवी 2025 की शुरुआत में लांच करने वाली है।

राज एक्सप्रेस । देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की लोकप्रियता बहुत तेजी से बढ़ रही है। मौजूदा साल के पहले 11 माह में देश में इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री में 50 फीसदी वृद्धि देखने को मिली है। इस दौरान कुल 13.87 लाख वाहनों की बिक्री हुई है। हाल के दिनों में टाटा मोटर्स, हुंडई मोटर्स और किया जैसे दिग्गज वाहन निर्माताओं के साथ-साथ एक हजार से अधिक स्टार्टअप्स ईवी उद्योग के क्रांति-दूत के रूप में सामने आए हैं। इससे सड़क व राजमार्ग मंत्री नितिन गडकरी के उस अनुमान को बल मिलता है जिसमें उन्होंने कहा था कि 2030 तक भारत में सालाना एक करोड़ इलेक्ट्रिक वाहनों की बिक्री होगी।

ईवी के क्षेत्र में पिछले पांच सालों में हुई अच्छी तैयारी

पिछले पांच सालों में देश में इलेक्टि्रक वाहन (ईवी) उद्योग के लिहाज से अच्छी तैयारी देखने को मिली है। इस बीच किए गए अनेक अध्ययन यह बताते हैं कि देश अगले एक दशक में ईवी उद्योग के अहम वैश्विक केंद्र के रूप में उभरने वाला है। नई दिल्ली में पिछले सप्ताह खत्म हुआ ईवी एक्सपो से भी पता चलता है कि ईवी उद्योग में होने वाले नए अनुसंसाधानों का केंद्र भारत रहने वाला है। भारतीय ईवी बाजार को आकार देने में दिग्गज कंपनियों के साथ-साथ मझोले व छोटी कंपनियां और स्टार्ट-अप भी लगे हुए हैं। टाटा मोटर्स के साथ-साथ हुंडई ने भी ईवी बाजार में मजबूती के साथ कदम रख दिए हैं।

ईवी बाजार में सबसे ज्यादा 75% हिस्सेदारी टाटा मोटर्स

भारत के ईवी बाजार में सबसे ज्यादा 75 फीसदी हिस्सेदारी टाटा मोटर्स की है। टाटा मोटर्स अपनी सबसे सस्ती ईवी अगले माह जनवरी, 2024 में लाने की तैयारी है। कंपनी सूत्रों के अनुसार टाटा मोटर्स अगले साल कम से कम तीन इलेक्टि्रक कारें भारतीय बाजार में लांच करने वाली है। इसके साथ ही हुंडई मोटर इंडिया की भारतीय बाजार के लिए तैयार की गई पहली ईवी (एसयूवी) को भी लांच करने की तैयारी शुरू कर दी गई है। किया मोटर्स भी इस दौड़ में शामिल है, लेकिन वह भारतीय ग्राहकों के लिए अपनी पहली एसयूवी 2025 की शुरुआत में लांच करने वाली है। महिंद्रा एंड महिंद्रा की भी अपनी इलेक्ट्रिक कार 2024 में लांच करने की योजना है।

जल्दी ही ईवी के वैश्विक केंद्र के रूप में उभरेगा भारत

इसके साथ ही एक हजार से ज्यादा भारतीय स्टार्ट अप भी इवी क्रांति को आगे बढ़ाने को तत्पर दिखाई दे रहे हैं। इन कंपनियों के पास पर्याप्त फंड भी है और रिसर्च और डेवलपमेंट (आरएंडडी) का मजबूत आधार भी है। भारतीय ईवी क्रांति को सही मायने में लोकप्रिय बनाने का काम स्टार्ट अप्स कर रहे हैं। आज अथर इनर्जी, अल्टीग्रीन, ब्लूस्मार्ट, एक्पोनेंट इनर्जी जैसे एक हजार से ज्यादा स्टार्ट अप हैं, जिन्होंने अपने बेहतरीन दो पहिया और वाणिज्यिक तिपहिया उत्पादों के माध्यम से ईवी क्रांति को दूर दराज के क्षेत्रों में पहुंचाने का काम कर रहे हैं। इनमें से कम से कम दो दर्जन स्टार्ट अप तो सिर्फ मेड इन इंडिया उत्पाद बनाने से संबंधित हैं।

देश में 2030 तक 15 % हो जाएगी ईवी वाहनों की हिस्सेदारी

हम उम्मीद कर सकते हैं कि इन कंपनियों की बदौलत हमें जल्दी ही भारत में निर्मित दोपहिया वाहनों के उपकरण मिलने लगेंगे जो न केवल सस्ते होंगे बल्कि वाहन की माइलेज 20 फीसदी तक बढ़ा देगे। इस शुरुआत की बदौलत ही माना जा रहा है कि देश के कुल आटोमोबाइल बाजार में इलेक्ट्रिक वाहनों की हिस्सेदारी वर्ष 2024-2025 से तेजी से बढ़ेगी। एक अध्ययन रिपोर्ट के अनुसार इस समय कुल कारों में इलेक्ट्रिक कारों की मौजूदा समय में एक फीसदी हिस्सेदारी है। अगले दो सालों में यह बढ़कर चार फीसदी और 2030 तक 15 फीसदी तक जा पहुंचेगी। दोपहिया वाहनों में मौजूदा पांच फीसदी से बढ़ कर 15 फीसदी व 30 फीसदी हो जाएगी। सबसे ज्यादा बदलाव तिपहिया वाहन के क्षेत्र में दिखाई देगा, वहां बिजली से चालित वाहनों की संख्या सात फीसदी से बढ़ कर 40 फीसदी हो जाएगी।

ताज़ा समाचार और रोचक जानकारियों के लिए आप हमारे राज एक्सप्रेस वाट्सऐप चैनल को सब्स्क्राइब कर सकते हैं। वाट्सऐप पर Raj Express के नाम से सर्च कर, सब्स्क्राइब करें।

Related Stories

No stories found.
logo
Raj Express | Top Hindi News, Trending, Latest Viral News, Breaking News
www.rajexpress.co